गुरुवार, 15 अक्तूबर 2020

राज्य में पहला राजस्व दिवस- राजस्व रिकाॅर्ड आॅनलाईन एक क्रांतिकारी कदमः- मुख्यमंत्री अशोक

 



श्री गंगानगर 15 अक्टूबर 2020.

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने गुरूवार को प्रथम राजस्व दिवस (15 अक्टूबर 2020) के अवसर पर समस्त राजस्व अधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राजस्व के कार्य आॅनलाईन होने से किसान को त्वरित गति से न्याय मिलेगा तथा यह एक क्रांतिकारी कदम है। 

श्री गहलोत राजस्व दिवस के अवसर पर विडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्थान के पटवारी से लेकर जिला कलक्टर, राजस्व बोर्ड के अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि राजस्थान की 338 में से 244 तहसीलों में राजस्व रिकाॅर्ड आॅनलाईन कर दिया गया है तथा ई-साईन गिरदावरी, कृषि ऋण रहन पोर्टल, पंजीयन तथा स्वतः नामातंरण का पाॅयलेट प्रोजेक्ट प्रारम्भ कर दिया गया है, जिसका लाभ प्रदेश के किसानों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि कृषि भूमि को लेकर होने वाले विवाद के निस्तारण में कई पीढ़ियां निकल जाती थी, लेकिन अब राजस्व कार्य आॅनलाईन होने से त्वरित न्याय की प्रक्रिया शुरू होगी। 

राजस्व रिकाॅर्ड आॅनलाईन से किसान को त्वरित न्याय मिलेगाः- जिला कलक्टर


जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा ने बताया कि राजस्व रिकाॅर्ड को आॅनलाईन करने से किसान का समय, किसान के धन की बचत के साथ-साथ उसे कम समय में न्याय मिलेगा। नई व्यवस्था में गिरदावरी, बैंक ऋण, पंजीयन तथा नामातंरण जैसे महत्वपूर्ण कार्य आॅनलाईन होने लगेंगे। राजस्व रिकाॅर्ड का आधुनिकीकरण करने के लिये राजस्व रिकाॅर्ड को आॅनलाईन किया जा रहा है। जिला कलक्टर ने राजस्व दिवस पर जिले के समस्त राजस्व कार्मिकों, अधिकारियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि राजस्व कार्मिकों की मेहनत से ही लाखों-लाखों किसानों का राजस्व रिकाॅर्ड आॅनलाईन हुआ है। 

वीसी में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन डाॅ. गुंजन सोनी, एसडीएम श्री उम्मेद सिंह रतनू, तहसीलदार संजय मित्तल सहित अन्य राजस्व अधिकारी तथा जिले के समस्त एसडीएम, तहसीलदार, गिरदावर, पटवारी भी उपखण्ड स्तर से जुड़े हुए थे। 

------------


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें