शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

सूरतगढ़ जं.स्टेशन के PF नं. 4 की दीवार से चिपते ही रेलवे का कचरा गंदगी-अधिकारियों को सब मालूम.


* करणीदानसिंह राजपूत *

उत्तर पश्चिम रेलवे के राजस्थान में बीकानेर डिवीजन के माडल स्टेशन सूरतगढ़ जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर 4 से चिपती दीवार से दूसरी और कचरा गंदगी डाली जा रही है। रेलवे में सफाई के बाद यहां फेंक देते हैं कचरा।

 प्लेटफार्म नं 4 की करीब 6 फुट ऊंचाई वाली दीवार के दूसरी ओर रेलवे के आवास थे जिन्हें रहने के अयोग्य घोषित किया गया।

यह गंदगी दीवार के ऊपर से वहां उन परिसरों में डाली जा रही है जिस कारण उसकी बदबू भी प्लेटफार्म नंबर 4 को प्रभावित करती है।




इस भयानक गंदगी से पैदा हो रहे रोगाणुओं से यात्रियों में रोगों के फैलने का खतरा बना है। अनेक गाड़ियां इस प्लेटफार्म से होकर आती जाती है,जिनमें हजारों यात्री प्रतिदिन आते जाते हैं।

अपने यात्रियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा और रोगों से बचाव की पूरी जिम्मेदारी रेलवे की है,लेकिन लापरवाह अधिकारियों का इस ओर ध्यान ही नहीं है। इस कचरा गंदगी से चिपते ही एक तरफ दूसरी श्रेणी का रेलवे चिकित्सालय है। कचरे के सटा हुआ ही उत्तर पश्चिम रेलवे यूनियन का कार्यालय है। रेलवे का द्वितीय प्रवेश द्वार भी है।

विदित रहे कि कुछ महीने पहले ही सूरतगढ़ रेलवे स्टेशन को सफाई के मामले में हिंदुस्तान में छठे नंबर पर घोषित किया गया था और बड़ी खुशियां मनाई गई थी। 

*****



तूफानी अंधड़ आधीरात बाद शुरू-खतरे की घंटी

* करणीदानसिंह राजपूत **

सूरतगढ़ 29 फरवरी 2020.

मौसम विभाग की पूर्व सूचना के अनुसार तूफानी अंधड़ शुरू हो गया है।

सूरतगढ़ इलाके में अंधड़ आधी रात के बाद करीब 3-30 पर शुरू हुआ। बादलों की गड़गड़ाहट भी हो रही है। 

किसानों के लिए यह खतरे की घंटी है।

*****



शुक्रवार, 28 फ़रवरी 2020

मातृवंदना तेरापंथ सभागार का लोकार्पण-सूरतगढ़ समाचार.





सूरतगढ़  27फरवरी 2020.

जैन श्वेतांबर तेरापंथी सभा के संरक्षक और पूर्व पालिकाध्यक्ष सोहन लाल रांका "सहज" द्वारा अपनी माताजी श्रीमती दाखां देवी रांका की याद में तेरापंथ भवन में नव निर्मित"मातृ वंदना तेरापंथ सभागार"  का लोकार्पण कार्यक्रम रखा गया। माता जी की पुण्यतिथि 27 फरवरी पर यह लोकार्पण किया गया।


इस कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री माणकचन्द बोरड़ (अध्यक्ष जैन सभा श्रीगंगानगर) ने की, मुख्य अतिथि के रूप में श्री गंगाजल मील (पूर्व विधायक, सूरतगढ़) व विशिष्ट अतिथियों में श्री ओमप्रकाश कालवा (अध्यक्ष नगर पालिका, सूरतगढ़)और हरिमोहन सारस्वत 'रूंख' (साहित्यकार) थे।

इस अवसर पर समणी नियोजिका मल्लि प्रज्ञा जी, समणी सम्यक्तव प्रज्ञा जी व समणी भास्कर प्रज्ञा जी का सानिध्य प्राप्त हुआ। 


कार्यक्रम की शुरूआत रांका परिवार की महिलाओं द्वारा मंगलाचरण से हुई। 

अतिथियो का स्वागत माँगी लाल रांका (अध्यक्ष श्री जैन श्वेतांबर तेरापंथ आंचलिक समिति) ने किया।

 सोहन लाल रांका ने भवन निर्माण की परिकल्पना पर जानकारी दी,और मां पर अपनी स्व रचित कविता भी सुनाई।अणुव्रत समिति के अनिल रांका ने जीवन विज्ञान और अणुव्रत के बारे में बताया व अतिथियों से निवेदन किया कि सूरतगढ़ के कॉलेज में जीवन विज्ञान विषय की स्नातकोत्तर क्लासेज आरंभ करवाई जाए। 

विशिष्ट अतिथि हरीमोहन सारस्वत ने कहा कि हमें समाज के लिए कार्य करने चाहिए। इसके लिए रांका जी से प्रेरणा ले सकते है। 

ओमप्रकाश कालवा  ने कहा कि ये भवन सिर्फ एक समुदाय के लिए ही नही बल्कि सम्पूर्ण सूरतगढ के लिए उपयोगी होगा।

मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए गंगाजल मील ने कहा कि वे जीवन विज्ञान विषय के लिए पूरा प्रयास करेंगे।उन्होंने कहा कि हमें समाज से सिर्फ़ लेना ही नही बल्कि समाज के लिए कुछ करना भी चाहिए। 

कार्यक्रम अध्यक्ष बोरड़ जी ने भी सोहन लाल रांका की प्रशंसा करते हुए कहा कि हमें इनसे प्रेरणा लेकर समाज के लिए जितना संभव हो तन, मन, धन से कार्य करना चाहिए।

 कार्यक्रम अध्यक्ष ने सभागार की चाबी तेरापंथ सभा अध्यक्ष आनंद जैन व मंत्री पवन जैन को सौपी।

 समणी सम्यक प्रज्ञा ने अपनी भावनाएं गीतिका के माध्यम से प्रस्तुत की, समणी भास्करप्रज्ञा ने भी समाज को प्रेरित करते हुए उदबोधन दिया। समणी मल्लिप्रज्ञा ने अपने प्रेरणा पाथेय में कहा कि हमें जीवन मे विसर्जन को भी महत्व देना चाहिए, सिर्फ़ एकत्रित करने से लाभ नही होता। विसर्जन का भी अपना एक महत्वपूर्ण स्थान है। माता के ऋण को कोई भी नही उतार सकता, पर माँ को याद करना और उनके नाम पर समाज के लिये कुछ करना बड़ी बात है।

हमें अपने संस्कार नही भूलने चाहिए। 

अन्त में तेरापंथ सभा अध्यक्ष आनन्द जैन ने सोहन लाल रांका व सभी अतिथियों ओर सम्पूर्ण श्रावक समाज का धन्यवाद दिया। 

कार्यक्रम में श्रीमती मंजू गोलछा (पूर्व अध्यक्ष तेरापंथ महिला मंडल, सिरसा), धर्मचंद बांठिया (अध्यक्ष तेरापंथ सभा, रायसिंहनगर) ने भी अपने विचार रखे। 

कार्यक्रम में  सूरतगढ़ के अलावा श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, रायसिंहनगर, सिरसा, पीलीबंगा, लूणकरणसर आदि स्थानों से आए श्रावक-श्राविकाओं ने भी भाग लिया। 


मंच संचालन भरत ऋषि रांका ने किया। 

तेरापंथ सभा, महिला मंडल, युवक परिषद और रांका परिवार ने संपूर्ण व्यवस्था की।०००




अर्श, भगंदर निशुल्क शल्य चिकित्सा शुरू- शनिवार को भी रोगी जांच करवा सकते हैं.



** करणीदानसिंह राजपूत **

सूरतगढ़ 28 फरवरी 2020.

महावीर इंटरनेशनल सूरतगढ़ एवं आयुर्वेद विभाग के संयुक्त तत्वाधान में चोपड़ा धर्मशाला में आयोजित चौथे दस दिवसीय निःशुल्क अर्श, भगंदर शल्य चिकित्सा शिविर के दूसरे दिन तक कुल 91 रोगियों का पंजीयन किया गया।

 चौपड़ा धर्मशाला सूरतगढ़ में आयोजित इस शिविर के परियोजना निदेशक वीर विजय सावनसुखा तथा रमेश तिवारी के अनुसार सीकर से पधारे आयुर्वेदिक सर्जन डॉक्टर ओम प्रकाश चेचु द्वारा रोगियों की जांच कर 45 ऑपरेशन योग्य रोगियों को भर्ती किया गया।

 शिविर संयोजक सोहन लाल ढ़ाका एवं प्रभारी डॉ राजेश कनवाड़िया के अनुसार शुक्रवार को 21 रोगियों का ऑपरेशनडॉ चेचु के नेतृत्व में चिकित्सीय टीम द्वारा कर दिया गया और शेष ऑपरेशन शनिवार को किए जाएंगे।

ओमप्रकाश कारगवाल और ओमप्रकाश शर्मा के अनुसार श्री चंद्र सिंह चौधरी ने भगवान धन्वंतरि की पूजा अर्चना की।

ऑपरेशन थिएटर का उद्घाटन भामाशाह श्री इंद्र कोठारी ने  विधिवत रूप से रिबन काटकर किया।श्री कोठारी ने  संस्था को अपनी तरफ से शिविर के लिए 11111 रुपए का योगदान देने की घोषणा की। 

आयुर्वेद विभाग श्रीगंगानगर के उप निदेशक डॉक्टर हरेंद्र दावड़ा ने भी शिविर का अवलोकन किया और संस्था द्वारा किए जाए जा रहे इस  अतुलनीय योगदान की प्रशंसा की और व्यवस्थाओं पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने चिकित्सीय स्टाफ को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए  रोगियों के  शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।

समाजसेवी विजय मुद्गल ने भी अपनी ओर से संस्था को ₹5100 का आर्थिक सहयोग शिविर के लिए प्रदान किया।

संस्था अध्यक्ष वीर नथुराम कलवासिया ने बताया कि शनिवार को भी यदि कोई रोगी अपनी जांच के लिए शिविर में पहुंचता है तो उसे भी भर्ती कर लिया जाएगा और ऑपरेशन कर दिए जाएंगे।

 शिविर में महिला रोगियों के लिए अलग महिला स्टाफ और वार्ड की भी व्यवस्था है। शिविर में संस्था सदस्यों के अलावा रोवर व अन्य सेवादार भी अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।**





गुरुवार, 27 फ़रवरी 2020

कियोस्क पर जुर्माना-ग्राहकों से अधिक शुल्क वसूली

श्रीगंगानगर 27 फरवरी 2020.

संयुक्त निदेशक सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग श्रीगंगानगर की जांच रिपोर्ट अनुसार कियोस्क धारक राजेश कुमार (भव्य ईमित्रा-के 31053214) पदमपुर को पानी के बिल भरने में अनियमित्ता करने, अवैध मोहर लगाकर देने एवं ग्राहकों से निर्धारित से अधिक शुल्क वसूलने का दोषी पाया गया है। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते ने कियोस्क पर 2000 रूपये की शास्ति आरोपित करते हुए कियोस्क को 15 दिवस के लिये अस्थायी रूप से बंद करने के आदेश दिये है। 

-------------





अर्श, भगन्दर निशुल्क शल्य चिकित्सा शिविर 2020 का शुभारम्भ- महावीर इन्टरनेशनल वआयुर्वेद विभाग




** करणीदानसिंह राजपूत **
सूरतगढ़ 27 फरवरी 2020.
दस दिवसीय निःशुल्क अर्श, भगन्दर शल्य चिकित्सा शिविर का शुभारम्भ किया गया। चैपड़ा धर्मशाला सूरतगढ़ में आयोजित संस्था के इस चैथे शिविर का उद्घाटन नगरपालिका मण्डल सूरतगढ़ के चेयरमैन मास्टर ओम प्रकाश कालवा ने रिबन काट कर किया।
उन्होंने शिविर के लिए सभी चिकित्सकीय व नर्सिंग स्टाफ, संस्था सदस्यों सहित समाजसेवियों का हार्दिक धन्यवाद करते हुए अपना यथासम्भव सहयोग देने का आश्वासन दिया।
शिविर के परियोजना निदेशक विजय सावनसुखा, ओमप्रकाश कारगवाल, ओमप्रकाश शर्मा व रमेश कुमार शर्मा के अनुसार आज प्रथम दिन शल्य चिकित्सक डाॅ. ओम प्रकाश चेचु, डाॅ. चरणजीत सिंह भाटी व डाॅ. अंकु बाला द्वारा 66 रोगियों की जांच कर ऑपरेशन योग्य रोगियों को भर्ती किया गया।
शिविर प्रभारी डाॅ. राजेश कनवाड़िया व शिविर संयोजक सोहन लाल ढ़ाका के अनुसार जांच का कार्य कल शुक्रवार को भी जारी रहेगा। साथ ही आज भर्ती रोगियों के शुक्रवार से शल्य चिकित्सकों द्वारा ऑपरेशन शुरू कर दिये जायेंगे।
जनता रोग निदान केन्द्र के लैब टेक्निशियन व सहयोगी महेन्द्र कुमार व आदित्य द्वारा रोगियों की विभिन्न जांचें कर निःशुल्क सहयोग प्रदान किया जा रहा है।
शिविर में संस्था सदस्यों के अतिरिक्त देवेन्द्र सिंह शेखावत, स. तारासिंह, मनोज सोमानी, रमेशचन्द्र माथुर सहित सूरतगढ़ ओपन रोवर क्रू के रोवर्स ने अपनी सेवाएं दी।
नगरपालिका की ओर से नियुक्त सफाईकर्मी बुधराम ने सफाई व्यवस्था संभाल रखी है। शिविर में भर्ती रोगियों एवं उनके परिजनों को लंगर व आवास आदि की सुविधायें संस्था द्वारा निःशुल्क प्रदान की जा रही हैं।
***

-

बुधवार, 26 फ़रवरी 2020

गुड्स श्रेणी वाहनों की अग्रिम कर जमा तारीख 15 मार्च, पहले 25 थी. (अलर्ट.)

श्रीगंगानगर, 26 फरवरी 2020.

जिला परिवहन विभाग द्वारा जिले में पंजीकृत गुड्स श्रेणी के वाहनों से वित्तीय वर्ष 2020-21 का कर (टैक्स) की राशि वसूल करने हेतु कार्यवाही की जा रही है। है। 

इसके लिए परिवहन निरीक्षकों की अलग-अलग टीमें गठित की जाकर गुड्स वाहनों से बकाया कर वसूली हेतु उन्हे निर्देशित किया गया है।


जिला परिवहन अधिकारी सुमन ने बताया कि गुड्स व व्यवसायिक वाहनों को अग्रिम कर जमा करवाने की अन्तिम तिथि 15 मार्च 2020 है। उन्होेने बताया कि 15 मार्च 2020 तक अगले वर्ष का अग्रिम कर जमा नही करवाने वाले वाहनों को सीज करने की कार्यवाही की जाएगी और इसके साथ ही देय कर पर डेढ प्रतिशत मासिक की दर से शास्ति भी वसूल की जाएगी। वाहनों का अग्रिम कर आॅनलाईन ई-ग्रास व ई-चालान के माध्यम से बैंक में जमा करवाया जा सकता है। 

उन्होने बताया कि इससे पूर्व गत वर्षो में गुड्स श्रेणी के वाहनों के कर जमा करवाने की तिथि 25 मार्च निधार्रित थी, जिसे अब विभाग द्वारा 15 मार्च घोषित किया गया है। इसी क्रम में वाहन स्वामी अपने वाहनों के सीज एवं पेनेल्टी की कार्यवाही से बचने के लिए अपने गुड्स वाहनों का अग्रिम कर 15 मार्च तक जमा करवा सकते है।(पीआरओ)

-----------



हनुमानगढ़:विवाह समारोह में सजावट से आकर्षण और आनंद चौगुना बढ़ जाता है

** करणी दान सिंह राजपूत **

विवाह समारोह हो या फिर किसी भी प्रकार की पार्टी हो उसमें सजावट होने से आकर्षण और आनंद कई गुना बढ़ जाता है।

जो लोग समारोहों में भाग लेते हैं शामिल होते हैं वे कई दिनों तक सजावट की चर्चा करते हैं।एक दूसरे से बतियाते समय अच्छी सजावट की प्रशंसा करते हैं। आज सजावट दिन और रात में अनेक प्रकार से होती है जिसमें फूलों का,रंगीन कपड़ों का चुनरियों आदि का इस्तेमाल मंच (स्टेज) का रूप निखार देते हैं। समारोह के परिसर में और प्रवेश द्वार के आसपास विभिन्न प्रकार की सजावट की जाती है। 

रात्रि समारोह में विभिन्न प्रकार की प्रकाश व्यवस्था होती है जो समारोह को आनंदित कर देती है।

समारोह में भाग लेने वाले लोगों का चाहे नर नारी हो या लड़के लड़कियां हो या बच्चे हो उनका उत्साह और अधिक बढ़ जाता है। 

विवाह समारोह का महत्व हर समाज में हर धर्म में है। विवाह एक बार होता है जिसके लिए लाखों रुपए सजावट पर खर्च किए जाते हैं ताकि दूल्हा और दुल्हन ही नहीं बराती और घराती आमंत्रित लोग सभी आनंदित होते हैं।








सजावट के अनेक सीन देखने के लिए यहां संकेत पर क्लिक करें।























मिठाई निर्माण व उपयोग की अंतिम तिथि बतानी होगी-कानून सख्त-सड़क वाली थाली पर 'स्वच्छता मिशन




** विशेष समाचार-करणीदानसिंह राजपूत**

   -25 फरवरी 2020.-


*भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने स्वास्थ्य खतरों को देखते हुए यह कदम उठाया है. कस्टमर्स को बासी(खाने की अवधि समाप्त होने के बाद भी) मिठाइयों की बिक्री की सूचना मिलने के बाद इस संबंध में एक निर्देश जारी किया गया *

देशभर में स्ट्रीट फूड (Street Food) का जबरदस्त क्रेज है, लेकिन यहां बिकने वाले खाद्यों की क्वालिटी को लेकर कोई खास सख्ती नहीं होने पर बासी भी बिकता रहा लेकिन अब सरकार दुकानों पर मिलने वाले खाने-पीने के सामानों को लेकर गंभीर हो रही है।

सरकार इन सामानों की क्वालिटी में सुधार लाने के लिये कदम उठा रही है. इसके तहत जून 2020 के बाद से, स्थानीय मिठाई की दुकानों को भी परातों एवं डिब्बों में बिक्री के लिए रखे गए मिठाई के लिए ‘बनाने की तारीख’ (Sweets making date) तथा 'उपयोग की सही अवधि’ (use before date)  जैसी जानकारी प्रदर्शित करनी होगी.


(मौजूदा समय में, इन जानकारियों को पहले से बंद डिब्बाबंद मिठाई के डिब्बे पर उल्लेख करना जरूरी है.)  भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने स्वास्थ्य खतरों को देखते हुए यह कदम उठाया है।

ग्राहकों को बासी(खाने की अवधि समाप्त होने के बाद भी) मिठाइयों की बिक्री की सूचना मिलने के बाद इस संबंध में एक निर्देश जारी किया गया है.


खाद्य नियामक एफएसएसएआई के ताजा आदेश में कहा गया है कि सार्वजनिक हित में और खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, यह तय किया गया है कि खुली बिक्री वाली मिठाइयों के मामले में, बिक्री के लिए रखी मिठाई के परात कंटेनर/ट्रे पर बनाने की तारीख और 'उपयोग का सही समय' जैसी जानकारियों को प्रदर्शित करना होगा।

यह आदेश एक जून, 2020 से प्रभावी होगा. आदेश के अनुसार राज्यों के खाद्य सुरक्षा आयुक्तों को इन निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।


भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण का गठन भारत सरकार ने वर्ष 2006 में खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम के तहत किया है। एफएसएसएआई का काम लोगों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने एवं इसके तय मानक को बनाए रखना है।

**



मंगलवार, 25 फ़रवरी 2020

माखण खालो बनवारी,मत मारो पिचकारी. धमाल-कविता, करणीदानसिंह राजपूत.


आयो होली रो तिंवार
लाओ रंग गुलाल
मारी मारी पिचकारी
घेरो डाल्यो रै बनवारी
गोप्यां करै मनवार
जोड़े हाथ बारंबार
मत मारो पिचकारी
छोड़ो छोड़ो रे बनवारी।
गोप्यां आई पनघट
घड़िया भरिया लबालब
पूठी घरां नै बै चाली
घेरो डाल्यो बनवारी
मारी रंगभरी पिचकारी।
अंधेरे अंधेरे गोप्यां माखण ले रे चाली
झुरमुटां रै बीच रस्ता रोक्या बनवारी
गोप्यां करै मनवार
माखण खाल्यो बनवारी
मत मारो पिचकारी।
गोपाला गुलाल लाया
चंग जोरां सूं बजाया
मारी रंगभरी पिचकारी
चूनर लाल कर डाली।
आयो होली रो तिंवार
लाओ रंग गुलाल
मारी मारी पिचकारी
घेरो डाल्यो रै बनवारी।


**
करणीदानसिंह राजपूत,
पत्रकार,
सूरतगढ़.
94143 81356.
*****




*******


यह ब्लॉग खोजें