गुरुवार, 8 मार्च 2018

समाजवादी चिंतक दिलात्तम प्रकाश जैन का अंतिम संस्कार संपन्न


- करणीदानसिंह राजपूत -

सूरतगढ़ 8 मार्च 2018.

श्री पार्श्वनाथ जैन मंदिर के आगे अर्थी को झुका कर नमन करते हुए, चन्द्रशेखर आजाद चौक,भारत माता चौक महारानी लक्ष्मी चौक होते हुए अंतिम यात्रा मुख्य श्मशान घाट  पहुंची। महान व्यक्तित्व को परिवारजनों,मित्रों आदि ने अर्थी को कंधा देकर अपना अपना समर्पण बताया।  अंतिम संस्कार में परिवारजन मित्र वकील पत्रकार राजनेता व्यापारी विभिन्न समुदायों के लोग शामिल हुए। समाजवादी चिंतक दिलात्म प्रकाश जैन का परलोक गमन 7 मार्च रात्रि को करीब 10:00 बजे हुआ सूचना मिलते ही घर पर लोग पहुंचने लगे।

 दिलात्म प्रकाश जैन ने अपने धर्म के अलावा विभिन्न समुदायों में भी अपनी अच्छी छाप छोड़ी। सामाजिक कार्यों में विभिन्न संगठनों के संघर्षों में सदा आगे रहे । सूरतगढ़ ही नहीं इलाके में भी उनकी बड़ी पहचान रही।

उनके निधन से सूरतगढ़ को बहुत बड़ी क्षति पहुंची है जिसकी भरपाई नहीं हो पाएगी। दिलात्मप्रकाश जैन ने नागरिकों की समस्याओं को शासन और प्रशासन के सामने रखने में कभी कोई कमी नहीं छोड़ी। वे अपनी पैनी नजर से समाज की पीड़ाओं को समस्याओं को देखते और फिर शासन प्रशासन को लिखित में देकर ध्यान देने की अपील करते। 

 श्री जैन भ्रष्टाचार के विरुद्ध थे और अनेक मामलों में प्रशासन को सूचना देकर जांच करवाने में आगे रहे।

वे सिविल सोसाइटी नाम की संस्था  चलाते रहे।

उनके बड़े पुत्र रवि का पुणे में व्यवसाय है। उनसे छोटे सुशील व प्रवीण का राजस्थान पत्रिका का एजेंसी व्यवसाय है।

उनकी लेखनी उनकी समझ और शासन प्रशासन तक पीड़ित की पुकार पहुंचाने की विरासत अब कौन संभालेगा? यह चर्चा शुरू हुई है। 

श्री दिलात्मप्रकाश जैन सदा याद किए जाते रहेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें