शुक्रवार, 2 फ़रवरी 2018

डेरा सच्चा सौदा 400 साथुओं को नंपुसक बनाने में चार्ज शीट कोर्ट मेंं पेश



डेरा सच्चा सौदा सिरसा के 400 साधुओं को नपुंसक बनाने के मामले में सीबीआई ने वीरवार 1-2-2018 को गुरमीत राम रहीम सहित दो अन्य डॉक्टरों के खिलाफ चार्जशीट दायर की। 


डॉ. एमपीसिंह और डॉ. पंकज गर्ग पर आरोप है कि ये दोनों डेरा प्रमुख के कहने पर साधुओं को नपुंसक बनाते थे।


सीबीआई की विशेष अदालत में अगली सुनवाई 5 फरवरी को होगी। राम रहीम साध्वी यौनशोषण मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहा है। पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने डेरा प्रमुख को दो साध्वियों के यौनशोषण मामले में सजा सुनाई थी।


आरोपों के मुताबिक राम रहीम डेरे के साधुओं को यह कहकर बरगलाता था कि भगवान तक पहुंचने का यही एकमात्र रास्ता (नपुंसक बनना) है। साधुओं को डेरे में ही नपुंसक बनाया जाता था। साधुओं को नपुंसक बनाने के मामले में डेरे के साधु रहे हंसराज चौहान ने पंजाब-हरियाणा हाइकोर्ट में याचिका दायर की थी।

इस मामले में हाईकोर्ट की सिंगल बेंच ने दिल्ली सीबीआई को जांच के आदेश दिए थे। इसके बाद सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर दर्जनों गवाहों से पूछताछ की। पूछताछ में सामने आया था कि डेरा प्रमुख दो डॉक्टरों की मदद से साधुओं को बरगलाकर नपुंसक बनाता था।

इस मामले में दिल्ली निवासी आरोपी डॉ. एमपी सिंह बीते साल 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा मामले में अभी जेल में है, जबकि पंचकूला निवासी आरोपी डॉ. पंकज गर्ग भी साधुओं को नपुंसक बनाने में आरोपी है। बता दें कि पंचकूला हिंसा के बाद भी डेरे के दो अनुयायियों ने डेरे पर नपुंसक बनाने के आरोप लगाए थे।

इसके बाद जांच के लिए डॉक्टरों की एक कमेटी भी बनाई गई थी। बताया जाता है कि दोनों डेरा प्रमुख के करीबी रहे हैं। आरोप लगाने वाले एक डेरा अनुयायी की पंचकूला हिंसा के मामले में गिरफ्तारी भी हो चुकी है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें