सोमवार, 6 नवंबर 2017

करीब छह किलोमीटर लंबी रंगोली पर आरएसएस का पथ संचलन हुआ।

सधी हुई कदमताल, बैंड की मधुर धुन और जगह-जगह पुष्प वर्षा।  यह नजारा आज राजधानी जयपुर में आयोजित स्वर गोविंदम कार्यक्रम में देखने को मिला। दरअसल जयपुर को गोविंद की नगरी कहा जाता है, इसलिए इस कार्यक्रम का नाम स्वर गोविंदम रखा गया। वैशाली नगर स्थित चित्रकूट में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में आरएसएस के सर संघ संचालक डॉ.मोहनराव भागवत,  भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी समेत भाजपा और आरएसएस के पदाधिकारी मौजूद थें। इस अवसर पर वीरांगनाओं का सम्मान किया।


±+++++++

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें