Tuesday, May 16, 2017

सीमा क्षेत्र में 21 ग्राम स्मार्ट गांव बनाए जाएंगे



श्रीगंगानगर, 16 मई। सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत श्रीगंगानगर जिले की अंतर्राष्ट्रीय सीमा से 20 किलोमीटर तक की दूरी के 21 गांवों को स्मार्ट गांव बनाये जायेगें। इसके लिये मंगलवार को जिला परिषद सभाहॉल में जनप्रतिनिधियों की 1 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री विश्राम मीणा ने विस्तृत जानकारी दी। वहीं पर एसई(आरडी) जयपुर अरूण सुराना ने स्मार्ट विलेज के बारे में प्रस्तुतीकरण दिया। वहीं पर अधीक्षण अभियंता श्री आर.के. यादव ने स्मार्ट विलेज के संबंध में परिचय दिया।

स्मार्ट विलेज योजना 2017-18

माननीय मुख्यमंत्री ने बजट घोषणा वर्ष 2017-18 में 5000 से अधिक आबादी वाले गांवों को एवं ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज ने 3000 से अधिक आबादी वाले गांव को स्मार्ट विलेज के रूप में विकसित किये जाने की घोषणा की गयी थी। राज्य में 5000 से अधिक आबादी के 952 गांव, 3000 से अधिक आबादी के 3169 गांव है। श्रीगंगानगर जिले में सीमांत क्षेत्र के 20 किलोमीटर के कुल 21 गांवों का चयन किया गया है। जिन्हें स्मार्ट विलेज के रूप में विकसित किया जायेगा।

चयनित स्मार्ट विलेज में गतिविधियां व सुविधाएं

चयनित स्मार्ट विलेज में जल निकासी का प्रबंधन होगा। नालियां, सोख्ता गडढे एवं पक्की नालियों का निर्माण किया जायेगा। प्रत्येक गांव में स्वच्छ भारत मिशन के तहत 2 लाख रूपये की राशि से सामुदायिक शौचालय का निर्माण, सार्वजनिक पार्क, खेल मैदान विद ओपन जिम, चारागाह विकास के लिये चार दिवारी, ग्रामीण गौरव पथ, एलईडी लाईट या सोलर लाईट, गावं में नियमित स्वच्छता के लिये सफाई कर्मी किरायें के टेक्टर, ट्राली या रिक्शे की व्यवस्था की जायेगी। दो मुख्य मार्गों को स्वराज मार्ग के नाम से विकसित किया जायेगा। खेत समतलीकरण, खेत तलाई, फलदार पोधारोपण, केटल शैड, बर्मी कम्पोस्ट पिट इत्यादि की व्यवस्था की जायेगी।

ग्रामीणों को मिलेगी सुविधाएं

स्मार्ट विलेज में ई-पुस्तकालय व नॉलेज सैन्टर, अटल सेवा केन्द्र में वाईफाई, सीनियर सैकेण्डरी तक विद्यालय, प्राथमिक चिकित्सालय या उपस्वास्थ्य केन्द्र, पशुचिकित्सा केन्द्र, दुग्धउत्पादन समितियों का गठन, स्वच्छ पेयजल सुविधा, अन्न भण्डार ग्रह, प्रधानमंत्रा आवास योजना ग्रामीणा का लाभ तथा आदर्श तालाब या नदी के किनारे स्नानघर कीसुविधा विकसित की जायेगी।

ये 21 गांव बनेगें स्मार्ट

श्रीगंगाननर जिले के गांव मिरजेवाला, दुल्लापुर केरी, कोनी, कालियां, खाटलबाना, दौलतपुरा, शिवपुर, फतुही, ओढ़की, हिन्दुमलकोट, मटीलीराठान, 3ई छोटी, साधुवाली, धनूर, अरायण, जालौकी, 2एसटीआर, 2 एमएलडी, 24एएससी, 3एसटीआर, 8पीएसडीबी तथा 18 पी गांव को शामिल किया गया है।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog