Wednesday, June 15, 2016

नगरपालिका भ्रष्टाचार में कांग्रेस व पूर्व विधायक गंगाजल मील सवालों के घेरे में हैं:



कांग्रेस बोर्डो में अध्यक्ष इकबाल और अध्यक्ष बनवारीलाल मुकद्मों में फंसे:
ईओ राकेश मेंहदीरत्ता,ईओ पृथ्वीराज जाखड़ व ईओ भंवरलाल सोनी भी भ्रष्टाचार के मुकद्दमों में फंसे हुए हैं।
- करणीदानसिंह राजपूत -

सूरतगढ़।
नगरपालिका में काजल छाबड़ा के भाजपा बोर्ड में भ्रष्टाचार और काजल छाबड़ा के जेठ पालिका में लिपिक राजकुमार छाबड़ा के 80 हजार रूपए की रिश्वत में गिरफ्तारी पर कांग्रेस पार्टी की ओर से नगरपालिका के आगे 16 जून को धरना लगाने की घोषणा के साथ ही पूर्व विधायक गंगाजल मील की अपील जारी हुई है कि उसमें अधिक से अधिक संख्या में पहुंचे।
विपक्षी पार्टी होने के कारण कांग्रेस का यही कदम होना चाहिए लेकिन कांग्रेस व गंगाजल मील दोनों ही इन्हीं मुद्दों पर और उनके बोर्डों के अध्यक्षों इकबाल मोहम्म्द कुरैशी व अध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल के भ्रष्टाचार में दर्ज मुकद्दमों पर सवालों के घेरे में है। अब वे धरना दे रहे हैं लेकिन उनके बोर्डों का कार्यकाल भयानक भ्रष्टाचार में डूबा हुआ रहा था। इकबाल मोहम्म्द कुरैशी पर अपने ही रिश्तेदारों को गलत ढंग से पट्टे देने के आरोप में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में मुकद्दमें हैं। बनवारीलाल मेघवाल तो और अधिक नामी रहे जिन पर भ्रष्टाचार के मुकदद्मों के अलावा एक अनुसूचित जाति की महिला के साथ बलात्कार व यौन शोषण का मुकद्दमा दर्ज है। अदालत में दो बार प्रसंज्ञान लिया जा चुका है और अब बनवारीलाल व आरोपित सिपाही रोहिताश बड़ी अदालत में अपील में गए हुए हैं जहां अपील पुन:विचार की विचाराधीन है।
गंगाजल मील के विधायक काल में बनवारीलाल पालिकाध्यक्ष चुने गए थे। उन पर अदालत के आदेश से मुकद्दमा हुआ और जाँच शुरू होने से पहले ही विधायक गंगाजल मील ने अपने खास कुछ पत्रकारों को बुलाकर पत्रकारवार्ता की और बनवारीलाल को निर्दाेष तक बतला दिया। ईओ पृथ्वीराज जाखड़,भंवरलाल सोनी और राकेश मेंहदीरत्ता तीनों ही भ्रष्टाचार के मुकद्दमों में फंसे हुए हैं। राकेश मेंहदीरत्ता तो बलात्कार व यौनशोषण के मुकद्दमें में भी फंसे हुए हैं।
हालत यह है कि कांग्रेस पहले अपना दामन तो उजला करके दिखलाए।
गंगाजल मील साहेब इसलिए भी सवालों के घेरे में है कि केवल कुछ घंटों का धरना लगाने से क्या होगा? वे विधायक राजेन्द्र भादू पर व काजल छाबड़ा आदि पर सीधे मुकद्दमें दर्ज करवा कर जाँच कराने में पीछे क्यों रह रहे हैं?
===============================

No comments:

Post a Comment

Search This Blog