सोमवार, 19 अप्रैल 2021

श्रीगंगानगर जिले में कोविड-19 संक्रमण एवं बचाव निषेधाज्ञा अंतर्गत धारा 144

 

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 19 अप्रैल 2021.


जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री जाकिर हुसैन ने कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने के लिये गृह विभाग राजस्थान के आदेशों की निरन्तरता में 18 अप्रैल 2021 के अनुसरण में 19 अप्रैल 2021 से 3 मई को प्रातः 5 बजे तक सम्पूर्ण जिले में जन अनुशासन पखवाड़ा मनाया जायेगा।

 इस पखवाड़े के अंतर्गत सभी कार्य स्थल व्यवसायिक प्रतिष्ठान व बाजार बंद रहेंगे। 

आदेशानुसार उपयुक्त पहचान पत्र के साथ राजकीय कार्मिकों व आवश्यक सेवाओं से जुड़े, केन्द्र सरकार की आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालय अनुमत रहेंगे। कार्मिक उपयुक्त पहचान पत्र के साथ अनुमत होंगे। 

* बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट से आने वाले यात्रियों को टिकट दिखाने पर अनुमति होगी। 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर रिपोर्ट दिखानी होगी। 

*गर्भवती महिलाओं, रोगियों, सभी निजी चिकित्सालय, लैब के कार्मिक उपयुक्त पहचान पत्र के साथ अनुमत होंगे। 

*खाद्य पदार्थ, किरयाने का सामान, मंडियां, फल, सब्जी, पशु चारा संबंधी दुकानें सायं 5 बजे तक अनुमत है। 

*इसके अलावा डेयरी, दूध एवं दूधिये संबंधित दुकानें प्रातः 5 बजे से सायं 8 बजे तक खुली रहेगी। 

* आदेशानुसार सब्जियों एवं फलों के ठेले, साईकिल रिक्शा, आॅटो रिक्शा, मोबाईल वेन द्वारा सायं 7 बजे तक बेचा जा सकेगा।

** अंतरर्राज्जीय एवं राज्य के अंदर माल परिवहन वाले भार वाहनों के आवागमन, राष्ट्रीय एवं राज्य मार्गों पर संचालित ढ़ाबे एवं वाहन रिपेयर की दुकानें अनुमत होगी।

* कृषकों को मण्डी में समर्थन मूल्य पर फसलों का विक्रय तथा जाते समय ब्रिक्री की रसीद का सत्यापन करवाना होगा।

* राशन की दुकानें बिना अवकाश के खुली रहेगी। 

*45 वर्ष से अधिक आयु के लोग टीकाकरण के लिये जाने की अनुमति होगी।

 समाचार पत्र वितरण के लिये सुबह 4 से 8 बजे तक तथा इलेक्ट्रोनिक, प्रिंट मीडिया के कार्मिकों को परिचय पत्र के साथ आने-जाने की अनुमति होगी।

*विवाह समारोह एवं अंतिम संस्कार संबंधी गतिविधियां पूर्व के 15 अप्रैल 2021 के आदेशों के अनुरूप अनुमत है। 

*प्रतियोगी परीक्षा के लिये प्रवेश पत्र दिखाने पर आवागमन अनुमत, फार्मास्यूटिकल्स, दूरसंचार, इंटरनेट, डाक, कुरियर, प्रसारण, आईटी, बैंक, एटीएम, सेबी, स्टाॅक व्यक्तियों का उपयुक्त पहचान के साथ अनुमति होगी।

* फूड, मिठाई की होम डिलीवरी रात 8 बजे तक, इंदिरा रसोई का भोजन रात 8 बजे तक, नरेगा श्रमिकों, एलपीजी, पेट्रोल पम्प, गैस, आउटलेट की सेवाएं रात्रि 8 बजे तक अनुमत होगी। कोल्ड स्टोरेज, वेयर हाउसिंग, निजी सुरक्षा, ऐसे उधोग जहां श्रमिक वर्ग का उपयोग हो, छूट रहेगी। 

*** आदेशों का उल्लंघन करने पर धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 के तहत कार्यवाही होगी। 

*सार्वजनिक स्थलों पर एवं परिवहन के दौरान फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा। सामाजिक दूरी कार्य स्थलों को सेनेटाईज करना, जांच एवं स्वच्छता, सार्वजनिक स्थलों पर थूकना निषिद्ध है। 

* सार्वजनिक स्थानों पर शराब, पान, गुटका, तम्बाकू आदि का सेवन निषिद्ध है।

* जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ने कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार यथा फेस मास्क पहनने, हाथों की स्वच्छता और सामाजिक दूरी बनाये रखने को बढ़ावा देने के लिये सभी आवश्यक उपाय करने होंगे। फेस मास्क पहनना एक आवश्यक निवारक उपाय है। मुख्य आवश्यकता को लागू करने के लिये सार्वजनिक और कार्य स्थलों पर चहरे पर मास्क नहीं पहनने वाले व्यक्तियों पर उचित जुर्माना की कार्यवाही की जायेगी। ००

००००००००००







कालाबाजारी करने वाले व्यापारियों की शिकायत कर सकते हैं उपभोक्ता

 



* करणीदानसिंह राजपूत *

-- राज्य स्तरीय हेल्पलाइन के अलावा व्हाट्सएप नंबर एवं वेबसाइट पर आॅनलाइन की जा सकती है शिकायत --

श्रीगंगानगर-जयपुर, 18 अप्रैल 2021.
प्रदेश में वीकेंड लाॅकडाउन एवं नाइट कर्फ्यू के दौरान उपभोक्ता खाद्य वस्तुएं एवं हाइजीन प्रोडक्ट की कालाबाजारी करने वाले एवं एमआरपी से ज्यादा दाम वसूलने वाले व्यापारी एवं दुकानदारों की शिकायत राज्य स्तरीय हेल्पलाइन नंबर 1800.180. 6030, व्हाट्सएप नंबर 7230086030 एवं वेबसाइटwww.consumeradvise.in पर कर सकते हैं।
 उपभोक्ता मामले विभाग के शासन सचिव श्री नवीन जैन ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए वीकेंड लाॅकडाउन एवं नाइट कर्फ्यू जैसे निर्णय लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि खाद्य वस्तुओं, मेडिकल स्टोर एवं प्रोडक्शन यूनिट को आवश्यक आपूर्ति बनाए रखने के लिए आपदा प्रबंधन के तहत प्रतिबंधों से बाहर रखा गया है। खाद्य वस्तुएं एवं हाइजीन प्रोडक्ट्स वर्तमान में पर्याप्त मात्रा में उचित कीमतों पर उपलब्ध है।
व्यापारी खाद्य वस्तुओं की जमाखोरी करने से बचें
 शासन सचिव ने प्रदेश के सभी व्यापारियों से अपेक्षा की है कि वे वीकेंड लाॅकडाउन एवं नाइट कर्फ्यू के दौरान खाद्य वस्तुओं की जमाखोरी किसी भी हालत में नहीं करें। उन्होंने बताया कि विक्रेता हाइजीन प्रोडक्ट्स जैसे सर्जिकल मास्क एन 95 मास्क कीटाणु नाशक स्प्रे एवं सैनिटाइजर को सही कीमत एवं निर्धारित एमआरपी से ही बेचें। उन्होंने बताया कि उपभोक्ता राज्य स्तरीय हेल्पलाइन नंबर के अलावा जिला रसद कार्यालय में भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।
 उन्होने बताया कि विधिक माप  नियम (पैकेज में रखी हुई वस्तुएं) नियम 2011 के प्रावधानों की पालना में कोई भी वस्तु निर्धारित मूल्य पर विक्रय किया जाना जरूरी है। यदि किसी व्यापारी के द्वारा नियमों का उल्लंघन किया जाएगा तो उनके विरुद्ध कार्यवाही किए जाने का प्रावधान है।00
----------






राजस्थान में कोरोना रोकने को सख्ती,जनजागरण पखवाड़ा नाम से गाइड लाईन, पढें..

 


* करणीदानसिंह राजपूत *

19 अप्रैल 2021.

राजस्थान में कोरोना वायरस के फैलाव को अधिक मानते हुए राज्य में बचाव के लिए सख्ती अधिक कर दी है जिसे जन जागरण पखवाड़े का नाम दिया है। 

इसके लिए 18 अप्रैल 2021को नई गाइड लाईन जारी की गई है जो 19 अप्रैल से 3 मई तक रहेगी।

*राजस्थान में सख्त कर्फ्यू रहेगा सरकार ने जिन सेवाओं को छूट दी है उनका और जिन्हें बंद रखने का निर्देश है उनका वर्णन इस नई गाइडलाइन में किया गया है इसे क्रम से देखें।00





×××××××××+××××××××






रविवार, 18 अप्रैल 2021

व्यापारी दुकानदार खुद बोलें कि कोरोना उन्होंने नहीं फैलाया है ना उनसे फैल रहा है?

 



  * करणीदानसिंह राजपूत *


कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देख कर राजनैतिक कार्यक्रमों में जहां भीड़ होती है उनकी विवेचना और उन पर रोक की कार्रवाई न करके केवल बाजार बंद लॉकडाउन कर्फ्यू पर निर्णय हो जाता है।


 सोशल साइट पर और ग्रुपों में संचालक समाजसेवा करने वालों द्वारा ऐसा माहौल बनाया जाता है कि लॉकडाउन हो जाए। बड़ी तत्परता से ऐसे समाचार प्रसारित किए जाते हैं कि लॉक डाउन होने का हव्वा खड़ा हो जाए।


 सबसे बड़ा प्रश्न है कि क्या बाजार में दुकानदार व्यवसायी कोरोना रोग फैलाने में है? 

क्या उनके बाजार खोलने से कोरोना फैल रहा है? आखिर यह समीक्षा क्यों नहीं हो रही?


 प्रशासनिक अधिकारी जब बैठक करता है तब व्यापारियों के अगुआ नेता हां में हां मिलाते हुए बाजार बंद का निर्णय,कम समय तक खोलने का निर्णय कर बैठते हैं। ये प्रतिनिधि उपखंड में बैठक में 5- 7 ही होते हैं। 15:20 मिनट की बैठक में यह निर्णय हो जाता है। 

व्यापारियों ने दुकानदारों ने आपस में बैठकर कभी चर्चा की?कोरोना रोगी जिस किसी शहर में मिले हैं तो उनकी हिस्ट्री देखी गई? क्या उस हिस्ट्री में दुकान से या बाजार से कोरोनावायरस फैलना सामने आया?

व्यापारी प्रतिनिधि हां में हां मिलाते हुए बंद का,लोक डाउन कर्फ्यू निर्णय कर लेते हैं। व्यापारियों ने कभी भी उपखंड अधिकारी को लिखित में यह क्यों नहीं दिया कि केवल व्यापार पर अंकुश लगाया जाता है। राजनीतिक रैलियों चाहे वह किसी भी पार्टी की हो उन पर रोक क्यों नहीं है? उनके विरुद्ध कोई कार्रवाई क्यों नहीं है? यह समीक्षा क्यों नहीं हो रही कि दुकानदार व्यापारी कोरोना फैलाते हैं या नहीं फैलाते? इसकी समीक्षा होनी चाहिए। रेलें,बसें चल रही है जिनमें भीड़ होती है। वहां कोरोना फैलने का खतरा अधिक है। यहां तक कि चिकित्सालयों में रजिस्ट्रेशन के लिए कतारों में,प्रचार रैलियों को झंडी दिखाने में,कोरोनावारियों को सम्मानित करने के फोटोशूट,मंत्रियोंअधिकारियों को भेंट ज्ञापन में कोई सोशल डिस्टेंस नहीं होता।


हिंदुस्तान में पिछले 1 साल से व्यापार बहुत बुरी हालत के अंदर है। दुकानदार व्यापारी जिनसे लाखों करोड़ों लोग परिवार पलते हैं। उनके कर्मचारी पलते हैं। वे सभी लोकडाउन और बंद से बेहाल हो जाते हैं। बाजार खुलते हैं तो अनेक प्रकार के कार्य भी मजदूरी और रोजगार साथ साथ चलते हैं। बाजार बंद होने से मजदूरी करने वाले रेहड़ी,थड़ी,खोमचे  लगाने वाले भी प्रभावित होते हैं। 


 हिंदुस्तान में अधिकतर बल्कि कहना चाहिए कि 90% व्यापारी दुकानदार मध्यम वर्गीय और कम आय वाले परिवारों से जुड़े हुए हैं। बंद से उनकी रोजी रोटी पर संकट आता है तो मध्यमवर्गीय परिवारों के हर प्रकार के कार्य रुक जाते हैं। अच्छा खासा परिवार जमीन पर आ पड़ता है। 

उसे घर चलाने के लिए और दुर्भाग्य से कोई बीमारी हो जाए तो कर्जा भी लेना पड़ जाता है।


 यहां स्पष्ट रूप से कहा जाना चाहिए कि शासन और प्रशासन दुकानदारों पर अंकुश लगाने के लिए आगे रहने की प्रवृति और सोच बंद करे। 


राजनीतिक रैलियों पर राजनेताओं के कार्यक्रमों की भीड़ पर किसी प्रकार की रोक नहीं लगाता।


 बाजार में जो लोग मास्क के बिना घेरे में आते हैं उन पर तो जुर्माना लग जाता है लेकिन रैलियों की भीड़ पर किसी प्रकार का कोई जुर्माना नहीं लगता। आज तक शासन प्रशासन ने रैलियां निकालने वाले नेताओं के विरुद्ध कोई मुकदमे दर्ज नहीं किए और किसी को गिरफ्तार नहीं किया। 

ये सारे सवाल व्यापारी नेताओं को लिखित में शासन प्रशासन को देना चाहिए। 


आखिर अकेले व्यापारी और दुकानदार ही क्यों बंद और जुर्माने के शिकार किए जाते रहें जब उनकी कोई गलती नहीं है। 

उनकी कोई भूल भी नहीं है तो हमेशा सरकार का कड़ा निर्णय व्यापारियों पर ही लागू क्यों होता है? 

व्यापारी संगठनों को सोशल मीडिया चलाने वाले स्थानीय ग्रुप वालों से भी सीधा सवाल करना चाहिए और मिलना चाहिए कि वह ग्रुपों में केवल व्यापारियों के पीछे ही हाथ धो करके क्यों पड़े रहते हैं? व्यापार बंद कराने से दुकानें बंद कराने से सोशल मीडिया वालों को क्या लाभ है? यह कौनसी समाजसेवा है? 

स्थानीय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के विरुद्ध ग्रुपों में क्यों नहीं लिखते? व्यापारी ही उनको कमजोर नजर आते हैं इसलिए जब चाहे व्यापारियों के विरुद्ध माहौल बनाना शुरू कर दिया जाता है? 

व्यापारी नेताओं को शासन प्रशासन के सामने सीधा एक ही सवाल करना चाहिए कि देश में कानून सबके लिए बराबर है।  उनके अनुसार ही कार्रवाई हो। राजनीतिक रैलियों की राजनेताओं द्वारा भीड़ इकट्ठी करने की छूट है तो व्यापारी तो केवल अपनी दुकान करता है जिसके अंदर भीड़ नहीं होती। शासन प्रशासन से बात करने के लिए लिखित में देने के लिए वे प्रतिनिधि भेजे जाने चाहिए जो मुंह के ताला लगाए और हाथ बांधे हों। सरकार धार्मिक आयोजनों पर रोक लगाने से भी कतराती है यह साबित हो रहा है। 

सरकार के पास नौकरियां जरूरत के अनुसार है नहीं और होती भी नहीं है। लोग निजी क्षेत्रों में रोजी रोटी पाते हैं। 

कोरोना से बचाव के लिए तय गाइड लाईन का सख्ती से पालन हो और उस पर शासन प्रशासन को जोर लगाना चाहिए।00


सामयिक लेख.

दि. 18 अप्रैल 2021.



करणीदान सिंह राजपूत,

स्वतंत्र पत्रकार (राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय से अधिस्वीकृत) सूरतगढ़ ( राजस्थान)

94143 81356.

******


सूरतगढ़-आर एन विज्ञापन एजेंसी अब अपने नये भवन में

 

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 18 अप्रैल 2021.

आर एन एडवरटाइजिंग एजेंसी ने  आज अपने नये ऑफिस का शुभ मुहूर्त कर प्रवेश कर लिया है। 

यह ऑफिस आनन्द नर्सिंग होम के पास HDFC बैंक वाली गली ,बीकानेर रोड़ पर स्थित है। 

एजेंसी सूरतगढ़ शहर में पिछले 11 सालों से निरन्तर देश - प्रदेश के राष्टीय व राज्य स्तरीय समाचार पत्रों के साथ विज्ञापन एजेंसी के रूप में कार्य कर रही है। 


एजेंसी के मालिक अशोक वर्मा ने कहा है कि

देश में कोरोना महामारी के चलते इस महत्वपूर्ण अवसर पर किसी भी तरह का आयोजन नहीं किया जा सका । 

वर्मा ने विज्ञापनदाताओ,शुभचिन्तकों और परिवार के सदस्यों से इसके लिए क्षमा मांगी है। वर्मा ने कहा कि इस आयोजन को बड़ा और विशाल करने के लिए पिछले कई दिनों से तैयारी चल रही थी,लेकिन कोरोना संकट के कारण समारोह नहीं किया जा सका। केवल परिवार की उपस्थिति में पूजन कर ग्रह प्रवेश करने का निर्णय लिया गया। 00

*****




विधायक राजकुमार गौड के प्रयासों से जल योजनाओं के लिए 10 करोड़ 50 लाख स्वीकृत

 





श्रीगंगानगर, 18 अप्रेल 2021.


 गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड ने कहा कि विधानसभा गंगानगर में विभिन्न निर्माण व विकास कार्यो के साथ आमजन को स्वच्छ पेयजल मिले, इसको लेकर जलजीवन मिशन में 1038.42 लाख रूपये की राशि से विभिन्न कार्य करवाकर लगभग 28 गांवों से अधिक के नागरिकों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध लाभांवित किया जाएगा।

 श्री गौड ने बताया कि क्षेत्रीय जल योजना 4एचएच महियावाली योजना के अन्तर्गत 87.87 लाख रूपये की राशि से राईजिंग मैनपाईप, वितरण पाईप, फिल्टर इत्यादि का कार्य करवाया जाएगाए जिससे 4एचएचए 6 एचएचए 3एचएच तथा 13 एचएच के नागरिक लाभांवित होंगे। इसी प्रकार 2 एचएच नेतेवाला परियोजना के लिए 109.40 लाख रूपये की राशि से मैन पाईप, वितरण पाईप पैनल बोर्ड फिल्टर आदि के कार्य करवाया जाएगा, जिससे 2एचएच प्रथम व द्धितीय, 5 एमएल, 1एचएच व 1जी के ग्रामीण लाभांवित होंगे। इसी प्रकार क्षेत्रीय जल योजना 9 एमएल के लिए 29.40 लाख रूपये की राशि स्वीकृत हुई है, जिससे 9 एमएल तथा 10 एमएल के नागरिक लाभांवित होंगे।

 श्री गौड ने बताया कि क्षेत्रीय जल योजना 24 एलएनपी के लिए 73.82 लाख रूपये की राशि स्वीकृत हुई है। इन कार्यो से 24 एलएनपी, 23 एलएनपी, 20 एमएलए तथा 21 एमएल के नागरिकों को स्वच्छ पेयजल मिलेगा। जल येाजना 8 एचएच के लिए 45.48 लाख रूपये की राशि से विकास कार्य हांेगे, जिसमें 8एचएच व 7एचएच के नागरिकों को स्वच्छ पेयजल मिलेगा। क्षेत्रीय जलयोजना 1जैड व 1वाई पेयजल परियोजना के लिए 54.85 लाख रूपये की राशि से स्टोरेज टैंक, पम्पिंग मशीनरी, पेनल बोर्ड, राईजिंग मैनपाईप के कार्य करवाए जाएंगे, जिससे 1जैड व 1वाई के नागरिक, क्षेत्रीय जलयोजना गणेशगढ के लिए 422.35 लाख रूपये की राशि स्वीकृत हुई है। स्वीकृत राशि से पेयजल परियोजना का सुदृढीकरण करने से गांव गणेशगढ, डूंगरसिंहपुरा, 28एलएनपी प्रथम व द्धितीय, 27 एलएनपी तथा 26 एलएनपी तथा क्षेत्रीय जलयोजना 18.19 एमएल के सुदृढीकरण व विस्तार के लिए 182.81 लाख रूपये की राशि से पेयजल परियोजना का नवीनीकरण करने से 18 व 19 एमएल के नागरिकों को स्वच्छ पयेजल मिलेगा। 00

----------







रेल परिसर व ट्रेनों में यात्री हमेशा मास्क, फेस कवर लगाकर रखें.नहीं होने पर कार्यवाही होगी.

 ैै




* करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 17 अप्रैल 2021.

रेलवे सभी यात्रियों से अपील करता है कि कोविड-19 समस्त प्रोटोकाॅल की कड़ाई के साथ पालना सुनिश्चित कर रेलवे का सहयोग करें।

 वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर कोरोना संक्रमण को देखते हुए रेलवे द्वारा समय-समय पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की अनुपालना कर करोना संक्रमण को रोकने में अहम भूमिका का निर्वहन किया जा रहा है। रेलवे द्वारा ट्रेनों व रेल परिसरों में साफ-सफाई तथा सैनिटाइजेसन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके साथ ही यात्रियों को कोविड से बचाव के लिए अनेक जागरूकता अभियान भी निरंतर चलाए जा रहे हैं, ताकि यात्रियों को इसके प्रति प्रोत्साहित किया जा सके। सभी यात्री कोविड-19 प्रोटोकाॅल नियमों की पालना कर कोविड को फैलने से रोकने में रेलवे का सहयोग करें।

 रेलवे द्वारा यात्री रेलसेवाओं के संचालन को प्रारंभ करने के समय से ही यात्रियों को निरंतर सलाह दी जा रही है कि वे अपने तथा दूसरे यात्रियों के बचाव के लिए ट्रेनों एवं रेल परिसर में हमेशा मास्क, फेस कवर लगाकर रखें। स्वच्छता परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए रेलवे द्वारा रेल परिसर में थूकने पर रूपयें 500 तक के जुर्माने का प्रावधान पूर्व में ही किया हुआ है, जिससे स्वच्छता का विशेष ध्यान रखकर आमजन के स्वास्थ्य पर होने वाले बुरे प्रभाव को रोका जा सके।

 वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए रेलवे द्वारा रेल यात्रियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए किसी भी यात्री के ट्रेन व रेल परिसर में मास्क, फेस कवर न पहनने पर रूपयें 500 तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। रेल परिसर व ट्रेनों में थूकने (समान प्रकृति के कार्य) और मास्क, फेस कवर ने पहनने पर रूपयें 500 तक के जुर्माने का प्रावधान भारतीय रेलवे के रेल परिसर में स्वच्छता नियम 2012 के तहत किया गया है।

 सभी रेल यात्रियों से अपील है कि वह स्टेशनों व यात्रा के दौरान ट्रेनों में हमेशा मास्क,  फेस कवर लगाकर रखे तथा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की पालना सुनिश्चित कर कोरोना संक्रमण को रोकने की लड़ाई में भारतीय रेलवे का सहयोग करें।00

( पीआरओ. श्री गंगानगर)

-----------






शनिवार, 17 अप्रैल 2021

कोविड गाईडलाईन: जिला कलक्टर जाकिर हुसैन द्वारा शहर व चैक पोस्ट निरीक्षण.

 




- करणीदानसिंह राजपूत -


श्रीगंगानगर, 17 अप्रेल 2021.

कोविड-19 संक्रमण एवं बचाव को लेकर राज्य सरकार द्वारा घोषित विकेण्ड कर्फ्यू के प्रथम दिन शनिवार को जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने श्रीगंगानगर शहर व साधुवाली चेकपोस्ट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एडीएम प्रशासन श्री भवानी सिंह पंवार व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सहीराम भी साथ में थे। 

जिला कलक्टर ने शहर के मुख्य बाजार, अम्बेडकर चौक, बीरबल चौक क्षेत्र, सुखाडिया सर्किल क्षेत्र, दुर्गा मंदिर मार्केट, इस स्टैण्ड एरिया, कोडा चौक क्षेत्र, मिनी मायापुरी क्षेत्र का दौरा कर गाईडलाईन की पालना की समीक्षा की। इसके पश्चात जिला कलक्टर साधुवाली चैकपोस्ट पहुंचे तथा व्यवस्थाओं का जायजा लिया व अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। 

श्री हुसैन ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक बताई जा रही है, ऐसे में आमजन का जीवन बचाना भी महत्वपूर्ण कार्य है। चैकपोस्ट पर बाहरी राज्यों से आने वाले नागरिकों की आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट देखी जाती है। रिपोर्ट नही होने पर वापस लौटाया जाता है। उन्होने बताया कि चैक पोस्ट पर पर्याप्त सुरक्षा बल व कार्मिक लगाए गए है, जिससे आमजन को किसी प्रकार की असुविधा न हो।

जिला कलक्टर ने आमजन से आह्वान किया है कि इस महामारी से बचने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर जारी गाईडलाईन की सौ प्रतिशत पालना की जाए। यह महामारी ज्यादा न फैले इसको को लेकर उपयुक्त व्यवहार की पालना की जाए। नागरिक बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकले अन्यथा अपने घरों में ही रहे। घर से निकलते समय मास्क का उपयोग व पर्याप्त दुरी बनाए रखे। उन्होेने कहा कि जिले में टीकाकरण अभियान चल रहा है, 45 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक अपने नजदीक के केन्द्र पर जाकर टीकाकरण आवश्य करावे, टीकाकरण के साथ-साथ सावधानी बरतना बहुत जरूरी है।00

---------








श्रीगंगानगर जिला:विवाह सूचना एसडीएम को ई-मेल पर दी जा सकती है। सूची देखें।

 

श्रीगंगानगर, 17 अप्रेल। कोविड-19 संक्रमण एवं बचाव को लेकर राज्य सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन के अनुसार विवाह समारोह की सूचना संबंधित एसडीएम को देनी होगी।

अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री भवानी सिंह पंवार ने बताया कि  विवाह समारोह की सूचना संबंधित एसडीएम को उनके ई-मेल आईडी पर सूचना दी जा सकती है। वर्तमान में सरकार द्वारा विवाह समारोह में अधिकतम 50  मेहमान अनुमत है। विवाह समारोह की विडियोग्राफी करवानी होगी तथा एसडीएम द्वारा मांगने पर प्रस्तुत करनी होगी। श्री पंवार ने बताया कि नागरिक अपनी सुविधा के लिए संबंधित एसडीएम को उनके ई-मेल पर विवाह की सूचना दे सकेंगे।

श्रीगंगानगर जिले के 9 उपखण्ड अधिकारियों की ई-मेल आई इस प्रकार से है। 

SDM ANOOPGARH <SDO.ANUPGARH@rajasthan.gov.in>, 

SDM GHARSANA <sdo.gharsana@rajasthan.gov.in>, 

SDM GHARSANA <sdm.gan.gharsana@gmail.com>, 

SDM PADAMPUR <sdm.padampur@gmail.com>, 

SDM RAISINGHNAGAR <ero-ac005@nic.in>, 

SDM SADULSHAHAR <sdmcourt222@gmail.com>, 

"Electoral Registration Officer, GANGANAGAR Rajasthan" <ero- 

ac002@nic.in>, 

"SDO Ganganagar Revenue(Rajasthan)" <sdogan-gan-rj@nic.in>, 

SDM SRIVIJAYNAGAR <sdo.vijaynagar@rajasthan.gov.in>, 

"Suratgarh, SDM" <sdmsuratgarh04@gmail.com>, 

sdmero04 <sdmero04@gmail.com>, 

sdmsbnr80 <sdmsbnr80@gmail.com>, 

sdmskp <sdmskp@gmail.com>, 

"srikaranpur, Sdo" <Sdo.srikaranpur@rajasthan.gov.in>,

*
पीआरओ.
********
मेल सूचना को कन्फर्म भी करनी चाहिए- करणी प्रेस इंडिया.
***






शुक्रवार, 16 अप्रैल 2021

राजस्थान सरकार द्वारा वीकेंड कफ्र्यू के दौरान दिशा निर्देश- सख्ती से पालना होगी.

 

श्रीगंगानगर, 16 अप्रैल 2021.

 जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री जाकिर हुसैन ने कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने के लिये ग्रह विभाग राजस्थान सरकार के आदेशों की निरन्तरता में 16 अप्रैल को सायं 6 बजे से 19 अप्रैल 2021 सोमवार प्रातः 5 बजे तक पूर्ण रूप से वीकेंड कफ्र्यू के दौरान निषेधाज्ञा जारी की है। 

आदेशानुसार श्रीगंगानगर के समस्त उपखण्ड अधिकारी, वृताधिकारी पुलिस, थानाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में आदेश की सख्ती से पालना सुनिश्चित करवायेंगे। साथ ही जिले के समस्त नागरिकों से अपील की जाती है कि वे कफ्र्यू के दौरान सरकार एवं जिला प्रशासन का सहयोग करे और कोविड उपयुक्त व्यवहार की पूर्ण रूप से पालना करे। कफ्र्यू के दौरान लागू होने वाले प्रतिबंध जनसामान्य की सुविधा एवं आवश्यक सेवाओं एवं वस्तुओं की निरन्तर उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए विभिन्न सेवाओं पर लागू नहीं होंगे। 

श्री हुसैन ने बताया कि उपयुक्त पहचान पत्र के साथ राजकीय कार्मिकों यथा जिला प्रशासन, पुलिस, जेल, होमगार्ड, कंट्रोल रूम, वार रूम, नागरिक सुरक्षा, अग्निशमन, आपातकालीन सेवाएं, सार्वजनिक परिवहन, नगरनिकाय, नगरविकास न्यास, विधुत, पेयजल, स्वच्छता, टेलीफोन, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण एवं चिकित्सा संबंधी सेवाओं पर प्रतिबंध लागू नहीं होंगे। न्यायिक सेवाओं से संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी, अधिवक्ता उपयुक्त पहचान पत्र के साथ अनुमत होंगे। केन्द्र सरकार की आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालय एवं संस्थान अनुमत रहेंगे एवं संबंधित कार्मिक उपयुक्त पहचान पत्रा के साथ अनुमत होंगे। बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट से आने जाने वाले व्यक्तियों को यात्रा टिकट दिखाने पर आवागमन की अनुमति होगी। 

गर्भवती महिलाओं और रोगियों को चिकित्सीय एवं स्वास्थ्य सेवाओं के परामर्श हेतु, सभी निजी चिकित्सालय लैब एवं उनसे संबंधित कार्मिक उपयुक्त पहचान पत्रा के साथ, अंतरर्राज्जीय एवं राज्य के अंदर माल परिवहन करने वाले भार वाहनों के आवागमन, माल के लोडिंग एवं अनलोडिंग तथा उस कार्य के लिये नियोजित व्यक्ति, 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग टीकाकरण के लिये जाने की अनुमति होगी। वर्तमान में रबी की फसलों की आवक है। समर्थन मूल्य पर फसलों को क्रय किया जा रहा है, अनुमति होगी। विवाह समारोह  एवं अंतिम संस्कार से संबंधित गतिविधियां पूर्व में जारी दिशा निर्देशों के अनुसार अनुमत होगी। भोजन एवं किरयाने का सामान, फल एवं सब्जियां, डेयरी दूध प्रातः 5 बजे से सायं 8 बजे तक अनुमत होगी। फार्मा स्यूटिकल्स दवाएं एवं चिकित्सीय उपकरण, बैंकिंग, एटीएम, बीमा कार्यालय, दूरसंचार, भोजन सामग्री, रेस्टोरेंट द्वारा होम डिलीवरी रात्रि 8 बजे तक अनुमत होगी। एलपीजी पेट्रोल पम्प, बिजली उत्पादन, वितरण, निजी सुरक्षा सेवाएं, रात्रिकालीन उत्पादन इकाईयों के श्रमिक अनुमत है। ये आदेश 16 अप्रैल को सायं 6 बजे से 19 अप्रैल 2021 प्रातः 5 बजे तक प्रभावी रहेंगे।

------------



राममंदिर निर्माण में मिले 22 करोड़ के15 हजार चैक बाउंस.दानदाताओं से संपर्क किया जाएगा.




* करणीदानसिंह राजपूत *

देश भर के मीडिया में एक समाचार चल रहा है कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए चंदे के तौर पर इकट्ठा किए गए 15,000 से अधिक चेक बाउंस हो गए हैं। दानदाताओं से अब नये चैक लेने के लिए संपर्क किया जाएगा।

जिस इलाके से चैक प्राप्त हुए थे वहां बाउंस चैक लौटाए जाएंगे। लोगों ने आस्था से दिए थे और अनेकों की तस्वीरें भी सोशल साइट्स पर आती रही थी। माना यही जा रहा है कि विभिन्न कारणों से चैक बाउंस हो गए जो नये चैक मिल जाएंगे। 


* विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) और अन्य संबद्ध संगठनों द्वारा एकत्र किए गए इन बाउंस  चेकों  का कुल अंकित मूल्य लगभग 22 करोड़ रुपये है। 

मंदिर निर्माण के लिए केंद्र द्वारा बनाए गए न्यास श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र की एक ऑडिट रिपोर्ट में कहा गया कि चेक खातों में कम रकम होने या फिर कुछ तकनीकी खामियों की वजह से बाउंस हुए।


न्यास के सदस्य डॉ. अनिल मिश्रा ने कहा कि तकनीकी गड़बड़ी के समाधान के लिए बैंक काम कर रहे हैं और वे लोगों से फिर से दान करने के लिए कह रहे हैं।


 ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष, स्वामी गोविंददेव गिरि ने कहा कि इन चेक में से लगभग 2000 चेक अयोध्या से संग्रहित किए गए थे। अन्य 13,000 चेक देश के विभिन्न हिस्सों से एकत्र किए गए थे। स्वामी गोविंददेव गिरि ने कहा, हम बाउंस चेक वापस भेज रहे हैं और उन लोगों से नए सिरे से जारी करने की अपील कर रहे हैं।


विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने 15 जनवरी से 17 फरवरी तक चंदा इकट्ठा करने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान चलाया था। इसी अभियान के दौरान ये चेक संग्रहित किए गए थे। इस अभियान के दौरान करीब 5000 करोड़ की रकम जुटाई गई थी। हालांकि न्यास द्वारा अभी एकत्रित रकम के बारे में अंतिम आंकड़े जारी नहीं किए गए हैं। इस दौरान 9 लाख कार्यकर्ताओं ने 1,75,000 टोलियां बनाकर घर-घर जाकर 10 करोड़ परिवारों से संपर्क किया था।

इनके द्वारा जमा रकम को 38,125 कार्यकर्ताओं के माध्यम से बैंक में जमा किया गया। इनके बीच समन्वय के लिए 49 नियंत्रण केंद्र बनाए गए। जबकि दिल्ली स्थित मुख्य केंद्र पर दो चार्टर्ड अकाउंटेंट की निगरानी में 23 लोगों की टीम ने पूरे भारत से जमा राशि और डिपॉजिट राशि पर निगरानी रखी।00

****





****




विधायक रामप्रताप कासनिया ने 5 करोड़ की पेचवेल/मिसिंग लिंक सड़को के निर्माण की अनुशंसा की।

 

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 16 अप्रैल 2021.

प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में बजट घोषणा वर्ष 2021-22 में रूपये 5 करोड़ की नाॅन पेचवेल/मिसिंग लिंक सड़को के निर्माण घोषणा की गई थी। 

जिसके तहत सूरतगढ़ विधायक श्री रामप्रताप कासनियां ने आज दिनांक 16 अप्रेल 2021 को सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में नाॅन पेचवेल/मिसिंग लिंक सड़को के निर्माण हेतु निम्नानुसार अनुषंषा की गई। सड़क का नाम  और  सड़क की लम्बाई (किमी.) निम्न है।




1- मिसिंग लिंक सड़क का निर्माण कार्य सूरजनसर से 6 जीडीएम  3.40 (किमी.) 


2- मिसिंग लिंक सड़क निर्माण कार्य 2 बीजेडब्ल्यू से कानौर 4.50 (किमी.) 


3- मिसिंग लिंक सड़क निर्माण कार्य सिंगरासर से साबणियां  3.00 (किमी.) 


4- सम्पर्क सड़क एनएच 62 (15) से 15 एसजीआर 0.45 (किमी.) 


5 मिसिंग लिंक सड़क हरदासवाली से 5 एपी 3.00 (किमी.) 


6- सम्पर्क सड़क एनएच 62 (15) से 99.150 आरडीआर (गोपालसिंहनगर) नहर की पुली तक 0.45 (किमी.) 

******

****











यह ब्लॉग खोजें