बुधवार, 2 जनवरी 2019

किसान के खेत में पहुंचे जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते-


- करणी दान सिंह राजपूत -

श्रीगंगानगर, 2 जनवरी 2019.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बुधवार को जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ नहरी तंत्र को देखा। जिला कलक्टर जल संसाधन विभाग व सीएडी के अधिकारियों के साथ खखा हैड पहुंचे। खखा हैड पर पानी की आवक एवं गेज को देखा तथा विभाग द्वारा संधारित गेज पुस्तिका का निरीक्षण किया। उन्होंने बीकानेर कैनाल, आईजीएनपी व भाखड़ा नहरी तंत्र को नक्शे के द्वारा समझा तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। खखा हेड पर दोपहर 12.30 बजे तक 2501 क्यूसेक पानी की आवक थी। अधिकारियों ने बताया कि गंगनहर प्रणाली में 3.14 लाख हैक्टर भूमि सिंचित रकबा है। जिला कलक्टर ने खखा हैड मुख्य नहर का अवलोकन करते हुए शिवपुर हैड पहुंचकर निरीक्षण किया तथा शिवपुर हैड से निकलने वाली नहरों का जायजा लिया। 

जिला कलक्टर ने शिवपुर हैड पर भी पानी के गेज का निरीक्षण किया। शिवपुर हैड के पश्चात बाईफ्रकेशन हैड पहुंचे। जहां एफ व एच नहरों को देखा तथा एच नहर के आउटलेट का निरीक्षण करने के पश्चात उस आउटलेट से लगभग 2 किलोमीटर दूर सिंचाई कर रहे किसान के खेत पंहुचे, जहां गेहूं को पानी दिया जा रहा था। जिला कलक्टर ने किसान से बातचीत की। किसान ने बताया कि वर्तमान में पानी की उपलब्धता ठीक है। गैंहू को दूसरा पानी दिया जा रहा है तथा बारी भी लगातार दूसरी बार लग रही है। जिला कलक्टर ने किसान से गेहूं व नरमा के उत्पादन के बारे में पूछा तथा जिला कलक्टर ने किसानों को समझाया कि अत्यधिक पानी की मात्रा भी फसल के लिये नुकसानदायक होती है। कभी भी फसल को जरूरत से ज्यादा पानी नही देना चाहिए। 

पक्के खाले का निरीक्षण

जिला कलक्टर ने चक 4 वाई में निर्मित पक्के खाले का अवलोकन किया तथा सीएडी के अधिकारियों को निर्देशित किया कि पक्के खालों के निर्माण से लगभग 20 प्रतिशत जल की बचत होती है, जिससे अधिक क्षेत्राफल में बुवाई कर ज्यादा उत्पादन लिया जा सकता है। खखा हैड पर भी किसानों ने जिला कलक्टर से मुलाकात की तथा जो खाले कच्चे रह गये है, उन्हें पक्का करने का निवेदन किया। जिला कलक्टर ने किसानों को आश्वस्त किया कि प्रधानमंत्रा सिंचाई योजना, महात्मा गांधी नरेगा में शेष खालों को पक्का करने का कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जायेगा। 

पेयजल परियोजना का किया निरीक्षण

जिला कलक्टर श्री नकाते ने चक 1 ए व 2 बी के लिये प्रगतिरत पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। सीमांत क्षेत्रा विकास योजना में 4 लाख 99 हजार 980 रूपये की लागत से पेयजल भंडारण के लिये डिग्गी का निर्माण कार्य प्रगति पर है। 

    इस अवसर पर जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री प्रदीप रूस्तगी, सीएडी के अधीक्षण अभियंता श्री गोपाल किशन भारती, जल संसाधन विभाग के अधीशाषी अभियंता श्री नीरज चावला, सहायक अभियंता श्री राजेश अरोड़ा उपस्थित थे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें