Tuesday, October 31, 2017

आप में अमानतुल्लाह का निलंबन खत्म- आगे के आसार क्या होंगे

राजस्थान प्रभारी विश्वास कुमार ने कहा'मेरा राज्य सभा में प्रवेश रोकने वाला कदम'

आम आदमी पार्टी ने विधायक अमानतुल्लाह खान की निलंबन रद्द कर दिया जिससे पार्टी के अंदर नई रस्साकशी शुरू होने के आसार हैं। अमानतुल्लाह  के निलंबन खत्म होने पर पार्टी के वरिष्ठ नेत कुमार विश्वास ने कहा कि खान “केवल मुखौटा हैं” और ये उन्हें राज्य सभा सदस्य बनने से रोकने की साजिश है। दिल्ली की ओखला विधान सभा से विधायक खान को मई 2017 में पार्टी से निलंबित कर दिया गया था। खान ने उस समय कुमार विश्वास पर हमला करते हुए उन्हें “राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दलाल” बताया था। खान ने आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य विश्वास पर पार्टी के खिलाफ साजिश करने का आरोप लगाया था। खान की पार्टी ऐसे समय में हुई है जब दो नवंबर को आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक होने वाली है। राष्ट्रीय परिषद आम आदमी पार्टी की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई है।हालांकि आम आदमी पार्टी ने स्पष्ट किया है कि खान का निलंबन वापस ले लिया गया है  लेकिन ये पुरानी तारीख से नहीं किया गया है। पार्टी के एक सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, “इसका ये मतलब नहीं है कि उन्हें क्लीन चिट मिल गयी है।” इस साल मई में जब खान के हमले के बाद विश्वास ने पार्टी छोड़ने की धमकी दी तो राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया उनके घर जाकर उनसे मिले थे। पार्टी सूत्रों के अनुसार केजरीवाल और सिसोदिया को आशंका थी कि कई विधायकों का समर्थन होने की वजह से विश्वास पार्टी तोड़ने में सक्षम हैं इसलिए खान को निलंबित करके संकट टाला गया था।खान को पार्टी से निलंबित करने के बाद तीन सदस्यों की एक जांच कमेटी बनायी गयी थी जिसे मामले की जांच करनी थी। इस कमेटी में आप के तीन नेता आशुतोष, पंकज मिश्रा और अतिशी मारलेना शामिल थे। इस कमेटी ने सोमवार को अपनी रिपोर्ट सौंपी और खान का निलंबन रद्द करने की घोषणा की। खान ने इंडयिन एक्सप्रेस को फोन पर बताया, “मुझे आशुतोष का फोन आया जिन्होंने बताया कि मेरा निलंबन रद्द कर दिया गया है। मैं पार्टी द्वारा किए गये काम पर ध्यान दूंगा।” कुमार विश्वास के बारे में पूछे पर खान ने कहा, “अब कहने को क्या रह गया है?आम आदमी पार्टी के एक सूत्र ने कहा, “अभी हर विधायक का महत्व है। खासकर हमारे 21 विधायकों के खिलाफ चल रहे लाभ के पद के मामले को देखते हुए। ऐसे में पार्टी उन्हें हमेशा के लिए निलंबित नहीं रख सकती। आखिर हर पार्टी में आपसी समझौतों की जगह होनी चाहिए।”

( जनसत्ता)

+

आम आदमी पार्टी के ओखला से विधायक अमानतुल्ला खान का निलंबन बहाल कर दिया गया है. कुमार विश्वास को बीजेपी एजेंट बताने पर पहले पोलिटिकल अफेयर कमेटी से हटाने के साथ-साथ पार्टी से अमानतुल्ला खान को निलंबित कर दिया गया थाअमानतुल्ला खान के बयान को लेकर खड़े हुए विवाद का असर कुमार विश्वास और अरविंद केजरीवाल के रिश्तों पर भी दिखा. विवादित बयान के बाद कुमार विश्वास और अरविंद केजरीवाल के बीच कथ‍ित तौर पर शीत युद्ध भी देखने मिला था.उस वक्त हालात इतने बिगड़ गए थे किअमानतुल्ला खान के बयान से नाराज कुमार विश्वास को मनाने के लिए मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल को आधी रात गाजियाबाद स्थ‍ित कुमार विश्वास के घर  भी जाना पड़ा था30 अप्रैल को बयान जारी करने के बाद 'आज तक' से बातचीत में विधायकअमानतुल्ला खान ने कुमार विश्वास पर तीन बड़े आरोप लगाए थे. खान ने कहा था कि कैबिनेट मंत्री के घर में चार विधायकों की बैठक हुई थीवहीं कुमार विश्वास बीजेपी के इशारे पर पंजाब और एमसीडी के चुनाव में कैम्पेन करने नहीं आए थे. साथ ही टिकट बंटबारे में कुमार विश्वास मौजूद थे, लेकिन अब सवाल उठाकर एक षड्यंत्र रचा जा रहा है.इस बयान पर हुआ था विवादजिस बयान से विवाद खड़ा हुआ था उसमेंअमानतुल्ला खान ने आरोप लगाते हुए कहा था कि 'कुमार विश्वास आम आदमी पार्टी को हड़पना चाहते हैं और तोड़ना चाहते हैं. कुमार अपने घर में विधायकों को बुलाकर यह कह रहे हैं कि मुझे पार्टी का संयोजक बनवाओ, नहीं तो बीजेपी में चलो. बीजेपी हर एक को 30 करोड़ देने के लिए तैयार है.विश्वास पर पार्टी तोड़ने का गंभीर आरोपजामिया से AAP विधायक ने कहा था कि मुझे लगता है ये सब बीजेपी के इशारे पर हो रहा है और इस काम के लिए इन्होंने 4 विधायक छोड़े हुए हैं. ये चारों विधायक AAP के विधायकों को कुमार विश्वास के घर ले जाते हैं, इस बात की तस्दीक AAP के तमाम विधायकों ने की

(अमर उजाला)

+

आम आदमी पार्टी(आप) ने ओखला से पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान का निलंबन रद्द कर दिया है। करावल नगर से पार्टी के निलंबित विधायक कपिल मिश्रा ने आज कई ट्वीट कर खान के निलंबन को रद्द किए जाने को लेकर निशाना साधा। पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास पर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) के लिए काम करने का आरोप लगाने पर पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति ने खान को तीन मई को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था।मिश्रा ने ट्वीट में लिखा केजरीवाल के बारे में सच बोलो तो सजा, कुमार के बारे में झूठ बोलो तो मजा। क्या अमानत पर बनी 3 सदस्यीय समिति की रिपोर्ट सार्वजनिक की जाएगी। एक अन्य ट्वीट में पूर्व मंत्री ने लिखा आप के पास अमानतुल्ला से ज्यादा तेज तर्रार मुसिलम चेहरा है नहीं। बिना मुस्लिम वोट पार्टी कहीं और तो छोडि़ए दिल्ली भी नहीं जीत सकती। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा 67 विधायक जीतने के लिए किसी जाति या धर्म के चेहरे नहीं चाहिए थे। अमानतुल्ला उन लोगों में से हैं, जो अफजल गुरु और बुरहान वानी को हीरो मानते हैं। दिल्ली के मुसलमान ऐसे लोगों को पसंद नहीं करते। गौरतलब है कि मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे, जिसके बाद उन्हें केजरीवाल मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था।

(उत्तम हिंदु न्यूज)



No comments:

Post a Comment

Search This Blog