Tuesday, May 16, 2017

महिला सरपंचों ने एटा सिंगरासर माइनर शांतिपूर्ण चलाने का मानस बताया



श्रीगंगानगर, 16 मई। एटा-सिंगरासर मामले को लेकर प्रभावित ग्राम पंचायतों के आधा दर्जन से ज्यादा सरपंचों ने एक स्वर में कहा है कि वे शांतिपूर्ण तरीके से किए जाने वाले आंदोलन के पक्षधर हैं। सूरतगढ़ की उपतहसील राजियासर में जिला कलक्टर की ओर से सरकार की योजनाओं और कानून व्यवस्था को लेकर बुलाई गई बैठक में आए सरपंचों ने ये बात कही। बैठक में राजियासर सरपंच बेनजीर, मोकलसर सरपंच रामादेवी, राइयांवाली सरपंच कल्पना, सोमासर सरपंच राजबाला बिश्नोई, सिंगरासर सरपंच चुन्नीदेवी, वीरमाना सरपंच संतोष जालप समेत समेत कई ग्राम पंचायतों के सरपंच प्रतिनिधि मौजूद थे। जिला कलक्टर श्री ज्ञानाराम ने बैठक में कहा कि लोकतंत्र में विरोध करने का हक सबको है लेकिन विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्वक होना चाहिए। अगर कोई कानून व्यवस्था बिगाड़ेगा तो उससे सख्ती के साथ निपटा जाएगा। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि विकास संबंधी कोई समस्या हो तो वो प्रशासन को बताएं उसे तत्परता के साथ निस्तारित किया जाएगा। बैठक में एसपी श्री हरेन्द्र कुमार ने कहा कि एटा सिंगरासर मामले को लेकर अपनी बात शांतिपूर्वक तरीके से रखें, लेकिन कानून को तोड़ने की इजाजत किसी को भी नहीं होगी। अगर कोई गड़बड़ी फैलाने की कोशिश करेगा तो तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। एसपी ने कहा कि हम आपकी सुरक्षा के लिए हैं आप किसी मांग को लेकर आंदोलन करें हमें कोई परेशानी नहीं हैं लेकिन अपनी मांग शांतिपूर्वक तरीके से ही रखें।

                  बैठक में सरपंचों ने यहां तक कहा कि अगर सिंगरासर माइनर नहीं निकलती है तो प्रभावित क्षेत्र में जो कुएं हैं उनको बिजली कनेक्शन प्राथमिकता से दिए जाएं। तो किसानों को इसका फायदा मिल सकता है। साथ ही कुछ सरपंचों ने आबादी भूमि के पट्टे जारी करने के साथ रेवन्यू का कार्य सेटलमेंट इत्यादि पूर्ण किए जाने की मांग रखी। जिला कलक्टर ने सरपंचों की सभी मांगों को सुनकर उनका जल्द निस्तारण करने की बात कही। बैठक में जिला कलक्टर श्री ज्ञानाराम के अलावा एसपी श्री हरेन्द्र कुमार, एडीएम सुरतगढ़ श्री चांदमल वर्मा, उपाधीक्षक श्री ओनाड़ सिंह, विकास अधिकारी रोमा सहारण, उपतहसीलदार राजियासर श्री विनोद कुमार, एसएचओ श्री गणेशाराम बिश्नोई समेत राजियासर सरपंच बेनजीर, मोकलसर सरपंच रामादेवी, राइयांवाली सरपंच कल्पना, सोमासर सरपंच राजबाला बिश्नोई, सिंगरासर सरपंच चुन्नीदेवी, वीरमाना सरपंच संतोष जालप समेत समेत कई ग्राम पंचायतों के लोग बड़ी संख्या में शामिल थे।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog