Monday, January 2, 2017

सीमा क्षेत्र में लोगों के पास सेना अधिकारियों के फर्जी आईडी कार्डः

जोधपुर ।
 जोधपुर जिले में 1 जनवरी को आर्मी इंटेलीजेंस लाइसन यूनिट जोधपुर की टीम ने सेना और सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के 15 फर्जी पहचान पत्र लोगों से जब्त किए। सैन्य अधिकारियों के फर्जी पहचान पत्रों से सैन्य क्षेत्रों में प्रवेश कर रैकी की आशंका जताई जा रही है।
 आर्मी इंटेलीजेंस लाइसन यूनिट की ओर से बीते 15 दिनों के दौरान तीन जगह कार्रवाई में अब तक ऐसे करीब 27 पहचान पत्र जब्त किए गए हैं। एजेंसी की ओर से इन सभी लोगों से गहन पूछताछ की जा रही है। 

 
गौरतलब है कि बीते वर्ष नगरोटा में हुए आतंकी हमले में आतंकियों से भी भारतीय सेना के पहचान पत्र मिले थे।

यूनिट की ओर से दो टीमें बना कर रविवार को सोजत व रोहिट में जांच व कार्रवाई की गई। इस दौरान पांच लोगों से सैन्य अधिकारियों के फर्जी पहचान पत्र व 10 लोगों से अन्य सुरक्षा एजेंसियों के फर्जी पहचान पत्र बरामद किए गए। यूनिट की ओर से इन लोगों से गहन पूछताछ की जा रही है।
खुफिया सूत्रों के अनुसार सैन्य अधिकारियों के फर्जी पहचान पत्र से ये लोग टोल प्लाजा, सैन्य क्षेत्रों में बे-रोकटोक आते-जाते थे। पहचान पत्र दिखाने के बाद इनसे कोई पूछताछ नहीं होती थी। ऐसे में सैन्य क्षेत्र में रैकी की भी आशंका है।
खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार किसी सैन्य अधिकारी का पहचान पत्र गुमने या स्कैन कर के कम्प्यूटर के माध्यम से उसमें नाम व अन्य जानकारी बदल देते। साथ ही सैन्य अधिकारी का फोटो बदल कर खुद का फोटो लगा देते। आर्मी इंटेलीजेंस एेसे कम्प्यूटर सेंटर्स की भी जांच पड़ताल कर रही है जहां इस तरह के पहचान पत्र बनाने का काम किया गया।

जानकारी के अनुसार फर्जी पहचान पत्र मामले में सेना व सुरक्षा एजेंसियों के लोगों के मिले होने की भी आशंका है। आर्मी इंटीलीजेंस एेसे सैन्य कर्मचारियों व सुरक्षा कर्मचारियों की पड़ताल में भी जुटी हुई है।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog