Sunday, April 14, 2013

गणगौर मेला सूरतगढ़:पुरानी परंपरा और प्रतियोगिता की नई रीत

  विशेष रिपोर्ट-करणीदानसिंह राजपूत:फोटो-सुभाष राजपूत
 

सूरतगढ़, 13 अप्रेल 2013.गढ़ के पास में पुराने सूरत सागर स्थल पर प्रतिवर्ष की भांति गणगौर मेला आयोजित हुआ जिसमें शहर की विभिन्न समाजों की और विभिन्न स्थानों से गणगौरें मेले में लाई गई।
नगरपालिका ने इस वर्ष से गणगौर पर प्रतियोगिता रखी जिसमें अच्छी सजावट वाली गणगौर लाने वाली महिलाओं को युवतियों को पुरस्कार प्रदान किए गए।
प्रथम घोषित गणगौर के लिए श्रीमती सुनीता पत्नी संतोषकुमार सोनी को 11 हजार रूपए प्रदान कर सम्मानित किया गया। द्वितीय घोषित गणगौर के लिए  पूजा पुत्री महावीर देरासरी को 5100 रूपए प्रदान कर सम्मानित किया गया। तृतीय घोषित गणगौर के लिए 3100 स्पए प्रदान कर सरिता पुत्री दुल्लीचंद देरासरी को सम्मानित किया गया। इनके अलावा श्रेष्ठ घोषित गणगौरों के लिए लक्ष्मी सोनी,सुगनादेवी और राधा को पांच पांच सौ रूपए प्रदान कर सम्मानित किया गया। विधायक गंगाजल मील द्वारा सभी को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पालिकाध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल और अधिशाषी अधिकारी पृथ्वीराज जाखड़ भी उपस्थित थे। पालिकाध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल ने अगले वर्ष के लए पुरस्कार राशि बढ़ाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष प्रथम को 21 हजार,द्वितीय को 11 हजार और तृतीय को 5100 रूपए प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा।






प्रथम पुरस्कार लेने वाली टीम


द्वितीय पुरस्कार लेने वाली टीम



गणगौर मेले में आई महिलाएं



No comments:

Post a Comment

Search This Blog