Tuesday, May 23, 2017

सेठ रामदयालराठी राजकीय उ.मा.विद्यालय सूरतगढ़ भवन खतरे में:



सैंकड़ों छात्रों व अध्यापकों की जान जोखिम में:
नगरपालिका के बनाए नाले से हुआ बंटाधार:
- करणीदानसिंह राजपूत -
सूरतगढ़ 16 जून 2016.
आप डेट 23-5-2017.
***
सेठ रामदयाल राठी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का भवन खतरे में है और यहां पढऩे वाले छात्रों और पढाने वाले व्याख्याताओं की जान जोखिम में है। 



अभी गर्मी की छुट्टियां हैं लेकिन कुछ दिन बाद तो विद्यालय खुल जाएगा। इलाके में सर्वश्रेष्ठ शिक्षा देने वाले इस विद्यालय के भवन का गिर जाने जैसा हाल नगरपालिका के गंदे पानी नाले के कारण हुआ है,जिसमें पानी ठहरा हुआ सा बहता है। नाले में करीब डेढ फुट तक पानी हर समय रहता है। नाले के निर्माण में हुई गड़बड़ी के कारण नाला टूट गया है और अनेक बार समाचार छापे जाने के बावजूद नगरपालिका ने घ्यान नहीं दिया। नाले की टूटन और सीलन ने कमरों की ईंटों को क्षति पहुंचाना शुरू किया व ईंटें बुरी तरह से खुर गई। ईंटों के बीच में चिनाई का मसाला तक सेम के कारण खुर कर निकल गया। भवन के मुख्य द्वार के आगे से बड़ा नाला निकलता है जिस कारण आगे का भाग नष्ट हुआ। उत्तर दिशा में भी नाला है जिसमें से पानी यदाकछा ही बहता है और वह अनेक बार टूट भी चुका है। भवन के उततर दिशा व पश्चिम दिशा के कमरे क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। वर्षा के कारण भी पानी जमा होता है। कारण कि पानी बह कर निकल ही नहीं पाता।
इलाके में ही नहीं राजस्थान के अनेक हिस्सों में यहां के पढ़े अधिकारी व व्यापारी लगे हुए हैं।
इसकी मरम्मत तुरंत नहीं हो पाई तो कभी भी कोई अनहोनी हो सकती है।
सूत्रों से मालूम हुआ है कि विद्यालय के आठ कमरों की हालत बहुत खराब है जिनके लिए बजट की मांग की गई है। परियोजना अधिकारी,रमसा, श्रीगंगानगर को कागजात भेजे हुए हैं। वहां से बजट मिलने के बाद किसी विभाग के माध्यम से सारा बजट निर्माएा के नक्से आकद बनेंगे तब जाकर निर्माण शुरू हो पाएगा। अनुमान है कि जल्दी की जाए तब भी कई महीने लग जाऐंगे। जनता व इलाके के नेता व संगठन जागे तब संभव है कि कार्यवाही जल्दी शुरू हो जाए।







No comments:

Post a Comment

Search This Blog