रविवार, 16 जून 2019

मनोज स्वामी ने साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्ति पर वरिष्ठ पत्रकार करणीदानसिंह से आशीर्वाद लिया


* विशेष समाचार *
केन्द्रीय साहित्य अकादमी की ओर से 2018 का अनुवाद पुरस्कार लेकर सूरतगढ़ लौटने पर मनोजकुमार स्वामी ने वरिष्ठ पत्रकार लेखक करणीदानसिंह राजपूत से आशीर्वाद प्राप्त किया।
मनोज कुमार स्वामी ने 'हथाई' कार्यालय स्थल पर करणीदानसिंह राजपूत के हाथों में पुरस्कार सौंपा। राजपूत ने मनोज कुमार स्वामी के उज्जवल भविष्य का आशीर्वाद दिया।
सूरतगढ़ के राजस्थानी साहित्यकार मनोजकुमार स्वामी को मलयाली के अकादमी पुरस्कृत उपन्यास चैम्मीन के राजस्थानी अनुवाद 'नाव अर जाळ'के लिए दिया गया। मलयाली लेखक तकषी शिवशंकर पिल्लै द्वारा मछुवारों के जीवन पर सजीव उपन्यास लिखा गया उसका भाव पूर्ण अनुवाद राजस्थानी भाषा में मनोज कुमार स्वामी द्वारा किया गया।
करणीदानसिंह राजपूत ने 'नाव अर जाळ' की राजस्थानी भाषा में समीक्षा लिखी जो राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृति अकादमी की पत्रिका 'जागती जोत' के मार्च 2019 के अंक में प्रकाशित हुई।


 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें