सोमवार, 30 अक्तूबर 2017

सौ साल की बुढ़िया से बलात्कार,मौत और गिरफ्तारी

यह  दिल दहला देने वाली घटना मेरठ के रघुनाथ पुरा गांव में घटित होने के समाचार के बाद से बवाल मचा हुआ है। सभी सोचने पर मजबूर कि आहैं कि हम किस तरह के वातावरण  में रह रहे हैं।

 यह सवाल भी जेहन में कौंध उठेगा कि क्या हमारी इंसानी बस्तियों में इतने वहशी दरिंदे पैदा हो गये हैं।

 यह पूरा मामला जानी थाना इलाके के रघुनाथपुर गांव का है, जहां एक वहशी दरिंदे ने 100 साल की बुजुर्ग महिला के साथ कथित तौर पर रेप किया। दुष्कर्म का शिकार बनी दलित महिला ने सोमवार 30.10.2017  की सुबह उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया। 

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बारे में पुलिस का कहना है कि आरोपी का मेडिकल कराने के बाद उसे कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा। 

 महिला के परिजनों के अनुसार रविवार 29.10.2017 की रात सौ वर्ष की वृद्धा बीमारी के कारण अपने बरामदे में सो रही थीं। रात को उनके कराहने की आवाज सुनकर जब परिवार के सदस्य कमरे से बाहर निकले, तो गांव का ही 35 वर्षीय अंकित पूनिया नाम का शख्स दुष्कर्म कर रहा था। 

 परिजनों के मुताबिक उस समय अंकित नशे में बुरी तरह से धुत था।दौरान जब उसे पकड़ने का प्रयास किया गया, तो वह मौके से फरार हो गया।

इस दौरान 108 नंबर पर कॉल कर परिजनों ने ऐंबुलेंस बुलाई और पीड़ित वृद्धा को लेकर थाने पहुंचे। जानी के एसएचओ (थानाधिकारी) प्रेमचंद शर्मा ने बताया कि रविवार की रात को ही आरोपी अंकित पूनिया को नामजद करते हुए उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 458 और 376 व 3(2)5 एससी/एसटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दायर किया गया।

 पुलिस का कहना है कि वृद्धा को उपचार के लिए मेरठ जिला अस्पताल भेज दिया गया था। सोमवार 30.10.2017 की सुबह 4 बजे अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

एसएचसो का कहना है कि मौत की खबर मिलने पर मुकदमे में आईपीसी की धारा 302 (हत्या) भी जोड़ दी गई है।

एसएचओ ने बताया कि सोमवार को करीब एक बजे आरोपी अंकित को हिंडन नदी के पुल के पास से गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे मेडिकल के लिए भेजा गया है। वहीं इस घटना को लेकर गांव में भारी तनाव देखा जा रहा है। गांव की गलियां सूनी पड़ी हुई हैं। वहीं एक बिरादरी के लोग इसे झूठा मामला बता रहे हैं। मेरठ पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें