सोमवार, 13 जून 2016

राजकुमार छाबड़ा की शैक्षणिक प्रमाणपत्र में कोई गड़बड़ है?


ईओ और अध्यक्ष काजल छाबड़ा दोनों ने ही सूचना नहीं दी:

-स्पेशल न्यूज-
सूरतगढ़ 13 जून 2016.
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की छापामारी में रिश्वत में फंसे लिपिक राजकुमार छाबड़ा की शैक्षणिक योग्यता में कोई न कोई गड़बड़ होने की आशंका है, जिसके कारण सूचना के अधिकार में मांगी गई सर्विस फाइल की प्रति ईओ व पालिकाध्यक्ष काजल छाबड़ा उपलब्ध नहीं करा रही है। अगर सविँस रिकार्ड साफ सुथरा है,कोई गड़बड़ नहीं है तो प्रतिलिपि उपलब्ध कराने में रूकावट नहीं होती। क्या यह रूकावट इसलिए की गई कि राजकुमार छाबड़ा रिश्ते में काजल छाबड़ा का जेठ लगता है?



राजकुमार छाबड़ा की शैक्षणिक योग्यता प्रमाणपत्र राजस्थान से बाहर का दिल्ली का होने की जानकारी होने पर पत्रकार महेन्द्रसिंह जाटव की ओर से सूचना के अधिकार में 22 फरवरी 2016 को अर्जी लगाई गई। ईओ ने उस पर 30 दिन में सूचना उपलब्ध नहीं करवाई। इस मामले को दबाया जाता देख कर अधिनियम के अनुसार  30 मार्च को पालिकाध्यक्ष के अपील की गई। पालिकाध्यक्ष काजल छाबड़ा ने भी अपील को दबा दिया और इस पर कार्यवाही नहीं की।
इसके बाद इसकी राज्य सूचना आयुक्त को अपील की गई है।
राजकुमार छाबड़ा की शैक्षणिक योग्यता पर इसलिए शंका हो रही है कि कुछ न कुछ गड़बड़ है और पालिकाध्यक्ष काजल छाबड़ा का जेठ होने के कारण छुपाने की कार्यवाही की जा रही है।
अब तो राजकुमार ब्यूरो की कार्यवाही में फंस चुका है और नई शंकाएं पैदा हो रही है कि बड़ी रकम 80 हजार रूपए जैसी रिश्वत धड़ले से मांगना और लेने में वह अकेला नहीं हो सकता। इसमें अन्य अधिकारी व बड़े लोग शामिल हो सकते है?
किसी भी भूमि प्लॉट,दुकान आदि के मालिक के रूपान्तरण जैसी कार्यवाही ईओ व अध्यक्ष की स्वीकृति से ही होती है।
राजकुमार छाबड़ा से पूरी पूछताछ व अनुसंधान में मालूम होगा कि इस रिश्वत प्रकरण में और कौन कौन हैं?
राजकुमार को 14 जून को भ्रष्आचार निरोधक विशेष अदालत में पेश किया जाएगा व संभव है कि उसका रिमांड का निवेदन अदालत से किया जाए।


=====================

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें