Monday, March 21, 2016

होली: हंसी मजाक चुटकियों से भरी ठिठोली 2016.


बुरा ना मानो होली है


================
राजेन्द्र भादू  लाठी गोली री सरकार
हरचंदसिंह सिद्धु         तीखा सींगा आळौ सांड
गंगाजल मील         राज रा दुखड़ा
पृथ्वीराज मील         टींगर पणो
बलराम वर्मा बल्ले री टिकट 
रामप्रताप कासनिया  गुड़ गुड़  
अशोक नागपाल           हुण केड़े थां भाईजी
काजल छाबड़ा             हुण आण लग्या कुरसी दा मजा
सुनील छाबड़ा             कुरसी रो हत्थो
श्रीमती राजेश सिडाना      पार्षदगी रो झमेलो
श्रीमती रजनी मोदी         ठिकाणै लागी नेती
हरबक्सकौर बराड़          नुई नेती 
लालचंद सांखला          लूंठो लालो
अमित भादू                  पांच घी में पांच पालिका में
महेश सेखसरिया         कठै गई मोहर
रमेश माथुर                मस्त मौला
मुरली पारीक             पार्टी री खड़ताल
प्रेमप्रकाश राठौड़          खासा नेड़े हां
गौरव बलाना             बिक्या कोनी
नरेन्द्र घिंटाला ऐकर खुद रा काम
बाबूसिंह खीची           ढिल्या पड़ ग्या पेच
अशोक आसेरी         सुवागत रो नेतो
विजय गोयल हांजी हांजी कोनी होवै
राजेन्द्र तनेजा पूल एंड पुश 
पीताम्बरदत्त शर्मा जुगाड़ री खोज 
शरणपालसिंह जाबक ठंडा भाईजी 
परमजीतसिंह बेदी         पार्षद पति 
एन.डी.सेतिया          चुप एकदम चुप
विष्णु शर्मा                आप में बाप
श्याम मोदी मूरती 
डूंगर राम गेदर           कागजी शेर
परसराम भाटिया नुंआ गोडा करसी कमाल
गुरदर्शनसिंह सोढ़ी        लगोतार खेल खत्म
वली मोहम्मद               महाराजा
इकबाल कुरैशी               प्रिंस
बनवारीलाल  मेघवाल     बाबो भली करसी
संजय धुआ     बेली होयो एपीओ
पी.के.मिश्रा                  लैटरबाजी
लक्ष्मण शर्मा    रेल रो लाल
मदन औझा सीट रो सीटू
महावीर भोजक         बडो वीर कनै कोनी तीर
ओम पुरोहित नांव रो शेर
प्रवीण अरोड़ा नं एक
राजकुमार अग्रवाल         मिर्च मसाला
सुशील जेतली             अब कठै जाऊं
महावीर सैनी   शिखर री सेनाणी
रामचन्द्र पोटलिया        अफसरी अर नेतागिरी
फकीर चंद शर्मा          तहसील हीरा मोती आळी         
मोहम्मद आयूब           जै हुंती गस्त 
नारायणसिंह भाटी        कुणसे लोक बजाओ तंबूरो
प्रवीण भाटिया            रंग महल मांय रंग
दिलात्मप्रकाश जैन अब दिल खुश
घनश्याम शर्मा आच्छौ लगावै चंदण
सुखवंत:संदीप डांग नुंवो ब्यौपार
रवि खुराना पीवो पावणा
बीरबल सैनी सूखो बाग

साहित्यकार
मनोज स्वामी सगळां री खेचळ
हरिमोहन रूंख           रूंख पर चिड़कली
परमानन्द दर्द टुकड़ा टुकड़ा शायरी
राजेश चड्ढा               चढायां बाद खुलै गळौ
रामेश्वर दयाल तिवाड़ी प्रभो 
नन्दकिशोर सोमाणी ईब कीं डील बण्यौ
साहबराम स्वामी          बैठ्यौ करै कुचरणी


खबरां रा धणी

करणीदानसिंह राजपूत दादो खबरां रो 
हरिमोहन सारस्वत        कागद सूं मार लटका देवै
जितेन्द्र                  हंसणै सूं मिलसी वरदान
हनुमंत गळतियां रो सिणगार
ब्रह्मप्रकाश राजा री झूठ कोनी चलाऊं
मनोज स्वामी भोळै री चाल
मालचंद जैन             नेड़े आळै नै करै दे चित
राजेन्द्र पटावरी कोई चलावै जणा चालै
विजय स्वामी             हूं इयां कर्यौ हूं बींया कर्यौ
प्रवीण जैन राम मिलाई जोड़ी
शिव सारड़ा हर हर भर भर 
नवल भोजक भाटा भिड़ावणे रो उस्ताद
सुभाष राजपूत बांदर कै उस्तरो लाग्यौ
गोविंद भार्गव सच्च फूलगी
राजेन्द्र उपाध्याय          टेम आवण री उडीक
प्रेमसिंह सूर्यवंशी सत्ता रै सागै
महेन्द्र जाटव शिकार नै आच्छौ बींधै
कैलाश सोनी बोलतो अखबार
सुरेन्द्र निराणियां           सींझया री भाग दौड़
कृष्ण सोनी आजाद    ललकार  
विनय तिवाड़ी             गळै सूं नीचे उतरते होवै एक्टिव
आशा शर्मा                सोमवार री मार

डाक्टरां रो टोळौ
मनोज अग्रवाल            होश में आवैगी बेहोशी
विजय भादू विजय रथ
जितेन्द्र बोभिया           सगळा साथी
राजेन्द्र छाबड़ा खनै राखी छाबड़ी
के.एल.बंसल             मीठा बोल आछो तोल
पर्वतसिंह                गळी मांय गुम
जी.डी.शर्मा जी लगार काटै
अक्षय भंसाली             दुगणो दिखादै
इन्द्र चुघ टाबरां रो धणी
राहुल छाबड़ा              नुंवो पण सांतरो
विजय अरोड़ा             राम राम सा
अरविंद बंसल             मार्केट मंदी में
जे.एम.डे.                  अच्छे दिन अच्छी रात
विशाल छाबड़ा             तीखे दांत
अनिल पैंसिया              दांतों का बरमा
हरप्रीतसिंह                 सबसे प्रीत
सतीष मिश्रा                होम्यौ मिश्री 
रतनलाल जोशी              चूरण 
-----
ललित सिडाना             ब्यौपारियां रो भलौ चिंतक
दर्शन भगत परनामी        भगती
रायचंद डागा              उपाधियां रो भंडार

No comments:

Post a Comment

Search This Blog