गुरुवार, 7 जनवरी 2021

राष्ट्रीय, राज्य और क्षेत्रीय राजनैतिक दल कौनसे हैं? यह कैसे तय होता है? महत्वपूर्ण जानकारी

 

* प्रस्तुति - करणीदानसिंह राजपूत*

भारत में फिलहाल तीन तरह की राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय और क्षेत्रीय पार्टियां हैं। इस समय देश में कुल सात राष्ट्रीय पार्टियां हैं। 35 राज्य स्तरीय दल हैं और 329 क्षेत्रीय दल हैं। 

👍 राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा पाने के लिए कुछ शर्तें हैं। इसके तहत तीन शर्तें तय हैं, जिनमें कम के कम एक शर्त पूरा करने पर किसी पार्टी को राष्ट्रीय होने का दर्जा मिलता है।


*पहली शर्त है कि कोई पार्टी तीन राज्यों के लोकसभा चुनाव में कम से कम 2 प्रतिशत सीटें जीती हो। 

**दूसरी शर्त यह है कि कम से कम चार लोकसभा सीटों के अलावा पार्टी लोकसभा या विधानसभा चुनाव में छह प्रतिशत मत पाए हों। ***तीसरी शर्त यह है कि पार्टी की चार या इससे अधिक राज्यों में क्षेत्रीय पार्टी के रूप में मान्यता हो। इन तीन शर्तों में जो पार्टी एक भी शर्त पूरा करती है उसे राष्ट्रीय पार्टी का स्तर मिल जाता है।


👍 राज्यस्तरीय पार्टी का स्तर पाने के लिए भी तीन शर्तें हैं। 

* पार्टी राज्य विधानसभा की कुल सीटों में तीन प्रतिशत सीटें या कम से कम तीन सीटें जीते। **लोकसभा या विधानसभा चुनाव में कुल वैध वोटों में 6 प्रतिशत वोट प्राप्त करे। 

**साथ ही एक लोकसभा सीट या दो विधानसभा सीटें जीते। इनमें से किसी एक शर्त को पूरा कर कोई पार्टी राज्य स्तरीय दल का दर्जा पा सकती है। 

👍कोई पार्टी किसी राज्य में लोकसभा या विधानसभा चुनाव में भले ही कोई सीट न जीते लेकिन कुल वैध मतों में कम से कम 8 प्रतिशत वोट प्राप्त करे तब भी उसे क्षेत्रीय दल का दर्ज दिया जाता है।00

*****








कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें