शुक्रवार, 12 जून 2020

भाजपा नेता पूर्व विधायक राजेंद्र भादू व दो भाईयों के सीज शापिंग काम्पलेक्स की पुनः नापजोख .रिपोर्ट डीडीआर को पेश होगी.


* करणीदान सिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 12 जून 2020.
भाजपा नेता पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह भादू और उनके दो भाइयों देवेंद्र व रविंद्र का शहर के मुख्य बाजार में निर्माणाधीन विशाल कटला (शॉपिंग कांप्लेक्स) का आज पुनः नापजोख किया गया। नगर परिषद श्रीगंगानगर के नगर नियोजक सहायक फरसा राम बिश्नोई ने नापजोख किया। नगर पालिका के एईएन सुमित माथुर और भूमि शाखा के लिपिक रामप्रकाश भी नाप जोख कराने में शामिल थे।

नगरपालिका ने यह कटला छ माह पहले 13 दिसंबर 2019 को सीज किया था जिसमें 6 माह तक की अवधि नोटिसों पर लिखी थी।
सील करते वक्त तीनों भाईयों के नाम से अलग अलग नोटिस कटले पर चिपकाए गए थे।
नगरपालिका ने यह प्रकरण। स्वायत्त शासन के बीकानेर स्थित उपनिदेशक को पेश कर दिया।
उपनिदेशक के समक्ष राजेंद्रसिंह भादू व दोनों भाईयों की ओर से अपना पक्ष पेश किया गया जिसमें पालिका सूरतगढ़ के बजाय किसी अन्य एजेंसी से नाप आदि करवाने की मांग की गई थी।
उपनिदेशक ने कुछ दिन पहले नगरपालिका को अन्य से नापजोख कराने का निर्देश दिया। इस निर्देश पर पहले यूआईटी श्रीगंगानगर को लिखा गया।वहां से इन्कार के बाद यह कार्य नगर परिषद श्रीगंगानगर से करवाया गया है। यह रिपोर्ट उपनिदेशक को सौंपी जाएगी। इसके बाद उपनिदेशक निर्णय करेंगे।
नगरपालिका के तत्कालीन ईओ लालचंद सांखला ने निर्माण स्वीकृति के अनुसार निर्माण नहीं करने का आरोप लगाते हुए कटले को सीज किया था। शिकायतें थी कि तीनों भाईयों की तीन अलग अलग निर्माण स्वीकृति थी और अलग अलग तीन निर्माण करने के बजाय एकल विशाल निर्माण कर लिया गया। कटला लगभग पूर्णता के अंतिम चरण में था तब सीलमोहर लगा कर सीज कर दिया गया था। विशाल कटले के कुल तीन तल हैं। दो तल ऊपर और एक भूतल के नीचे है।



%% पाठकों की जानकारी ताजा करने के लिए सीज के समय का समाचार यहां दिया जा रहा है।%%

सूरतगढ़ 13 दिसंबर 2019.
नगर पालिका सूरतगढ़ की ओर से आज दोपहर बाद पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह भादू और उनके दो भाइयों देवेंद्र और रविंद्र द्वारा बनाया जा रहा कटला सील मोहर के साथ 6 माह के लिए सीज कर दिया गया।
अधिशासी अधिकारी लालचंद सांखला के नेतृत्व में नगरपालिका अधिकारियों व कर्मचारियों का बड़ा दल आज कार्यवाही के लिए पहुंचा।
 अधिशासी अधिकारी एवं प्राधिकृत अधिकारी लालचंद सांखला के निर्देशन में एक लंबी रस्सी ताले लगाए जाने वाले स्थानों को लपेटते हुई सभी सटरों के साथ बांधी गई और बाद में चपड़ी मोहर करके और जब्ती की कार्यवाही की गई।
 नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी की ओर से तीनों भाइयों के नाम से निर्माणाधीन कटले पर नोटिस चिपकाए गए हैं। उनमें लिखा गया है कि मानचित्र के अनुसार निर्माण नहीं हुआ। 
यह जानते हुए सीज की यह कार्यवाही नगरपालिका की ओर से की गई है। नगरपालिका की कार्रवाई के समय कार्यवाही की रिकॉर्डिंग और फोटोग्राफी के लिए समाचार पत्रों से चैनल से जुड़े हुए पत्रकार और कैमरामैन मौके पर पहुंच गए। लालचंद सांखला के बयान भी लिए गए जिसमें उन्होंने कहा कि सभी कार्यवाही नियमानुसार की गई है।  पूर्व में नोटिस दिये गये और अवैध निर्माण रोका नहीं गया तब नगरपालिका ने नियमानुसार कार्रवाई की है।
 कार्रवाई के समय उत्सुकता से भारी भीड़ इकट्ठे हो गई थी जो काफी देर तक वहां जमी भी रही।
भादू सूरतगढ़ की राजनीति में अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं इसलिए पालिका की इस कार्यवाही  पर जनता की ओर से आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा था,और कहां जा रहा था कि समय समय की बात है  जो पालिका ने इतने बड़े नेता पर हाथ डाला है। राजेंद्र सिंह भादू 2013 से 18 तक सूरतगढ़ से भाजपा टिकट पर जीते विधायक रहे हैं। भादू राज में नगरपालिका में भाजपा का बोर्ड रहा व काजल छाबड़ा अध्यक्ष रहीं।अब कांग्रेस का बोर्ड है तथा 2 दिसंबर को ही ओमप्रकाश कालवा ने अध्यक्ष पद पर कार्य शुरू किया है।
समझा जा रहा है कि राजेंद्र सिंह भादू व भाइयों की ओर से नगरपालिका की कार्यवाही के बाद अब अदालत का सहारा लिया जाएगा।**



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें