Sunday, April 9, 2017

शराब से पिशाचों की फौज बढ़ रही है


शराब से पिशाचों की बढ़ रही है फौज -  संत नरसिंह दास जी


संपूर्ण शराब बंदी से ही प्रदेश होगा सुखी - पूनम अंकुर छाबड़ा



जयपुर।

       पिंजरापोल गोशाला टौंक रोड पर आयोजित श्री रामकथा  में व्यास पीठ को सुशोभित करते संतश्री 1008 श्री महामंडलेश्वर सिद्ध श्री बाबा श्री नरसिंह दास जी महाराज (अयोध्या) ने कहा की पूरे देश प्रदेश में धर्म का ह्रास हो रहा है और पिशाचों की संख्या बढ़ रही है। इन सब की गुनहगार शराब है ।

सरकार को आम जन के हित के लिए अपने लालच को त्याग करके शराब रुपी दानव का अंत करना होगा तभी देश प्रदेश में सुखमय वातावरण निर्मित होगा। संत श्री ने आशीर्वाद देते हुए कहा की समाज के हित के लिए निस्वार्थ रूप से जो कार्य पूनम अंकुर छाबड़ा जी कर रही हैं यह अतुलनीय है और ऎसे बिरले ही लोग होते हैं जो अपना सब कुछ समाज हितार्थ कार्यो को समर्पित करते हैं।आपके वंदनीय कार्यो के लिए साधुवाद और संत समाज आम जन के साथ सरकार से आव्हान करता है की शराब रुपी दानव का अंत कर सभ्य समाज की रचना करे ।


   इस अवसर पर आमंत्रित अतिथी जस्टिस फॉर छाबड़ा जी संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष​ पूनम अंकुर छाबड़ा ने कहा की संतों के आशीर्वाद और उनके मार्गदर्शन से ही सम्पूर्ण शराब बंदी होगी।

हम लगातार आम जन के बीच शराब और नशे के दुस्प्रभावों को बता कर जन जागृति का प्रयास कर रहे हैं।  सरकार  तक भी शराब बंदी की अपनी मांग को पंहुचा रहे हैं। आज पूरे प्रदेश का हर वर्ग शराब बंदी आंदोलन के साथ उठ खड़ा हुआ है और जब तक प्रदेश शराब रुपी दानव से मुक्त नहीं होगा तब तक हम आन्दोलनरत रहेंगे।


     कथा आयोजकों ने इस अवसर पर शराब बंदी आन्दोलन की राष्ट्रीय अध्य्क्ष पूनम अंकुर छाबड़ा का दुपट्टा ओढ़ाकर बहुमान किया साथ ही उपस्तिथ जन समहु ने नशा मुक्ति का संकल्प लेकर आन्दोलन में पूरा सहयोग का वादा किया पूरा पण्डाल शराब बंदी के अमर बलिदानी शहिद श्री गुरुशरण जी छाबड़ा और गो माता के जयकारों से गूँज उठा ।

पूनम अंकुर छाबड़ा ने कहा कि शराब व्यापारी द्वारा महिलाओं के साथ जो अभद्रता की,उनके शांति पूर्ण धरने को हिंसा करके महिलाओं के हक़ को छीना वह लोकतन्त्र की हत्या है।



No comments:

Post a Comment

Search This Blog