शुक्रवार, 23 जुलाई 2021

रेल विकास संघर्ष समिति द्वारा रेलों के श्रीगंगानगर,सूरतगढ़,अनूपगढ़ तक विस्तार की मांग: सूरतगढ़ प्लेटफार्मों बाबत महाप्रबंधक को ज्ञापन:विशेष रिपोर्ट

 



* करणीदानसिंह राजपूत *


सूरतगढ़ 23 जुलाई 2021.


रेल विकास संघर्ष समिति ने रेलों के श्री गंगानगर,सूरतगढ़,अनूपगढ़ तक विस्तार व सूरतगढ़ प्लेटफार्मों पर स्वचालित सीढियों बाबत महाप्रबंधक के नाम एक ज्ञापन यहां स्टेशन अधीक्षक राजसिंह शेखावत को सौंपा।


* ज्ञापन के माध्यम से प्लेटफार्म नंबर  2 - 3  पर स्वचालित सीढ़ियां व लिफ्ट लगाई जाने की मांग है जिसके बारे में महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे व मंडल रेल प्रबंधक के 26 फरवरी को सूरतगढ़ आगमन पर मांग की गई थी,जिस पर दोनों अधिकारियों ने इस मांग को शीघ्र पूरा करने का आश्वासन दिया था। इस पर आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई।

*सूर्योदयनगरी की तरफ रेलवे स्टेशन सेकंड एंट्री मैं प्रतीक्षालय बना कर शुरू करने जिसके बारे में रेल के दोनों उच्च अधिकारियों द्वारा 26 फरवरी को मौके का निरीक्षण किया गया था।


* सूरतगढ़ रेलवे स्टेशन पर स्थित 11 डिब्बों की वाशिंग लाइन को बढ़ाकर 24 डिब्बों की करने की मांग की गई।

* गाड़ी संख्या 14707 - 14708 रणकपुर एक्सप्रेस बीकानेर बांद्रा का विस्तार सूरतगढ़ गंगानगर तक करने।

* गाड़ी संख्या 9747 - 48 अनूपगढ़ वाया सूरतगढ़ बठिंडा पैसेंजर शीघ्र शुरू करने।

* गाड़ी संख्या 14041 - 14042 मंसूरी एक्सप्रेस देहरादून से दिल्ली तक का विस्तार सूरतगढ़  होते अनूपगढ़ तक करने की मांग की गई।

इन गाड़ियों के शुरू होने से अनूपगढ़ से हरिद्वार व अनूपगढ़ से वाया सूरतगढ़ दिल्ली आने जाने के लिए,अनूपगढ़ श्री बिजयनगर सूरतगढ़ सहित अन्य मंडियों के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। इससे रेलवे का राजस्व भी बढ़ेगा।


 ज्ञापन देने में संघर्ष समिति अध्यक्ष अमित कड़वासरा,संगठन सचिव मास्टर रामप्रताप खोरवाल,प्रवक्ता हेमंत चांडक,एडवोकेट ललित किशोर शर्मा,संजय शर्मा,पार्षद सुरेंद्र  टॉक, जसराम टाक,भंवर बारिया,हरनेक सिंह मान भवानी शंकर भोजक, रामस्वरूप खोरवाल समाजसेवी शिव चंद्र शर्मा सहित शहर के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

** रेल विकास संघर्ष समिति का एक प्रतिनिधिमंडल जल्दी ही मंडल रेल प्रबंधक व  महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर से मिलेगा। इन मांगों का उनके सम्मुख पुरजोर उठाकर हल करवाने का प्रयास करेगा जिससे क्षेत्रवासियों को इसका लाभ मिले व रेलवे का राजस्व बढे।०0०











यह ब्लॉग खोजें