बुधवार, 19 मई 2021

तूफान क्या भयंकर-क्या साधारण.सावधान रहें- श्रीगंगानगर जिले में अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारियां

 




* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़/ श्रीगंगानगर 19 मई 2021.

तूफान तोउते के आने की संभावित समय सूचना से पहले की सुबह 19 मई की धूल रंग आकाश की तस्वीरें यहां लगा रहे हैं।

भयंकर चक्रवात में कुछ कमजोरी आने की सूचना है और अब भयंकर से चक्रवात हो गया है। मतलब तूफान हो गया है। लेकिन तूफान का क्या भयंकर होना और न होना। तूफान तो तूफान ही होता है। सो.सावधान रहें। जिला प्रशासन ने एडवाइजरी जारी की है जिसके अनुसार बचाव और सावधानियां शहरों व ग्रामों में बरतें।

चक्रवर्ती तूफान बाबत  श्रीगंगानगर जिले के अधिकारियों को सौंपी गई जिम्मेदारियां

श्रीगंगानगर, 18 मई 2021.

मौसम विज्ञान केन्द्र जयपुर के अनुसार दक्षिण पूर्व अरब सागर से उठे चक्रवर्ती तूफान ताउते तीव्र गति से परिक्रमा कर रहा है, जिससे श्रीगंगानगर जिले के प्रभावित होने की संभावना है। 

जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने तूफान के रेड अलर्ट को देखते हुए विभिन्न अधिकारियोें को जिम्मेदारियां सौंपी है। 



जिला कलक्टर ने जिला पुलिस अधीक्षक श्री राजन दुष्यंत को प्रभारी अधिकारी के रूप में चक्रवात की चेतावनी के तहत राहत एवं बचाव कार्यों के लिये पुलिस, होमगार्ड, आरएसी की प्रशिक्षित कम्पनियों को तैयार रखने एवं एसडीआरएफ व एनडीआरएफ टीमों से समन्वय रखने की जिम्मेदारी सौंपी है।


* न्यास सचिव डाॅ. हरितिमा को प्रभारी एवं विद्युत के अधीक्षण अभियंता श्री जे.एस.पन्नू को सहायक प्रभारी बनाया गया है, जो विद्युत आपूर्ति, आॅक्सीजन प्लांट पर विद्युत व्यवस्था, चक्रवात के उपरांत लाईनों का रखरखाव का कार्य देखेंगे।

* जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अशोक कुमार मीणा को प्रभारी तथा जल संसाधन के अधीक्षण अभियंता श्री धीरज चावला सहित दो अन्य अधिकारियों को सहायक प्रभारी अधिकारी बनाकर ग्रामीण क्षेत्र में चक्रवात के बाद राहत कार्य, जलभराव को खाली कराना, नहरों की व्यवस्था, नहर टुटने पर आवश्यक कार्यवाही का कार्य दिया गया है। 


* जिला आबकारी अधिकारी श्रीमती प्रतिष्ठा पिलानिया को प्रभारी तथा पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता सुमन मनोचा को सहायक प्रभारी बनाकर चक्रवात उपरांत सड़कों से तुरन्त पेड़ उठाना, ग्रीन काॅरिडोर बनाकर आॅक्सीजन वाहनों को पहुंचाने का कार्य सौंपा गया है।

* जिला अस्पताल में बिजली आपूर्ति, दवाओं का स्टाॅक इत्यादि व्यवस्थाओं के लिये एसीईओ श्री मुकेश बारेठ को प्रभारी तथा पीएमओ डाॅ. बलदेव सिंह, डाॅ. पवन सैनी, डाॅ. के.एस.कामरा, डाॅ. सतीश लेघा को सहायक प्रभारी बनाया गया है। 

* श्रीगंगानगर शहर में जल भराव होने पर चिन्हित कर कार्यवाही करना, पम्प सैटों का संचालन, नागरिक सुरक्षा, आगजनी इत्यादि के लिये प्रभारी एसडीएम श्री उम्मेद सिंह तथा नगरपरिषद के अधीशाषी अभियंता श्री मंगत सेतिया, एई श्रीमती सुखपाल कौर तथा कनिष्ठ अभियंता को सहायक नोडल लगाया गया है। 


* डीसीएच में विद्युत आपूर्ति, आॅक्सीजन स्टाॅक, ग्रीन काॅरिडोर के लिये आयुक्त नगरपरिषद को प्रभारी तथा सहायक निदेशक औषधि श्री डी.एस.उप्पल, श्री पंकज जोशी व यातायात प्रभारी कुलदीप सिंह को सहायक नोडल लगाया गया है। 

**सभी सीसीसी में आवश्यक सेवाएं बनाये रखना, चक्रवात में विद्युत बाधित होने पर डीजी सैट से विद्युत व्यवस्था के लिये सीएमएचओ डाॅ. गिरधारी लाल को प्रभारी तथा डाॅ. मुकेश मेहता, डाॅ. हरबंश सिंह, डाॅ. करण आर्य को सहायक नोडल बनाया गया है। 

*चक्रवात से जान माल के नुकसान होने अन्य अधिकारियों को सहयोग के लिये एसडीएम श्री उम्मेद सिंह रतनु को प्रभारी एवं सभी विभागों के खण्ड स्तरीय कार्यालयों के अधिकारियों को सहायक प्रभारी बनाया गया है। 

**मौसम विभाग एवं जिला स्तर से प्राप्त सूचना अलर्ट को प्रिंट मीडिया, सोशल मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया के मार्फत जन-जन तक पहुंचाने के लिये जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी को प्रभारी तथा सहायक जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी श्री रामकुमार पुरोहित को सहायक प्रभारी लगाया गया है। 

----------





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें