सोमवार, 8 फ़रवरी 2021

पीएम अल्पसंख्यक कल्याण कार्यक्रम. जरूरतमंद नागरिकों के प्रति संवेदनशीलता दिखाई जाए।

 


श्रीगंगानगर, 8 फरवरी2021.

 जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा ने कहा कि अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिये प्रधानमंत्री जी के नये 15 सूत्री कार्यक्रम की क्रियान्विति के साथ-साथ संबंधित विभाग इस बात का ध्यान रखे कि अल्पसंख्यकों के कल्याण कार्यक्रमों में निर्धारित उपलब्धि 15 प्रतिशत से अधिक रहनी चाहिए। 

जिला कलक्टर श्री वर्मा सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाहाॅल में प्रधानमंत्री जी के नये 15 सूत्री कार्यक्रम की त्रैमासिक समीक्षात्मक बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यकों हेतु शिक्षा में अवसरों को बढ़ाना, उनका जीवन स्तर सुधारना, मौजूदा नई योजनाओं के माध्यम से आर्थिक गतिविधियों व रोजगार में अल्पसंख्यकों के लिये समान हिस्सेदारी सुनिश्चित करना, साम्प्रदायिक असामजस्य तथा हिंसा पर नियंत्रण व रोकथाम करना है। 

जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने बताया कि जिले में महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों में 1918 कार्यकर्ताओं में से 423 अल्पसंख्यक समुदाय के हैं जो 22.54 प्रतिशत है। 1781 सहायिका में से 305 अल्पसंख्यक, 1769 आशा सहयोगिनी में से 376 अल्पसंख्यक समुदाय से है, जो 21.24 प्रतिशत है। इसी प्रकार 1974 आंगनबाड़ी केन्द्रों में से 548 अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र में है, जो 27.76 प्रतिशत है। आंगनबाड़ी केन्द्रों में 77735 बच्चों में से अल्पसंख्यक समुदाय के 11473 बच्चें है। 

बैठक में बताया कि विद्यालय शिक्षा सुधार के अंतर्गत जिले में 1434 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में से 275 विद्यालय अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र में है। जिनमें 69108 अध्ययनरत विद्यार्थियों में से 14657 विधार्थी अल्पसंख्यक समुदाय से है। जिले में दो कस्तुरबा गांधी विद्यालयों में 165 विद्यार्थी नामांकित है, जिनमें 31 विद्यार्थी अल्पसंख्यक समुदाय से है। इसी प्रकार माध्यमिक शिक्षा में 101 माध्यमिक व 382 उच्च माध्यमिक विद्यालयों में से 15 माध्यमिक व 87 उच्च माध्यमिक विद्यालय अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र में है, जो कुल का 21 प्रतिशत है। इन विद्यालयों में 46139 विद्यार्थी अल्पसंख्यक समुदाय के अध्ययनरत है।

प्रधानमंत्राी जन विकास कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में रायसिंहनगर, घडसाना व अनूपगढ़ ब्लाॅक में 57 विद्यालयों में 84 अतिरिक्त कक्षा कक्षों के निर्माण के लिये 7 करोड़ 56 लाख रूपये की राशि स्वीकृत हुई है, 40 कक्षों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिले में 6 पंजीकृत मदरसे संचालित है, जिसमें कुल 364 विधार्थी अध्ययनरत है। आदर्श मदरसा योजना में जिले का एक मदरसा सरदारगढ़ में  संचालित है। 

अल्पसंख्यक समुदाय के विधार्थियों को छात्रवृति अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा पात्र विद्यार्थियों के बैंक खाते में सीधे ही स्थानांतरित की जायेगी। प्री-मेट्रिक छात्रवृति के लिये 5118 नवीन व 6873 नवीनीकरण आवेदन प्राप्त हुए है। पोस्ट मेट्रिक छात्रवृति व मेरिट कम मीन्स छात्रवृति के आवेदन हेतु 2796 नवीन व 1056 नवीनीकरण हेतु आवेदन प्राप्त हुए है। प्रधानमंत्री आवास योजना में 213 आवास अल्पसंख्यक समुदाय को दिये गये है। नगरपरिषद द्वारा एसएचजी योजना में 80 लाभार्थियों मे 59 अल्पसंख्यक समुदाय के है। 

इसी प्रकार आईटीआई में 667, पाॅलीटेक्निक में 39, आरएसएलडीसी में 102 अल्पसंख्यक समुदाय से है। जिला कलक्टर ने आरएसएलडीसी द्वारा दिये जाने वाले प्रशिक्षण में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने पर जोर दिया। उधोग केन्द्र द्वारा 5 अल्पसंख्यकों को लाभान्वित किया गया है, उधान विभाग द्वारा 24 लाभार्थियों को, सोलर पम्प सेट में 59 को लाभान्वित किया गया। लीड बैंक द्वारा 2549.93 लाख के ऋण उपलब्ध करवाये गये, जिनमें 916.03 लाख के ऋण अल्पसंख्यक समुदाय से है, जो 35.92 प्रतिशत है। राजीविका में 93 को लाभान्वित कर 84 लाख की राशि आवंटित की गई। कृषि विभाग द्वारा 5031 अल्पसंख्यकों को विभिन्न योजनाओं में लाभान्वित किया गया। 

बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री मुकेश बारेठ, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी हसन आरिफ जैदी, उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री हरीश मित्तल, एलडीएम श्री सतीश जैन, राजीविका के जिला समन्वयक श्री चन्द्र शेखर, श्री गोपाल खड़गावत, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रचना मिढा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।00

-----------




 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें