सोमवार, 15 फ़रवरी 2021

सूरतगढ़ थर्मल की निविदाओं में भ्रष्टाचार का आरोप- दोषी अधिकारियों पर कार्वाई वास्ते मुख्यमंत्री व ऊर्जा मंत्री व सीएमडी को पत्र

 

* करणीदानसिंह राजपूत*

सूरतगढ़ 15 फरवरी 2021.


राजस्थान विद्युत उत्पादन मजदूर यूनियन इंटक के महामंत्री श्याम सुंदर शर्मा ने मुख्यमंत्री सहित ऊर्जामंत्री व राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम के अध्यक्ष एवम प्रबन्ध निदेशक को ज्ञापन देकर सूरतगढ़ थर्मल की निविदाओं में भ्रष्टाचार की शिकायत की है।


उन्होंने अपने ज्ञापन में लिखा है कि सूरतगढ़ थर्मल की निविदाओं में थर्मल के अधिकारी अपनी चहेती फर्म को शामिल करने के लिए निविदाओं की PQR(पूर्व आवश्यक योग्यता) को बदलने की शिकायत संगठन द्वारा बार-बार की गई है। लेकिन थर्मल के अधिकारियों ने फिर भी अपनी चहेती फर्मो को कार्य आदेश दे रहे थे लेकिन अभी हाल ही में प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं द्वितीय अपील अधिकारी द्वारा थर्मल की कोल हेंडलीग प्लांट की निविदा संख्या 2590 की PQR मे स्थानीय स्तर पर किए गए बदलाव के कारण निरस्त करने के आदेश जारी किए है निरस्त की गई फर्म ने निरस्त होने से पहले लगभग चार माह अधिकारियों के मेहरवानी से कार्य किया लेकिन अभी भी विभाग द्वारा PQR को बदलने वाले दोषी अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नही की गई है।


जिसका सीधा सीधा अर्थ है कि स्थानीय अधिकारियों ने अपनी चहेती फर्म को फायदा पहुंचाने के लिए कोल हैंडलिंग प्लांट की निविदा की PQR में बदलाव किये थे।


उन्होंने लिखा है कि अब चूंकि राजस्थान के प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं द्वितीय अपील अधिकारी द्वारा निविदा को निरस्त करने के आदेश जारी किए जाने के बाद इंटक  द्वारा लगाए गये भ्रष्टाचार के सभी आरोप सिद्ध हो जाते है।


 द्वितीय अपील अधिकारी द्वारा कोल हैंडलिंग प्लांट की निविदा संख्या 2590 को  निरस्त करने  के आदेश को  ध्यान में रखते हुए दोषी अधिकारियों तथा तत्कालीन कारखाना मैनेजर पर विभागीय दंडात्मक कार्रवाई की जाये। ताकि भविष्य में इस तरह के भ्रष्टाचार की पुनरावर्ती न हो।00

*****







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें