शनिवार, 29 अगस्त 2020

राजस्थान में रेप और महिला अत्याचार बढे -भाजपा सांसद ने ट्वीट किए-अशोक गहलोत सरकार फेल बताई



* करणीदानसिंह राजपूत *


अशोक गहलोत और सचिन पायलट का विवाद थम गया है और हाल ही में विश्वास मत से सरकार जीतकर बच भी गई है लेकिन अनेक आरोपों में तीर चल रहे हैं।

राजस्थान के दौसा से भाजपा सांसद जसकौर मीणा ने राज्य के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ जमकर हमला बोला है।

सांसद जसकौर मीणा ने राज्य के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ 83 ट्वीट किए। मीणा ने गहलोत पर हमला करते हुए 15 मिनट में अपने आधिकारिक ट्विटर अकॉउंट से 83 ट्वीट किए हैं जो शनिवार 29 अगस्त को चर्चाए आम बन गए हैं।


 सांसद जसकौर मीणा ने लगभग सभी ट्वीट्स में हैश टैग ‘गहलोत सरकार होश में आओ’ का उपयोग किया।

मीणा के ज़्यादातर ट्वीट्स महिला अत्याचारों से जुड़े हुए रहे। इसके अलावा पानी-बिजली-रोज़गार सहित अन्य कई मुद्दों पर उन्होंने सरकार पर निशाना साधा। 

उन्होने गहलोत सरकार पर हमला करते हुए लिखा “अपना काम बनता, भाड़ में जाए जनता।” इसके अलावा सांसद ने प्रदेश में बढ़ते महिला अपराधों पर चिंता जताते हुए कई ट्वीट्स किये। उन्होंने लिखा, ‘प्रदेश में बढ़ रही बलात्कार की घटनाएं और अपराध सरकार के लिए बनी भारी चुनौती प्रदेश में कांग्रेस सरकार हुई फेल!!”


एक ट्वीट में राहुल और प्रियंका गांधी पर भी निशाना साधा गया। मीणा ने लिखा “UP के दलित दलित हैं लेकिन कांग्रेस शासित राजस्थान में दलितों पर अत्याचार चरम पर है बलात्कार रेप हत्याएं हो रही हैं। लेकिन वह राजस्थान में दलितों पर  हो रहे अत्याचारों पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी चुप क्यों है? क्या राजस्थान के दलित नहीं है?

राजस्थान में बिजली बिलों पर भी सांसद ने निशाना साधा है। 

उन्होने लिखा “राज्य में बिजली के बिल करंट मार रहें है , सरचार्ज में बढ़ोतरी से राज्य की जनता प्रताड़ित है, अतिरिक्त फ्यूल चार्ज से जनता परेशान है और सरकार अपनी तानाशाही में मस्त है। बिजली के बिल माफ करो, जनता के साथ इंसाफ करो।”

सांसद ने कहा सरकार ना केवल आम व्यक्ति को बोझ दे रही है बल्कि प्रदेश के औद्योगिक कारखानो को बंद करने के कगार पर ला रही है। उन्होंने सरकार को हर मोर्चे पर विफल करार दिया। मीणा ने लिखा “देश का सबसे महंगा डीजल राजस्थान में .. हर जरूरी वस्तुओं के टैक्स बढ़ाकर जनता को लूटने में नंबर 1 राजस्थान सरकार .. राजस्थान त्रस्त है दुखदायक जी।”

उन्होने कहा कि सरकार की नीतियों के खिलाफ भाजपा के कार्यकर्ता आवाज़ उठाएंगे। मीणा ने ट्वीट कर लिखा “राजस्थान सरकार के खिलाफ जनहित के मुद्दों को लेकर प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ 28 अगस्त 2020 से 4 सिंतबर 2020 तक भाजपा के कार्यकर्ता उठाएंगे जनता की आवाज।”

राजस्थान की सरकार के रवैये से परेशान जनता को सांसद मीणा द्वारा की गई खिंचाई से खुशी मिली है वहीं जनता भी इन मुद्दों पर सरकार से जवाब मांगने को आगे आ सकती है। सांसद के आरोपों से सरकार कंडम साबित हो रही है।००


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें