मंगलवार, 25 अगस्त 2020

कार्यस्थलों पर मास्क व सेनेटराईजेशन हर वक्त जरूरी- नियमों का पालन न करने वालों के खिलाफ करें सख्तीः जिला कलक्टर


* करणीदानसिंह राजपूत* 


श्रीगंगानगर, 25 अगस्त 2020. कोविड-19 के दौरान कानून व्यवस्था एवं राज्य सरकार द्वारा जारी एडवाईजरी का पालन न करने वालों के खिलाफ नियमानुसार चालान कार्यान्वित करने के लिए जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा की अध्यक्षता में मंगलवार को जिला कलेक्ट्रेट के वीसी कक्ष में बैठक सम्पन्न हुई।

जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा ने कहा कि पिछले एक महीने से श्रीगंगानगर जिले में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे है और चिंताजनक स्थिति पैदा हो गई है।

 राजस्थान के मुख्य सचिव श्री राजीव स्वरूप के निर्देशानुसार विशेष चालान अभियान पूर्व में 15 दिन चला था। वर्तमान स्थिति को देखते हुए व जिले को पुनः बेहतर स्थिति तक पहुंचाने के लिये इस अभियान का चलाया जाना अतिआवश्यक है।

  श्री वर्मा ने कहा कि श्रीगंगानगर जिले में आमजन को जागरूक करने के बावजूद यदि मास्क लगाने व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना गंभीरतापूर्वक नहीं की जाती है तो ऐसी स्थिति में एक मात्र उपाय है कि उस व्यक्ति/संस्था/कार्यालय/विभाग का चालान करें अथवा नियमानुसार दण्डित किया जाये। 

 पूर्व में 15 दिन के इस अभियान में श्रीगंगानगर जिला पूरे राज्य में दूसरे स्थान पर रहा व जिन अधिकारियों ने गंभीरतापूर्वक कार्य किया व सख्ती से नियमों की पालना करवाई, वे साधुवाद के पात्र हैं। जिन अधिकारियों का प्रदर्शन कमतर रहा, उन्हें इस अभियान में बेहतर प्रदर्शन कर दिखाना होगा।

पुलिस अधीक्षक श्री राजन दुष्यंत ने कहा कि पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर लाॅकडाउन के प्रथम दिवस से ही लगातार कार्य कर रही है व जनता से कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग की पूर्ण पालना करवा रही है। कोरोना केसेज बढ़ रहे हैं अतः यह अभियान वापस प्रारम्भ किया जा रहा है, जिसमें नियमों की पालना ना करने वालों पर सख्ती करनी होगी। सभी एसडीओ व बीडीओ मुख्य कस्बों/कस्बों का दौरा करें और गंभीरतापूर्वक राज्य सरकार के निर्देशों की पालना करवायें। उन्होंने कहा कि कोरोना की भयावह स्थिति ना बने व एक महीने पूर्व जिला जिस स्थिति में था, उसी स्थिति में वापस लाना पुलिस व प्रशासन के साथ समस्त जनता के लिये भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जिला कलक्टर द्वारा दिये गये सभी निर्देशों की पालना आज से ही एसडीओ व बीडीओ मिलकर सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रशाासन व पुलिस हर समय उपलब्ध रहेगी व कानून व्यवस्था की पालना कराने के लिये अन्य किसी भी विभाग या अधिकृत व्यक्ति को आवश्यक रूप से त्वरित सहायता प्रदान की जायेगी।

सीएमएचओ डाॅ. गिरधारी लाल मेहरड़ा ने कहा कि प्राईमरी व क्लोज कोंटेक्ट दस दिन तक अवश्य होम क्वारेंटीन की पालना करें। यदि वे इसका उल्लंघन करते हैं तो उन पर नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि कोरोना केसेज ज्यादा आने पर यदि हाॅटस्पाॅट या कलस्टर बनता है, तो तुरन्त कंटेनमेंट जोन बनाएं व वहां जीरो मोबिलिटी रखें। मास्क अवश्य तीन लेयर का पहनें या सर्जिकल मास्क का उपयोग करें। पार्कों व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर योग, वाॅक व अनावश्यक भीड़ एकत्रित न करें। समस्त कार्यालय प्रतिदिन सेनेटाईजेशन आवश्यक करें।

जिला कलक्टर श्री वर्मा ने कहा कि इस अभियान की माॅनिटंरिंग प्रतिदिन एसडीओ करेंगे व उल्लंघन करने वालों पर आगामी 15 दिवस में कार्यवाही तुरन्त कर प्रतिदिन सूचना विभागवार जिला कलक्टर को देंगे।

अतिरिक्त जिला कलक्टर सर्तकता श्री अरविन्द जाखड़ ने सभी अधिकारियों को कहा कि वे अपने क्षेत्रों में सार्वजनिक स्थल पर शराब पीनें, गुटखा, पान खाकर थूकनें, शादी समारोह में भीड़ होने पर, लोक परिवहन साधनों में मास्क का उपयेाग ना करने पर व कार्यस्थलों पर मास्क व सेनेटाईजेशन ना होने पर जीए55 के तहत रसीद काटकर व राजस्थान महामारी अधिनियम के तहत दण्ड प्रावधानों के अनुसार कार्यवाही करें।

वीसी में यूआईटी सचिव डाॅ. हरितिमा, नगरपरिषद आयुक्त प्रियंका बुडानिया तथा  समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायाब तहसीलदार, नगरपालिका ईओ, सीएमसी गंगानगर, समस्त विकास अधिकारी, बीसीएमओ, मंडी सचिव, एसआरएम रिको, जीएम डीआईसी, डीटीओ, उपपुलिस अधीक्षक सहित अन्य महत्वपूर्ण विभागों के अधिकारी वीसी के माध्यम से मौजूद रहे। 




------------



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें