शनिवार, 4 जुलाई 2020

रेलगाड़ियां चलाने की मांग :सूरतगढ़ स्टेशन पर धरना: रेलवे बोर्ड को मंजूरी के लिए भेजी हुई है-


 *करणीदानसिंह राजपूत*

 सूरतगढ़,4 जुलाई।


विभिन्न राजनैतिक सामाजिक संगठनों से जुड़े हुए चुनिंदा नेताओं कार्यकर्ताओं की ओर से  कोरोना लाकडाउन के चक्कर में बंद की गई रेलों को शुरू करने की मांग को लेकर

सूरतगढ़ स्टेशन के आगे आज धरना लगाया गया। रेलवे प्रशासन को एक चेतावनी पत्र 27 जून को दिया गया था जिसमें धरने की चेतावनी दी गई थी।

रेलवेस्टेशन के प्रशासन ने वार्तालाप में कहा कि रेलवे बोर्ड को स्वीकृति के लिए सूची भेजी हुई है। वहां से आदेश आते ही ट्रेनों को शुरू कर दिया जाएगा। प्रशासन ने बताया कि रेलवे 45 गाड़ियां चलाना चाहता है। 


नागरिकों की ओर से दिए मांग पत्र में श्री गंगानगर हनुमानगढ़ सूरतगढ़ क्षेत्र में चलने वाली पैसेंजर और एक्सप्रेस गाड़ियों का तथा दूरस्थ जाने वाली सूरतगढ़ को क्रॉस करने वाली एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का भी हवाला दिया गया है। गाड़ियों के नंबर दिए गए थे जिनके चलाने की मांग की गई है।

 यह गाड़ियां श्री गंगानगर हनुमानगढ़ और सीमा क्षेत्र के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। 

इन गाड़ियों में बाड़मेर हरिद्वार लिंक एक्सप्रेस, हनुमानगढ़ कोटा सुपरफास्ट,अहमदाबाद जम्मू तव्वी,अवध असम ( लालगढ़ से डिब्रुगढ़,) ट्रेनें हैं।

यह धरना बलराम वर्मा कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष के नेतृत्व में लगाया गया। पूर्व प्रधान साहबराम पूनिया, पूर्व प्रधानहरिराम मेघवाल, पूर्व उप प्रधान कृष्ण गोदारा, अमित कड़वासरा, एडवोकेट ललित किशोर शर्मा,बसपा नेता अमित कल्याणा, पार्षद प्रियंका कल्याणा,भामाशाह कृष्ण श्योराण,

नौरंगसिंह राजपूत,विमलसिंह

 राजपूत,रामप्रताप खोरवाल आदि थे।

००००००



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें