बुधवार, 22 जुलाई 2020

बरसाती मौसम में चिकित्सा विभाग हनुमानगढ़ ने की आवश्यक तैयारियां


हनुमानगढ़। 21 जुलाई, 2020.

 जिले में बरसात के मौसम को देखते हुए चिकित्सा विभाग ने समस्त चिकित्सा संस्थानों में आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश जारी किए हैं। इसके अलावा जलजनित एवं मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए चिकित्सा संस्थान को भी अपने-अपने क्षेत्रों में बचाव, उपचार एवं रोकथाम के लिए भी तैयार रहने के निर्देश दिए हैं। समस्त मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टॉफ को मुख्यालय नहीं छोड़ने एवं अवकाश लेने पर रोक लगा दी गई है। 


सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि अतिवृष्टि को देखते हुए जलजनित एवं मौसमी बीमारियों से आमजन की सुरक्षा के मद्देनजर जरूरी इन्तजामात् करने के निर्देश दे दिए गए हैं। समस्त सीएचसी एवं पीएचसी पर नियंत्रण कक्ष का गठन कर दिया गया है। इसके अलावा समस्त मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टॉफ भी मुख्यालय नहीं छोड़ने के लिए पाबंद कर दिया गया है।

 उच्चाधिकारियों को सूचना दिए गए बगैर किसी भी मेडिकल स्टॉफ की छुट्टी मंजूर नहीं की जाएगी। समस्त चिकित्सा संस्थानों पर आवश्यक दवाइयां उपलब्ध करवा दी गई है। जीवनवाहिनी एम्बूलेंस सेवा को भी 24 घण्टे तैयार रहने के निर्देश दे दिए गए हैं। आपातकालीन स्थिति में आमजन 108 अथवा 104 नम्बर पर घण्टी कर सूचना दे सकते हैं। रेपिड रेस्पांस टीम (आरआरटी) टीम का गठन पूर्व में ही कर दिया गया है। किसी भी प्रभावित स्थल की सूचना मिलते ही आरआरटी प्रभावित क्षेत्र के लिए रवाना हो जाएगी। 


डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि अतिवृष्टि संभावित क्षेत्रों से आने वाले मरीजों के लिए चिकित्सा संस्थानों के वार्ड में आवश्यक व्यवस्था कर दी गई है। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा पीने के पानी के नमूने लेने तथा मलेरिया की रोकथाम हेतु इकट्ठा हुए पानी में एमएलओ एवं गम्बूशिया मछलियां डलवाने आदि कार्य किए जा रहे हैं। आमजन में जन-जाग्रति के लिए प्रचार-प्रसार साधनों एवं सोशल मीडिया से भी जानकारियां दी जा रही है। जनमानस को मौसमी बीमारियों से बचने, पीने के पानी का उचित रख-रखाव एवं रूके हुए पानी में एंटी लार्वा कार्यवाही के लिए जानकारी भी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि किसी भी असामान्य स्थिति होने पर नियंत्रण कक्ष 01552-261190 पर सूचना दी जा सकती है।०००


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें