गुरुवार, 30 जुलाई 2020

सूरतगढ़-बहुचर्चित बृजलाल स्वामी 70 वर्ष की गोली से मौत-बेटे के घर आगे पड़ा था शव.किसने मारा पर चर्चाएं गर्म-



* करणीदानसिंह राजपूत*

सूरतगढ़ 30 जुलाई 2020.


सूरतगढ़ की कच्ची बस्तियों में, अतिक्रमण की राजनीति और राजनीतिक दलों व नेताओं के संपर्कों संबंधों में पिछले करीब 40 सालों से विवादों में चर्चित रहे बृजलाल स्वामी का शव बिश्नोई धर्मशाला के पास पड़ा मिला। एक पुत्र के घर के आगे बृजलाल स्वामी का शव पड़ा था। बृजलाल अपने अन्य बेटे मंगतू के साथ रहता था। वह घर काफी दूर है।


सूरतगढ़ की कच्ची बस्तियों के ज्यादातर व्यक्ति बृजलाल स्वामी से और नाम से परिचित हैं। जिस राजनीतिक दल की प्रदेश में सरकार रही बृजलाल स्वामी उस दल के स्थानीय नेता व विधायक के संपर्क करने में माहिर रहा।


गोली लगने से मौत का मामला है। जांच से ही मालूम होगा कि गोली किसने और कब मारी और क्यों मारी?


मृतक कुछ सालों से घरेलू संपत्ति विवाद व मुकद्मे से भारी परेशान भी रहा था। एक पुत्र से अधिक था संपत्ति विवाद। पुत्र पर चर्चाएं गर्म हैं। मृतक के तीन पुत्र हैं। चर्चाएं गर्म है कि एक पुत्र  से विवाद अधिक था। 

बृजलाल स्वामी की रिश्तेदारियां आसपास ही हैं। बृजलाल का शव मौके पर ही पड़ा है। मृतक के कुछ रिश्तेदार भी सूचना मिलने पर सूरतगढ़ पहुंचे हैं।


श्रीगंगानगर की एफएसएल टीम  घटनास्थल से सुबूत जुटाएगी।सूरतगढ़ सिटी पुलिस के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। संभव है की पुलिस कुछ घंटों में मामला ओपन करदे। 

यह बिंदु भी महत्वपूर्ण है कि बृजलाल भोर में यहां क्यों आया था? उसका निवास तो दूर है।

पुलिस के सामने दो पहलु हैं।

1- क्या बृजलाल को गोली मारी गई यदि हां तो किसने मारी?

2- क्या बृजलाल ने आत्महत्या की?

००



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें