रविवार, 31 मई 2020

भारत सहित विश्व भर में विश्व शांति व कल्याण हेतु गायत्री हवन हुए।


* करणीदानसिंह राजपूत *
सूरतगढ़ 31 मई 2020.
विश्व में शांति और कल्याण के लिए आज भारत सहित विश्व भर में करीब 100 देशों में श्रद्धालुओं ने अपने घरों में सपरिवार हवन किए। गायत्री मंत्रोच्चार के साथ आहुतियां डाली गई। गायत्री मंत्र चौबीस बार उच्चारित किया गया। गायत्री मंत्र अनेक विशेषताओं के साथ प्रभावशाली मंत्र है।
अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज
हरिद्वार के आह्वान पर विश्व शुद्धि के लिए विश्व में लगभग 100 देशों के 10 लाख परिवारों ने अपने घरों में गायत्री हवन यज्ञ का आयोजन किया। 
गायत्री यज्ञ 31 मई रविवार के दिन प्रातः 9:00 से 12:00 बजे के मध्य किया गया।
गृहे गृहे गायत्री यज्ञ की श्रृंखला गत वर्ष से पूरे विश्व में चलाई गई है जिसका वातावरण शुद्धि व सकारात्मक तथा स्वास्थ्यवर्धक और वातानुकूलित प्रभाव पड़ता है ।
शांतिकुंज हरिद्वार के निर्देश थे कि इस दिन सभी साधक या जनसामान्य अपने-अपने घरों में ही गायत्री या किसी निराकार सृष्टि की संचालक सत्ता का ध्यान करते हुए 24 गायत्री मंत्र की आहुतियां तथा विश्व शांति व कोरोना विषाणु दुष्प्रभाव से मुक्ति के लिए पांच महामृत्युंजय मंत्र से आहुतियां समर्पित करें।
*
सूरतगढ़ में विजयश्री करणी भवन में पत्रकार करणीदानसिंह राजपूत पत्नी विनीता सूर्यवंशी,बड़े पुत्र योगेंद्र प्रताप सिंह और पोती अनायासिंह ने मंत्रोच्चार से हवन किया। अनायासिंह के सूर्यवंशी सी.सै.स्कूल में बच्चों को गायत्री मंत्रोच्चार कराया जाता है और सभी बच्चों को याद है।*
*****


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें