गुरुवार, 14 मई 2020

कोरोना संक्रमण से बचो- सम्मान में 6 फुट की दूरी रखना जरूरी.माला नहीं पुष्प वर्षा से सम्मान करें.


* करणीदानसिंह राजपूत *
कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए लाक डाउन नियमन में सोशल डिस्टेंस यानी कि 2 के बीच में दूरी 6 फीट की होनी चाहिए। विशेषज्ञों ने सोच समझ कर यह दूरी तय की है। इससे कम दूरी होती है तो कोरोना संक्रमण की संभावना रहती है। मामूली सी चूक लापरवाही संकट में डाल सकती है।
यह दूरी सामान्य रूप में स्वागत सम्मान करते समय माला पहनाने में नहीं रह पाती। माला पहनाते और पुष्प गुच्छ भेंट करते यह दूरी 1 फुट के करीब रहती है। लोकडाउन कानून तो भंग होता ही है और दुर्भाग्य से कभी संक्रमण हो जाता है तो फिर दो तीन नहीं, अनेक लोग जांच कराने को प्रभावित हो जाते हैं। संक्रमण का मालूम होता है तब तक कुछ दिन बीत जाते हैं तब तक मालाएं पहनने और पहनाने वाले अनेक लोगों के संपर्क में आ चुके होते हैं। यह संख्या जोड़ के हिसाब से बढने के बजाय गुणा रूप में बढती है। ऐसी स्थिति में प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के लिए भी बहुत बड़ा संकट पैदा हो जाता है। अनेक मोहल्ले, वार्ड, शहर,गांव प्रभावित हो जाते हैं। ऐसे समाचार आते  हैं तब इलाके में हड़कंप मच जाता है। इन दिनों अखबारों और सोशल साइट्स पर मालाएं पहना कर और पहन कर स्वागत सम्मान करने कराने के फोटो समाचार आ रहे हैं। उनको देखने से स्पष्ट होता है की दूरी 6 फुट नियम का पालन नहीं किया गया। इसमें स्वास्थ्य कर्मी और पुलिस कर्मी सर्वाधिक हैं और इन कर्मचारियों को स्वस्थ रखना बहुत जरूरी है। ये स्वस्थ रहेंगे तब ही महामारी संकट से बचाव की ड्यूटी सही कर पाएंगे।
अच्छा यही हो कि कि सम्मान देते वक्त पुष्प वर्षा करें ताकि 6 फुट की दूरी बनी रह सके।
आप जिस का सम्मान करते हैं उसके जीवन और अपने जीवन के प्रति भी सजग सतर्क रहना समय की आवश्यकता है।
केन्द्र और राज्य सरकारों को शीघ्र ही सरकारी विभागों के लिए सख्त एडवाइजरी जारी करनी चाहिए।
**

करणीदानसिंह राजपूत,
स्वतंत्र पत्रकार( राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय से अधिस्वीकृत)
सूरतगढ़ राजस्थान.
94143 81356.
****
प्रशासन,कोई भी अखबार, चैनल उपयोग कर सकता है।
दि. 14 मई 2020
-------------

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें