रविवार, 17 मई 2020

सूरतगढ़-बिरधवाल स्टेशन से 35 प्रवासी मजदूरों को प्रयागराज यूपी के लिए रवाना किया।


सूरतगढ़ 17 मई 2020.

लोकडाउन के दौरान पिछले 2 महीने से सूरतगढ़ में फँसे प्रयागराज यूपी के 35 प्रवासी मजदूरों का घर वापसी का रास्ता रविवार को साफ हुआ।

अतिरिक्त जिला कलेक्टर अशोक कुमार मीणा, नायब तहसीलदार अमरसिंह मांझू, बीएलओ पृथ्वी पाल सिंह, सेफ ड्राइव सेव लाइफ संस्था के मोहन सोनी, भाजयुमो नेता रजत स्वामी ने बस से प्रवासी मजदूरों को बिरधवाल स्टेशन सूरतगढ़ से रविवार सुबह 9बजे रवाना किया।


संस्था के मोहन सोनी ने बताया कि रेल्वे ट्रेक के विद्युुतीकरण का कार्य करने वाली ठेकेदार फर्म सीमाइकल इलेक्ट्रिकल मुम्बई के अधीन कार्य करने वाले सभी 35 मजदूर उत्तरप्रदेश के प्रयागराज जिले की करछना तहसील के निवासी हैं।

3 माह पहले रेल्वे ट्रेक के विद्युुतीकरण का कार्य करने आए थे। लोकडाउन से एक माह पहले तक ठेकेदार फर्म के मालिक ने इन मजदूरों को वेतन दिया व 22 मार्च से पूर्व ठेकेदार फर्म का मालिक मुम्बई चला गया। 

प्रवासी मजदूरों में से एक प्रमोद कुमार के अनुसार इनका सम्पर्क सेफ ड्राइव सेव लाइफ संस्था के सचिव मोहन सोनी से सम्पर्क हुआ।  मोहन सोनी ने सूरतगढ़ के उपखण्ड अधिकारी मनोज मीणा को सूचना दी। 

उपखंड कार्यालय द्वारा इन प्रवासियों को राशन सामग्री उपलब्ध करवायी। विगत 8 दिनों से भाजयुमो नेता रजत स्वामी यूपी प्रशासन एवं प्रयागराज भाजपा नेता पीयूष रंजन निषाद से सम्पर्क कर प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए प्रयास करने का आग्रह किया। 

प्रवासी मजदूरों की घर वापसी का रास्ता साफ हुआ और रविवार प्रातः प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पहुँच कर सभी प्रवासियों का स्वास्थ्य परीक्षण करवाकर सोशल डिस्टेंशिंग की पालना के निर्देशों के साथ अतिरिक्त जिला कलेक्टर अशोक मीना ने बस को रवानगी दी। 

बस रवानगी की खुशी में प्रवासियों ने खुशी प्रकट की और कहा कि सूरतगढ़ प्रशासन व समाजसेवियों की बदौलत समय रहते हमारी घर वापसी हो रही है। जिसके हम सदा आभारी रहेंगे।**



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें