रविवार, 22 मार्च 2020

रेलवे रिजर्वेशन रिफंड नियमों में अस्थाई परिवर्तन -21 मार्च से 15 अप्रैल तक.

                          श्रीगंगानगर,21मार्च 2020.

 कोरोना वायरस के  प्रभाव  के चलते सोशल डिस्टेंस रखने हेतु रेलवे ने रिजर्वेशन रिफंड  नियमों में  अस्थाई परिवर्तन किया है।रेलवे सूत्रों के अनुसार 21 मार्च से 15अप्रैल 2020  तक सफर करने वाले  ई-टिकट धारियों को  पहले की तरह स्टेशन पर रिफंड लेने के लिए आने की कोई आवश्यकता नहीं है| वरिष्ठ वाणिज्य मंडल प्रबन्धक ,बीकानेर श्री जितेन्द्र मीणा ने बताया कि 21 मार्च से 15 अप्रैल 2020 तक सफर करने वाले रिजर्वेशन काउंटर से लिए टिकटों  वाले यात्रियों की ट्रेन यदि  रेल प्रशासन द्वारा रद्द की जाती है,  तो यात्री 3घंटे या 72 घंटे की पहले वाली  कंडीशन के बजाय  यात्रा तिथि से 45 दिन  के बीच रिजर्वेशन काउंटर पर  अपना रिफंड लेने के लिए टिकट प्रस्तुत कर सकते हैं|


     रेल प्रशासन द्वारा यदि ट्रेन रद्द नहीं की गई है और यात्री यात्रा नहीं कर रहा है,  तो यात्री  रिफंड लेने के लिए  स्टेशन से यात्रा तिथि से  3 दिन की बजाय  30 दिन में सीसीओ-सीसीएम क्लेमस  ऑफिस में टीडीआर( टिकट डिपाजिट  रिसिप्ट) सबमिट कर सकते हैं|  पहले यह नियम 10दिन का था|


   यदि यात्री  139 नंबर के द्वारा  टिकट कैंसिल करता है  तो वह  ट्रेन के शेडूल डिपार्चर के  पहले के नियम की बजाए  30दिनों के अंदर  अपना टिकट प्रस्तुत कर रिफंड प्राप्त कर सकता है| 


     दी गई छूट 21 मार्च से 15 अप्रैल2020 तक लागू रहेगा।


 रेलवे प्रशासन द्वारा  यह सुविधा कोरोना वायरस के प्रभाव के कारण स्टेशन पर अधिक भीड़ व यात्रियों में  परेशानी कम करने के लिए की गई है|00


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें