बुधवार, 19 फ़रवरी 2020

राजस्थान में कितने जनता क्लिनिक मोहल्लों में खोले गए? सरकार ने पिछले बजट में घोषणा की थी?


* करणीदानसिंह राजपूत *

श्री गंगानगर जिला कलेक्टर ने 18-2-2020 की बैठक में अधिकारियों को सरकार की मंशा के अनुरूप जनता क्लिनिक खोलने के लिए स्थान और भवन तय करने का निर्देश दिया।

सरकार ने पिछले बजट में घोषणा की थी जिसके लिए अभी तक स्थान और भवन तय होने में समय लग रहा है। जिला कलेक्टर को निर्देश देना पड़ रहा है।

राजस्थान सरकार ने अपने पिछले साल नए कार्यकाल का पहला बजट पेश किया। इस बजट में कई खास घोषणा भी थी। उनमें से एक घोषणा जनता के लिए खोला जाने वाला जनता क्लीनिक। 

दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लिनिक की तर्ज पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में जनता क्लिनिक खोलने का फैसला किया था।


सीएम गहलोत के इस फैसले के बाद प्रदेश के हर गली-मुहल्ले के साथ शहरी इलाकों में भी  जनता क्लिनिक खोले जाने थे। 

सरकार ने क्लिनिक के जरिए जनता के लिए 104 प्रकार की दवाएं मुफ्त देने का ऐलान किया  साथ ही 90 तरह की जांच मुफ्त करवाए जाने की बात कही थी।


इन 104 दवाओं में किडनी, हार्ट तक की समस्याओं के लिए दवाएं हैं। पूरे राजस्थान के उन गरीब परिवारों को जिनके पास बीपीएल कार्ड है उन्हें एमआरआई और सिटीस्कैन बेहद कम दाम में किए जाने का फैसला किया गया है।

बजट के दौरान इस बहुआयामी योजना की शुरूआत करते हुए सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि जनता क्लिनिक के खुलने से लोगों को काफी फायदा होगा। प्रदेश के गरीब परिवारों को जुकाम बुखार के लिए अब बड़े अस्पतालों( सवाई मानसिंह अस्पताल )का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। 

संपूर्ण राजस्थान में क्या हाल है? 


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें