रविवार, 2 फ़रवरी 2020

महावीर इन्‍टरनेशनल सूरतगढ केन्‍द्र द्वारा स्‍वामी विवेकानन्‍द रा. उ. मा. मॉडल स्‍कूल सूरतगढ के विद्यार्थियों को सम्‍मान प्रदान


सूरतगढ़ 1.फरवरी 2020.
को स्वामी विवेकानन्द राजकीय उच्च माध्यमिक माॅडल स्कूल, सूरतगढ़ के विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रथम स्थान पर रहे व उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को महावीर इन्टरनेशनल सूरतगढ़ केन्द्र द्वारा प्रोत्साहन स्वरूप उपहार व शिक्षण सामग्री देकर सम्मानित किया गया।
विद्यालय बैंड में विजयी 27 छात्राएं, आशु भाषण विजेता कीर्ति भाटी, सामाजिक विज्ञान माॅडल में विजयी छात्र यशवर्द्धन व योगेश शामिल थे।
‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम में माननीय प्रधानमंत्री जी से राजस्थान की ओर से प्रथम प्रश्न पूछने वाली छात्रा यशश्री को भी सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में संस्था के पूर्व अध्यक्ष संजय बैद ने सम्मानित विद्यार्थियों व विद्यालय स्टाफ को बधाई दी व उनके प्रयासों की सराहना करते हुए अन्य विद्यार्थियों को भी मेहनत और लगन से अध्ययन करने व अन्य गतिविधियों में भी सक्रियता से भाग लेने के लिए प्रेरित किया एवं संस्था के प्रकल्पों के बारे में भी बताया।
कार्यक्रम में उपस्थित गौसेवक लेखराम गेदर ने पाॅलीथिन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देते हुए सिंग्ल यूज प्लास्टिक का प्रयोग पूर्ण रूप से बन्द करने का निवेदन किया।
शान्ति कुंज हरिद्वार की टीम द्वारा सभी विद्यार्थियों को फिल्म के माध्यम से नशा के दुष्प्रभावों की जानकारी दी गई। विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री बजरंग लाल भादू ने संस्था के अध्यक्ष नत्थूराम कलवासिया, पूर्व अध्यक्ष संजय बैद, जन सम्पर्क अधिकारी एडवोकेट शिशपाल शर्मा, सचिव राजेश वर्मा, गौसेवक लेखराम गेदर व शान्ति कुंज की टीम का आभार व्यक्त किया।
-- 
आज ‘‘व्यसन मुक्त भारत’’ अभियान के तहत अखिल विश्व गायत्री परिवार, गायत्री तीर्थ स्थल, शान्ति कुंज, हरिद्वार के तत्वावधान में नशा मुक्ति रथ के द्वारा सूरतगढ़ के स्वामी विवेकानन्द राजकीय मॉडल स्कूल, जवाहर नवोदय विद्यालय, सूरतगढ़ पब्लिक स्कूल व राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भगवानगढ़ में विद्यार्थियों को चलचित्र के माध्यम से नशा से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी दी गयी। सभी विद्यार्थियों को जीवन में कभी भी नशा नहीं करने का संकल्प करवाया गया। सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्यों ने नशा मुक्ति रथ की सराहना करते हुए बताया कि इस अभियान से भारत नशा मुक्त होगा तथा नैतिक शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा। इस अभियान में सूरतगढ़ गायत्री परिवार के शिशपाल सारस्वत, किशनलाल पंवार, बाबूलाल स्वामी, महावीर प्रसाद व राजकुमार परमार उपस्थित रहे।
*******



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें