सोमवार, 24 फ़रवरी 2020

भगवान राम से जुड़े तीर्थ-श्री रामायण एक्सप्रेस’-दिल्ली सफदरजंग स्टेशन से 28 मार्च को होगी रवाना, बुकिंग शुरू



श्रीगंगानगर, 24 फरवरी 2020. भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम लि.अब भगवान श्री राम से जुड़े तीर्थ स्थानों की यात्रा करवाने के लिये 28 मार्च से नई ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से चला रहा हैं। इसके लिये बुकिंग शुरू कर दी गयी हैं। आईआरसीटीसी के चंडीगढ़ स्थित क्षेत्रीय प्रबंधक श्री एस.के. एस.राघव के अनुसार इस ट्रेन में यात्रियों की सुविधा के लिये स्लीपर व थर्ड एसी के 5-5 कोच लगाये गये हैं। इसमें पहले आओ,पहले पाओ के आधार पर बुकिंग हो रही हैं। ट्रेन की यात्रा की अवधि 16 रात व 17 दिन हैं। दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से 28 मार्च को रवाना होने के बाद यह ट्रेन गाज़ियाबाद, मुरादाबाद, बरेली व लखनऊ स्टेशन से तीर्थ यात्रियों को लेगी। रामायण सर्किट से जुड़े अयोध्या में रामजन्मभूमि, हनुमानगढ़ी, रामकोट, कानन भवन मंदिर, नंदीग्राम में भरत मंदिर और भरत कुण्ड, सीतामढ़ी में सीता माता मंदिर और पुनौराधाम का जानकी मंदिर, जनकपुर (नेपाल) में रामजानकी मंदिर, वाराणसी में तुलसी मानस मन्दिर, संकट मोचक मन्दिर व काशी विश्वनाथ मंदिर, प्रयाग में भारद्वाज आश्रम, गंगा यमुना संगम, हनुमान मंदिर, श्रृंगवेरपुर में श्रृंगी ऋषि समाधि व रामचौरा, चित्रकुट में गुप्त गोदावरी, रामघाट, भरत मिलाप मंदिर व सती अनुसुइया मन्दिर, नासिक में त्रयम्बकेश्वर मंदिर, पंचवटी, सीमा गुफा व कालाराम मंदिर, हम्पी में अन्जनादरी पर्वत, ऋषमुख द्वीप, सुग्रीव गुफा व रघुनाथ मंदिर, कांचीपुरम में विष्णु कांची मंदिर व रामेश्वरम में शिव मंदिर का भृमण करवायेगी। इस दौरान पूरी यात्रा में खाना (व्रत करने वाले यात्रियों के लिये बिना लहसुन, प्याज का खाना साबूदाना खिचड़ी, फल, दही, चाट इत्यादि), ठहरना, और स्थानीय आवाजाही के लिये परिवहन की सुविधा आईआरसीटीसी के टूर पैकेज में शामिल होगी।



यह होगा पूरे टूर का किराया

आईआरसीटीसी के अनुसार ट्रैन में स्लीपर क्लास में 360 व थर्ड एसी में 330 बर्थ होंगी। स्लीपर क्लास में प्रति यात्री 16 हज़ार 65 रुपये व थर्ड एसी में 26 हज़ार 775 रुपये किराया हैं। इसी क्रम में जो यात्री श्रीलंका की भी करने के इच्छुक है उनके लिये विमान की व्यवस्था होगी। विमान में 40 सीटें रखी गयी हैं। तीन रात के लिये चार्ज प्रति यात्री 37 हज़ार 800 रुपये होगा। यह यात्रा 11 से 15 अप्रैल की होगी। इस दौरान सीता माता मन्दिर, अशोक वाटिका, विभीषण मन्दिर व शिव मंदिर के दर्शन करवाये जायेंगे। 

-----------



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें