बुधवार, 12 फ़रवरी 2020

पूर्व विधायक भादू का कटला सीज हुए 2 माह बीते-आखिर कारण क्या है?

** करणीदानसिंह राजपूत **

पूर्व विधायक राजेंद्रसिंह भादू और उनके दो भाइयों का कटला नगरपालिका द्वारा सीज किए हुए 2 माह बीत गए। राजनैतिक और अन्य किसी रूप में इस पर कहीं भी चर्चा नहीं होने का क्या कारण है? कटला 13 दिसंबर 2019 को सीज किया गया और 12 फरवरी 2020 को पूरे 2 माह हो गए।

नगरपालिका का आरोप था कि तीनों भाईयों ने अपने अपने भूखंडों की अलग अलग निर्माण स्वीकृति ली परंतु एकल निर्माण किया। तीनों को नोटिस दिए गए व जवाब आया उसे पालिका ने संतोष जनक नहीं माना और सीज की कार्रवाई कर दी। उद्घाटन के लिए तैयार कटला 2 माह से सील मोहर नोटिस सहित जब्त पड़ा है। पालिका ने 6 माह के लिए सीज किया। 

सीज के बाद मीडिया को राजेंद्र भादू ने अपने वर्जन में कहा था कि निर्माण की स्वीकृति है तथा कोई तकनीकी कमी रही होगी तो वह दूर कर दी जाएगी। अब आगे मीडिया ने भी दुबारा इस पर गौर नहीं किया। मीडिया को फोलोअप देना चाहिए था। नगरपालिका और भादू दोनों से ही पूछा जा सकता था और अभी पूछ भी सकते हैं। एक खबर बीच में चर्चा के रूप में आई थी कि स्वायत्त शासन विभाग के क्षेत्रीय उपनिदेशक बीकानेर के पास मामला है। 

आश्चर्य जनक यह भी है कि इस महत्वपूर्ण मामले पर नगरपालिका की बैठक में और सीधे रूप से भी किसी पार्षद ने जानकारी नहीं ली। 

क्या नगरपालिका प्रशासन ने किसी रंजिश से यह कटला सीज किया? यह शंका इसलिए बलवती मानी जा रही है कि बीकानेर रोड और रेलवे स्टेशन रोड पर इस कटले के सामने और आसपास अनेक निर्माण स्वीकृति के विपरीत हुए हैं जिन पर कोई कार्यवाही नहीं की गई।ऐसे अनेक निर्माण के सचित्र समाचार भी छपते रहे हैं।

राजेंद्र सिंह भादू ने कांग्रेस के विधायक गंगाजल मील(2008-13) को 2013 के चुनाव में हराकर 2013-18 काल में राज किया। भादू काल में नगरपालिका में भाजपा का बोर्ड रहा अब  नवम्बर 2019 से कांग्रेस का बोर्ड है। भादू के कटले को सीज करने की कार्रवाई कांग्रेस के बोर्ड में हुई है जिसमें ओमप्रकाश कालवा अध्यक्ष हैं तथा गंगाजल मील के खास हैं। मील ने ही अध्यक्ष बनवाया है। अधिशासी अधिकारी पद पर लालचंद सांखला है जिनकी और भादू की आपस में बनती नहीं है। भादू ने विधायक काल में सांखला के विरुद्ध कोई पत्र विभाग को लिखा था कि सूरतगढ़ से हटाया जाए। सांखला 31मार्च 2020 में सेवानिवृत्त होंगे।

आश्चर्य यह है कि भादू एकदम चुप हैं इसलिए कटले सीज के कारण सामने नहीं आ रहे। इसके पीछे क्या राजनीति है?

०००




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें