बुधवार, 12 फ़रवरी 2020

खुली कार में सवार आप विधायक पर गोलियां-1 समर्थक की मौत 1 घायल


12 फरवरी 2020.


आम आदमी पार्टी के नव निर्वाचित विधायक नरेश यादव जब महरौली स्थित एक मंदिर में पूजा-अर्चना कर अपने काफिले के साथ लौट रहे थे तब अचानक उनके काफिले पर फायरिंग शुरू हो गई।

*दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद आम आदमी पार्टी जीत के जश्न में डूब गई। 

*लेकिन सुरक्षा के बावजूद अपराधियों ने इस जश्न में  खलल भी डाल दी। अपराधियों ने आम आदमी पार्टी के नवनिर्वाचित विधायक के काफिले पर गोली चला दी।


^^^काफिले पर दागी 4 गोलियां^^^


 दिल्ली की महरौली विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रत्याशी कुसुम खत्री को 18,161 वोटों के अंतर से हराने के बाद विधायक नरेश यादव और पार्टी कार्यकर्ता खुशियां मना रहे थे। नरेश यादव जब महरौली स्थित एक मंदिर में पूजा-अर्चना कर अपने काफिले के साथ लौट रहे थे तब अचानक उनके काफिले पर फायरिंग शुरू हो गई।

जानकारी के मुताबिक दक्षिण पश्चिम दिल्ली के किशनगढ़ गांव में ‘आप’ विधायक के काफिले पर अपराधियों ने 4 गोलियां चलाई। विधायक उस वक्त खुली कार में थे।

कार्यकर्ता की मौत: इस हमले के बाद नवनिर्वाचित विधायक के काफिले में हड़कंप मच गया। 

विधायक तो  इस हमले में बच गए। लेकिन पार्टी के एक कार्यकर्ता अशोक मान को गोली लग गई। अशोक मान को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उनकी मौत हो गई।


 शिकायत दर्ज होने पर जांच शुरू

बताया जा रहा है कि इस गोलीबारी में पार्टी के एक दूसरे कार्यकर्ता घायल भी हो गए। बताया जा रहा है कि अशोक मान आप विधायक के पीछे खड़े थे और मुस्कुराते हुए हाथ से जीत का निशान दिखा रहे थे…तब ही एक गोली उन्हें आकर लगी और वो वहीं ढेर हो गए।


जश्न मना रहे थे कार्यकर्ता: 


 विधायक ने एक एजेंसी को बताया कि घटना रात करीब 10.30 बजे हुई। उस वक्त आप कार्यकर्ता जीत के जश्न में डूबे हुए थे। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच सही ढंग से करे तो सभी हमलावर पकड़े जाएंगे।

उन्होंने कहा कि ‘मुझे नहीं पता कि इस हमले के पीछे क्या वजह है…लेकिन यह अचानक हुआ। दो लोगों को गोली लगी है। अशोक मान जी की मौत हो चुकी है जबकि हरेंद्र घायल हुए हैं

क्या कहा दिल्ली पुलिस ने?: इधर साउथवेस्ट के एडिशनल डीसीपी, इंगित प्रताप सिंह ने बुधवार को मीडिया को जानकारी दी कि इस हमले में आम आदमी पार्टी के विधायक निशाने पर नहीं थे।

उन्होंने कहा कि अपराधियों के निशाने पर पार्टी का कार्यकर्ता था जिसकी इस हमले में मौत हो गई है। पुलिस का कहना है कि एफआईआर दर्ज करने के बाद मामले की जांच-पड़ताल भी शुरू कर दी गई है। इस मामले में एक अपराधी को गिरफ्तार किया जा चुका है।

***




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें