बुधवार, 8 जनवरी 2020

रेलवे ने जीनगर समाज को दी गई जमीन को अपना बताया- आवंटन निरस्त करने का लिखा

 ** करणीदान सिंह राजपूत **

सूरतगढ़ 8 जनवरी 2020.

 नगर पालिका सूरतगढ़ की ओर से जीनगर समाज को धर्मशाला के लिए वर्तमान जीनगर धर्मशाला के ठीक पीछे भूमि का आवंटन किया था।

 रेलवे प्रशासन ने नगर पालिका को एक पत्र दिया है जिसमें कहा गया है कि यह जमीन रेलवे की है और इस पर रेलवे की डिग्गी बनी हुई थी।

नगर पालिका ने आवंटन कर दिया है तो इसे निरस्त किया जाए।

रेलवे अधिकारी ने यह सूचना आरपीएफ, जीआरपी और सूरतगढ़ सिटी पुलिस को भी दी है। 

नगरपालिका ने जो जगह जीनगर समाज को आवंटित की है उस स्थान पर करीब तीस साल तक रेलवे की डिग्गी रही है व उपयोग भी होता रहा है। रेल अधिकारी ने लिखा कि पहले भी इस स्थान पर कब्जा करने का प्रयास किया गया था।

जीनगर समाज की ओर से आज जगह को रोका जा रहा था तब रेलवे वाले भी पहुंच गए। 

नगरपालिका के काग्रेस बोर्ड की बैठक अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा की अध्यक्षता में 31 दिसम्बर 2019 को हुई  जिसमें उक्त भूमि जीनगर समाज को आवंटित करने का प्रस्ताव पारित किया गया था।

****



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें