बुधवार, 29 जनवरी 2020

इनको ओले कहते हैं जी.कविता-करणीदानसिंह राजपूत.



इनको ओले कहते हैं जी,

ये खेतों में गांवों में गिरते हैं जी,

ये कोठी बंगलों में नही गिरते

मंत्री जी सरकार जी।

इनकी मार आपके वेतन भत्तों

पर नहीं पड़ती।

आपको फुरसत होतो

फोटो देख लेना।

अपने बीबी बच्चों को

दिखलाना और बताना

कि इनको ओले कहते हैं

ये खेतों और गांवों में गिरते हैं।

बच्चे मचल पड़ें देखने को तो

पिकनिक मनाने पहुंच जाना।


**

करणीदानसिंह राजपूत,

सूरतगढ़।

29 जनवरी 2020.

********


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें