शुक्रवार, 31 जनवरी 2020

भारतमाला परियोजना भूमि मुआवजा वितरण- सूरतगढ़ में 1 फरवरी को विशेष कैंप

^^ करणीदानसिंह राजपूत ^^

* अधिग्रहित जमीन का डीएलसी से तीन से चार गुना तक मुआवजा-मुआवजा राशि वितरण के लिये विशेष शिविर*


सूरतगढ़/श्रीगंगानगर, 31 जनवरी 2020.


भारतमाला परियोजना के अंतर्गत तहसील सूरतगढ़ में बन रहे राष्ट्रीय राजमार्ग (अमृतसर से जामनगर) के निर्माण को लेकर विभिन्न विभागों की ओर से आने वाली समस्याओं के निराकरण के लिये जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट कार्यालय में शुक्रवार को विशेष बैठक का आयोजन किया गया। 

बैठक में उपखण्ड अधिकारी सूरतगढ़ ने जानकारी दी कि भारतमाला परियोजना के अंतर्गत तहसील सूरतगढ़ में बन रहे राजमार्ग हेतु किसानो की अधिगृहित जमीन पर सरकार द्वारा जमीन के डीएलसी दर से तीन से चार गुना तक राशि का मुआवजा दिया जा रहा है। जो भूमि बैंकों में रहन है, उसे रहन मुक्त की जायेगी। 

जिला कलक्टर श्री नकाते ने संबंधित क्षेत्रा के किसानो को भूमि मुआवजा राशि का त्वरित भुगतान करने के निर्देश दिये तथा संबंधित बैंकर्स को अधिग्रहित भूमि हेतु अनापति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश दिए गये। जिस किसान द्वारा जितनी राशि बैंक में जमा की जायेगी, उतनी भूमि रहन मुक्त बैंक द्वारा की जायेगी। 

उन्होंने उपखण्ड अधिकारी सूरतगढ़ को इस कार्य में गति लाने के लिये शनिवार 1 फरवरी 2020  को तहसील कार्यालय सूरतगढ़ में विशेष शिविर का आयोजन करने हेतु आदेशित किया गया। विशेष शिविर में किसानो के लिये आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाये।

जिला कलक्टर ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग से संबंधित किसानों में से लगभग 30 प्रतिशत से अधिक किसानों ने अपना मुआवजा राशि का भुगतान प्राप्त कर लिया है तथा शेष किसान भी राशि लेने आ रहे है। यदि कोई काश्तकार नोटिस के बाद भी भुगतान लेने नहीं आते है, तो उनकी मुआवजा राशि सक्षम न्यायालय में जमा करवाने की कार्यवाही की जायेगी।

बैठक में उपखण्ड अधिकारी एवं भूमि अवाप्ति अधिकारी सूरतगढ़ श्री मनोज कुमार मीणा, एलडीएम श्री सतीश जैन सहित एनएचएआई प्रतिनिधि, कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रतिनिधियों एवं बैंको के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

******



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें