सोमवार, 9 दिसंबर 2019

छात्रा युवती दीप्ति गोयल संगरिया की हत्या का राज ?


*हरियाणापुलिस मोबाइल कॉल व अन्य सूत्रों से खोलेगी*

 संगरिया की दीप्ति गोयल (पुत्री हनुमान गोयल आढत व्यापारी) की लाश हरियाणा की धारुहेड़ा में शनिवार 7 दिसंबर 2019 की अलसुबह मिली।  धारूहेड़ा पुलिस ने अपहरण व हत्या के अपराध में मुकदमा दर्ज किया है।दीप्ति के मोबाइल कॉल तथा अन्य सूत्रों से यह राज खोला जाएगा कि दीप्ति की हत्या किसने और क्यों की? हत्या कहां हुई थी और धारुहेड़ा में उसकी डेड बॉडी कैसे पहुंची? दीप्ति के सिर पेट और जननांग पर 4 गोलियां मारी गई।

 21 वर्षीय दीप्ति गोयल दिल्ली के साकेत नगर में ननिहाल में रहकर पढ़ाई कर रही थी। वह कुछ समय से मानसिक रोग से विचलित थी जिसका ईलाज चल रहा था।

दीप्ति की लाश के पहनने कपड़ों में संगरिया के एक ब्यूटी पार्लर का कार्ड मिला। हरियाणा पुलिस ने संगरिया पुलिस को फोटो व कार्ड भेजकर मालूम करने का कहा।ब्यूटी पार्लर से पता लगा कि उक्त लाश  दीप्ति गोयल की है।

दीप्ति गोयल के परिवार जनों को सूचित किया गया। उन्होंने भी फोटो से पहचाना। परिवार जन सकते में आ गए की दिल्ली के अंदर ननिहाल में रह कर पढ रही उनकी पुत्री की हत्या हो गई तथा उसकी लाश धारूहेड़ा गांव कैसे पहुंची?

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दीप्ति गोयल शुक्रवार को  3:04 बजे के करीब बाजार जाने का कहकर ननिहाल के घर से गई थी। उसके बाद से कोई संपर्क नहीं हुआ,रात्रि 11:00 बजे के करीब 2 सेकंड के लिए उससे बात हुई। उसके बाद उसका मोबाइल स्वीच आफ मिला। 

इसके अलावा कोई बात नहीं हुई। काफी देर बाद में उसके मोबाइल से मैसेज आया कि मैं जा रही हूं। संभव है कि यह मैसेज अपहरणकर्ता हत्यारों की तरफ से दिया गया हो।

दीप्ति गोयल की हत्या का राज हरियाणा पुलिस खोलेगी।

********



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें