शनिवार, 7 दिसंबर 2019

भगवानसर में कलक्टर की रात्रि चौपाल का आयोजन- क्या हुआ जानिए




* मौके पर मिला पालनहार एवं खाद्य सुरक्षा का लाभ* 

* जनसमस्याओं के साथ विकास कार्यो का भौतिक सत्यापन*


श्रीगंगानगर, 7 दिसम्बर 2019.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि रात्रि चौपाल में आमजन की समस्याओं को सुनकर उसका समाधान करने के साथ-साथ गांव में हुए विकास कार्यो का ग्रामीणों की उपस्थिति में कार्यो का भौतिक सत्यापन भी किया जाता है। 

श्री नकाते ग्राम पंचायत भगवानसर में रात्रि चैपाल में जनसुनवाई के दौरान यह बात कही। उन्होंनेे कहा कि ग्रामीणों की उपस्थिति में विकास कार्यो का भौतिक सत्यापन हो जाता है। रात्रि चौपाल में पात्र परिवारों को पेंशन, खाद्य सुरक्षा तथा पालनहार जैसी योजनाओं का लाभ भी ग्रामीणों के बीच दिया जाता है। जिला कलक्टर ने गांव में संचालित राजकीय विद्यालय समय पर खुलने, शिक्षकों की उपथिति इत्यादि के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने शिक्षा व्यवस्था को अच्छा बताया, वही पर ग्रामीणों ने 22-23 घण्टे विद्युत की उपलब्धता की बात कही। 

रात्रि चैपाल में एक वृद्ध महिला ने बताया कि उसका बेटा व बहू दोनो का निधन हो चुका है। 10 व 12 वर्षिय पोता व पोती की पढाई व खर्च उठाना बेहद मुश्किल है। जिला कलक्टर श्री नकाते ने ग्रामवासियों की उपस्थिति में इस प्रकरण को सही मानते हुए सुखप्रीत व कमलदीप कौर को पालनहार योजना का स्वीकृति पत्र दिया। दो बच्चों के पालन पोषण के लिए प्रति वर्ष 28 हजार रूपये मिलेंगे तथा तीन माह का भुगतान भी किया जाएगा। इसी प्रकार राजू मेघवाल ने प्रार्थना पत्र दिया कि मैं गरीब व्यक्ति हूॅ, मुझे सस्ता गेहूॅ दिलवाया जाए। जिला कलक्टर ने ग्रामवासियों से पूछा, ग्रामीणों ने बताया कि राजू भूमिहीन है तथा गरीब है। जिला कलक्टर ने मौके पर ही राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा की स्वीकृति दी। अब राजू को प्रतिमाह दो रूपये किलों गेहूॅ उपलब्ध होने लगेगा। 

रात्रि चौपाल में ग्रामीणों ने 28 पीबीएनए में सड़क निर्माण का अनुरोध किया। जिला कलक्टर ने ग्रामीणों को बताया कि इस सड़क के लिए 80 लाख रूपये की राशि स्वीकृत हो चुकी है तथा निविदा का कार्य प्रक्रियाधीन है। जिला कलक्टर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क अच्छी गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय में पूर्ण होनी चाहिए। इसी प्रकार वार्ड नम्बर 8 में आबादी भूमि की समस्या के संबंध में ग्राम सेवक, सरपंच व पटवारी संबंधित एसडीएम को रिपोर्ट करेंगे। इसके पश्चात नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। 

रात्रि चैपाल में गांव के समीप ढाणियों में पेयजल पाईपलाईन कार्यशील नही होने की शिकायत पर जिला कलक्टर ने तकनीकी प्ररिक्षण कर आवश्यक रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार गांव में नवनिर्मित इंटरलोकिंग उबड-खाबड होेने की समस्या के संबंध में इस कार्य की जांच करवाने के निर्देश दिए। गांव की ओर जाने वाली एक किलोमीटर सड़क की मरम्म्त के प्रार्थना पत्र पर जिला कलक्टर ने आगामी 30 दिनो में ग्रामीणों को राहत देने के निर्देश दिए। इसी प्रकार सहकारी समिति को समय पर खोलने, ग्रामीणों को समान रूप से खाद का वितरण करने के लिए कार्मिक को पाबंद किया गया। 


मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी ने ग्रामीणों को बताया कि 2011 की सूची के अनुसार सभी को पीएम आवास योजना का लाभ दिया गया है। इसके पश्चात वर्ष 2016, 2018 के सर्वे में जिन लोगों के नाम शामिल है, वे सूचियां केन्द्र सरकार को स्वीकृति के लिए भेजी हुई है। शौचालय निर्माण के संबंध में श्री स्वामी ने बताया की पुराने निर्मित शौचालयो पर अनुदान राशि नही मिलेगी। अगर कोई गरीब व्यक्ति वंचित है तथा शौचालय का निर्माण करवाना चाहता है तो इसके लिए ग्राम संचिव जांच कर रिपोर्ट करेंगे तथा पात्र पाए जाने पर लाभ दिया जा सकता है। 

रात्रि चैपाल में एसडीएम श्री मनोज कुमार मीणा, सरपंच श्री गौतम टाॅक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विद्याप्रसाद, पेयजल के अधीक्षण अभियन्ता श्री बलराम शर्मा, विद्युत के अधीक्षण अभियन्ता श्री जे.एस. पन्नू, आरसीएचओ डाॅ0 हरबंस सिह बराड़ सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व ग्रामीण उपस्थित थे। 

-----------




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें