बुधवार, 11 दिसंबर 2019

संगरिया की दिप्ति गोयल का हत्यारा पकड़ा गया-कैब चालक को भी मारा, सूरत में गाड़ी बेचते पकड़ा गया

*धारूहेड़ा में मिले युवती के शव के मामले में बड़ा खुलासा*

बॉडी बिल्डिरहै आरोपी, कारें भी फाइनेंस कराता था


11 दिसंबर 2019.

बीते 7 दिसंबर को युवती का मर्डर कर शव रेवाड़ी के धारूहेड़ा में फेंकने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। हत्या का आरोपी दिल्ली निवासी हेमंत लांबा बॉडी बिल्डिर है। उसने उस दिन दो हत्याएं की थीं। पहले दिल्ली में दिप्ति गोयल की सिर-पेट व प्राइवेट पार्ट में 4 गोलियां मारकर हत्या की और शव धारूहेड़ा में फेंका। फिर आरोपी हेमंत कैब चालक देवेंद्र (45) को जयपुर लेकर पहुंचा।

अजमेर बाइपास एक्सप्रेस-वे पर हेमंत ने कैब चालक की हत्या कर दी।

उसके बाद चोरी की गाड़ी लेकर सूरत पहुंच गया। उसके पास पैसे नहीं थे तो वह सरथाणा में योगी चौक के पास कार मेले में गाड़ी बेचने पहुंच गया। आरोपी औने-पौने दाम पर गाड़ी बेचकर भागने की फिराक में था।

उसकी हरकत देख मेला संचालक को संदेह हुआ। उसने फोन कर पुलिस बुला ली। पूछताछ के बाद मामले का खुलासा हो गया। हरियाणा पुलिस भी आरोपी की तलाश में सूरत गई हुई थी। गुजरात पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर हरियाणा पुलिस के हवाले कर दिया है। 

दिल्ली का बॉडी बिल्डर फाइनेंसर भी था, मृतक की गाड़ी गिरवी रखी थी।


युवती दीप्ति गोयल मूलरूप से राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के संगरिया की थी। वह कुछ माह से अपने ननिहाल में दिल्ली रह रही थी। उसका डिप्रेशन का इलाज चल रहा था। 

सूरत के सरथाना पुलिस इंस्पेक्टर टीआर चौधरी ने बताया कि आरोपी दिल्ली में बॉडी बिल्डिंग जिम के साथ गाड़ी फाइनेंस का काम करता है।

वह कार खरीदने के लिए 5 से 7 लाख रुपए का फाइनेंस करता था। आरोपी के पास से बरामद अर्टिगा गाड़ी भी उसने फाइनेंस की थी। किश्त न भरने पर आरोपी ने उसे कब्जे में लिया था। आरोपी ने जोधपुर से गाड़ी कब्जे मे ली थी। उसने जयपुर निवासी देवेंद्र को 6.50 लाख रु. उधार देकर गाड़ी गिरवी रखी थी। देवेंद्र रु. न चुका पाया तो गोली मारकर हत्या कर दी औरगाड़ी लेकर सूरत में बेचने पहुंचा था।**

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें