शनिवार, 21 दिसंबर 2019

मीणा समाज के 28 गांवों के पंच पटेलों द्वारा शराब व नशों से दूर का संकल्प.

** विशेष रिपोर्ट**

करौली जिले में मीणा समाज द्वारा 28 गांवों के पंच पटेलों ने शराब व सभी प्रकार के नशों से दूर रहने का संकल्प लिया। यह संकल्प 15 दिसंबर 2019 को कटकड़ के नसीर बाबा स्थान पर राष्ट्रीय आदिवासी मीणा महासभा में नशामुक्ति अभियान के तहत लिया गया। 






महासभा में शहीद गुरुशरण छाबड़ा नशाबंदी आंदोलन की मुखिया श्रीमती पूजा छाबड़ा,महासभा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ बी एल मीणा,करौली के एसपी अनिल बेनीवाल,अमर सिंह नीमरोट, आदि उपस्थित थे।

श्रीमती पूजा छाबड़ा ने अवैध शराब, पोस्त,स्मैक आदि नसों के ऊपर कड़ी कार्यवाही करने का आह्वान किया और समाज को नशा मुक्त बनाने पर जोर दिया।

जिला पुलिस अधीक्षक  अनिल बेनीवाल ने कहा कि करौली जिला अनेक प्रकार से बहुत पीछे है और उसमें नशाखोरी होने से और ज्यादा नुकसान है, युवा लोगों को और आमजन को नशे से बचना चाहिए। उन्होंने चेतावनी भी दी कि नशे का व्यापार करने वाले लोगों के विरुद्ध पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।


 बीएल मीणा ने भी कहा कि नशाखोरी से समाज को हर क्षेत्र में नुकसान हो रहा है इसलिए समाज आगे आए और हर कदम पर नशाखोरी का विरोध करते हुए जन जागरण अभियान चलाए ताकि समाज नशा मुक्त हो सके।

 इस सभा में सवाई माधोपुर के जिला अध्यक्ष पृथ्वीराज,अग्रवाल समाज के ओ.पी.मंगल, कस्टम विभाग के ओ.पी.मीणा,देवी सिंह मीणा, राम चरण पहाड़ी,कमल सरपंच, साक्षी संस्थान की अध्यक्ष सरूपी देवी, रामस्वरूप,केशुराम पटेल, विशंभर शर्मा,अबरार काजी,कुंजीलाल, राजेंद्र नगरबाड़,पृथ्वी पटेल,रामस्वरूप, रामधन पटेल,प्यारा सिंह, यादराम डीलर,भादर पटेल आदि ने भाग लिया।

 महापंचायत सभा में पुलिस अधीक्षक श्योराजमल, सदर थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह,श्री महावीरजी थाना प्रभारी देवेंद्र शर्मा,हिंडौन कोतवाली प्रभारी प्रभाती लाल सहित अनेक लोग उपस्थित थे।०००




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें