मंगलवार, 12 नवंबर 2019

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश


12 नवंबर 2019.राजनीतिक उथल-पुथल के बीच मोदी कैबिनेट ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश पर मुहर लगा दी है। सूत्रों के मुताबिक मोदी कैबिनेट में महाराष्ट्र के राज्यपाल की उस सिफारिश को मंजूरी दे दी है जिसमें उन्होंने राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील यात्रा पर रवाना होने से पहले कैबिनेट की बैठक की और महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन पर मुहर लगाई। इसी बीच शिवसेना महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की खबर से भड़क गई। शिवसेना ने कहा कि राज्यपाल ने भाजपा को 48 घंटे दिए जबकि हमें 24। वहीं शिवसेना सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में है। उद्धव ठाकरे ने कपिल सिब्बल से इस संबंधी बात भी की। दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी राज्यपाल की सिफारिस पर सवाल उठाए और कहा कि वे इतनी जल्दी में क्यों हैं।

कांग्रेस ने अभी तक शिवसेना के साथ सरकार बनाने को लेकर अपने पत्ते नहीं खोले हैं। महाराष्ट्र में हां और ना के फेर में सरकार बनने का फैसला अधर में लटका हुआ है। मुख्यमंत्री पद के लिए भाजपा से किनारा करने वाली शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने से फिलहाल चूक गई। शिवसेना सोमवार को राज्यपाल के दिए तय समय सीमा से पहले कांग्रेस और राकांपा का समर्थन पत्र हासिल नहीं कर सकी।

शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे व आदित्य ठाकरे ने राज्यपाल से 2 दिन का समय मांगा लेकिन राज्यपाल ने समय देने से इंकार कर दिया। वहीं राज्यपाल ने राकांपा को न्यौता देकर मंगलवार रात 8 बजे तक बहुमत संख्या दिखाने का समय दिया। इस पर राकांपा प्रमुख शरद पवार ने राज्यपाल से मुलाकात कर कहा कि हम सहयोगी से बात कर जवाब देंगे। वहीं अगर एनसीपी 24 घंटे में समर्थन नहीं जुटा पाती है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन के आसार बढ़ सकते हैं।


भाजपा का पालिका बोर्ड बनाने वास्ते सांसद निहालचंद मेघवाल ने यह भाषण दिया.



* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 11नवंबर 2019.

सूरतगढ़ के विकास में धन की कोई कमी नहीं रहेगी बजट लाएंगे और विकास कार्यों में लगाएंगे।आप भारतीय जनता पार्टी का बोर्ड बनाएं। ईमानदार और स्वच्छ प्रशासन देने के लिए भारतीय जनता पार्टी का बोर्ड बनना बहुत जरूरी है।आप लोगों के सहयोग से आप लोगों के वोट से भाजपा का बोर्ड बनेगा। आपसे आग्रह करने आया हूं कि आप अपना अपने परिवार का वोट अपने मित्रों का वोट भारतीय जनता पार्टी को दिलवाएं। 

सांसद निहालचंद मेघवाल ने वार्ड नंबर 33 में भारतीय जनता पार्टी के पार्षद प्रत्याशी रेवंत राम मेघवाल के कार्यालय के उद्घाटन पर यह बयान दिया। सांसद निहालचंद ने भारतीय जनता पार्टी के कुछ अन्य प्रत्याशियों के भी चुनाव कार्यालयों का उद्घाटन करते हुए ऐसे भाषण दिए।

उनके साथ विधायक रामप्रताप कासनिया ने भी भाजपा बोर्ड बनाने की वकालत की। 

*******





सूरतगढ़ को भ्रष्टाचार मुक्त भाजपा का बोर्ड देंगे -विधायक रामप्रताप कासनिया

*करणी दान सिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 11 नवंबर 2019.

 विधायक रामप्रताप कासनिया ने खुली घोषणा की है कि नगर पालिका में भ्रष्टाचार मुक्त भारतीय जनता पार्टी का बोर्ड स्थापित किया जाएगा। पार्षदों की ठेकेदारी व्यवस्था चलने नहीं दी जाएगी।

 

कासनिया ने यह घोषणा वार्ड नंबर 33 में भाजपा प्रत्याशी रेंवत राम मेघवाल के चुनाव कार्यालय का उद्घाटन करते हुए कहा।

यहां पर सांसद निहालचंद मेघवाल बाबू सिंह खींची आदि ने भी अपने वक्तव्य किए।



********


सोमवार, 11 नवंबर 2019

सूरतगढ़ में कहां होगी-भाजपा कांग्रेस में सीधी व तिकोनी टक्करें. * करणीदानसिंह राजपूत*


नगरपालिका सूरतगढ़ के 45 वार्डों के चुनावों मे कुछ में भाजपा कांग्रेस की सीधी टक्कर है तो कहीं तिकोनी टक्करें हैं।
1. कुल दोः
रामकुमार (भाजपा)सलीम कुरैशी (कांग्रेस) सीधी टक्कर.
2.कुल चार ः
मोहम्मद फारुख( कांग्रेस) विनोद कुमार सारस्वत ( भाजपा) रतनलाल पारीक ( भाकपा) सुभाषचंद्र ( निर्दलीय)
3. कुल चार
कल्पना( कांग्रेस) चन्द्रकान्ता( भाजपा) प्रकाश कौर व सीमा (  निर्दलीय)
4.कुल तीनः
बलवीन्द्र सिंह (भाजपा)भागीरथ (कांग्रेस)सुभाषचंद्र(निर्दलीय)
5. कुल तीनः
अनिता कंवर (भाजपा)दलीप(कांग्रेस)अश्वनी कुमार स्वामी (निर्दलीय)
6.कुल दोः
मंजुदेवी (कांग्रेस)मोहन कंवर (भाजपा) सीधी टक्कर
7.कुल तीन ः
मुन्नी देवी (भाजपा) लिछमादेवी (कांग्रेस)सुंदर देवी (निर्दलीय)
8.कुल दो ः
लीलाधर (भाजपा) सुरेश कुमार बिश्नोई उर्फ भाला (कांग्रेस) सीधी टक्कर.
9.कुल पांच ः
गीता देवी (कांग्रेस) हंसराज स्वामी (भाजपा)आत्माराम कर्मचंद्र भवानी (  निर्दलीय).
10.कुल पांच ः
दुर्गा दत्त (भाजपा) रामेश्वरी देवी (कांग्रेस) कौशल्या देवी नितिन कुमार महावीर प्रसाद( निर्दलीय)
11. कुल चार ः
मधु (भाजपा) मोहनीदेवी (माकपा)शबनम बानो (कांग्रेस) सुनीता (निर्दलीय)
12. कुल चार ः
दलीप कुमार (भाजपा) बीना देवी (कांग्रेस)मदन व सुरेश दोनों (निर्दलीय).
13.कुल तीनः
कमला (कांग्रेस)सरला (भाजपा) सविता (निर्दलीय)
14.कुल छहः
बरफी देवी (कांग्रेस) पूनम (भाजपा) प्रियंका कल्याणा (बसपा) बाईसा राजकुमारी सुनीता (निर्दलीय)
15.कुल तीन ः
नरेशदेवी (भाजपा) रामेश्वरी देवी गोदारा (कांग्रेस) शकुंतला (निर्दलीय)
16. कुल चारः
जसराम (कांग्रेस) प्रेम सिंह (भाजपा)मुकेश (बसपा)नगेंद्र सिंह सुरेश कुमार (निर्दलीय).
17.कुल चार ः
वेदप्रकाश वर्मा (कांग्रेस) सुरजीत सिंह (भाजपा)अजयकुमार  व महेंद्र गोदारा (निर्दलीय)
18. कुल छहः
अमनदीप सिंह किंगरा (भाजपा) लखविंदर सिंह (कांग्रेस)खैरुना, पवनकुमार मिश्र, मोहित,सतनाम (निर्दलीय)
19.कुल चार ः
जगदीश मेघवाल (भाजपा) संतोष मेघवाल (कांग्रेस) गोपीराम व माया (निर्दलीय)
20. कुल पांच ः
महेश (भाजपा) शंकरलाल (कांग्रेस) देशराज,विक्रम,राजेश कुमार( निर्दलीय.)
21.कुल तीन ः
विजया गोदारा (भाजपा) कलावती देवी छींपा व मन्नुदेवी ( निर्दलीय).
22. कुल पांच ः
लाधुराम स्वामी (कांग्रेस) संतोष गिरी (भाजपा) किशन लाल स्वामी ,ताराचंद लेखराम ( निर्दलीय)
23.कुल सातः
लक्ष्मण शर्मा (माकपा) भारतभूषण उपाध्याय उर्फ भरु (कांग्रेस)श्री कांत सारस्वत (भाजपा) कुलदीप सिंह राठौड़, पवनकुमार, सावित्री स्वामी,हरीश कुमार (निर्दलीय)।
24.कुल दोः
चरणजीत सिंह टंडन (भाजपा) पुष्पेन्द्र (कांग्रेस) सीधी टक्कर.
25.कुल सातः
विनय कवातड़ा (कांग्रेस) संजय अग्रवाल (भाजपा) नरेन्द्र कुमार, पार्थ सारथी शर्मा, विकास दीप गाबा,संजीव कुमार शर्मा, सुनील कुमार(निर्दलीय)
26.कुल पांच ः
अंकुर (भाजपा) ओमप्रकाश कालवा (कांग्रेस)आनंद कुमार, जवाहर लाल छींपा,महेंद्र( निर्दलीय).
27.कुल दोः
तुलसी देवी (कांग्रेस) सर्वजीत कौर (भाजपा) सीधी टक्कर.
28.कुल पांच ः
पूजा गाबा (भाजपा) रमा शर्मा (कांग्रेस) परमेश्वरी देवी, पुष्पा स्वामी, विनोदकंवर( निर्दलीय)
29.कुल पांचः
कलावती देवी (कांग्रेस) बिरमा देवी तावणिया (भाजपा)जयश्री उपाध्याय, प्रमिला कुमारी, ममता एम शर्मा( निर्दलीय).
30.कुल चार ः
मदनलाल ओझा (माकपा) शिवशंकर सोमानी (भाजपा) सुशील  धानुका (कांग्रेस) दुर्गा देवी ( निर्दलीय).
31.कुल चार ः
अशोक कुमार आसेरी (भाजपा) बसंत कुमार बोहरा (कांग्रेस) मुरलीधर पारीक,मुकेश सिखवाल( निर्दलीय).
32.कुल नौः
ओमप्रकाश अठवाल (भाजपा) वरीन्दरसिंह (कांग्रेस) विष्णु (बसपा) आशुतोष, इकबाल खान जोगेंद्र देवी, नौरंग सिंह परमजीत सिंह व सुरेश कौल(निर्दलीय)
33. कुल पांच ः
कृष्णकुमार (कांग्रेस) रेंवतराम मेघवाल (भाजपा)संदीप (बसपा) रणवीर, विमला( निर्दलीय)
34.कुल तीन ः
राजाराम बिनावरा (कांग्रेस) राजीव (भाजपा) जीतू वर्मा
(निर्दलीय.)
35.कुल तीनः
निर्मलकौर (भाजपा) मदनलाल चौधरी (कांग्रेस) रविकांत (निर्दलीय)
36.कुल चार ः
तारा देवी (भाजपा) मोनिका (कांग्रेस) उषा व सुमन कौर (निर्दलीय)
37. कुल तीनः
परसराम भाटिया (कांग्रेस) राधेश्याम खटीक (भाजपा)हर्षदेव (निर्दलीय)
38. कुल चार ः
माया देवी सांखला (कांग्रेस) यासमीन सिद्दकी (भाजपा) ममता आहुजा व संतोष ( निर्दलीय)
39.कुल पांच ः
हरिप्रसाद (भाजपा)श्री भगवान (कांग्रेस) चेतनराम सतपाल सुरेंद्र कुमार (निर्दलीय)
40.कुल तीन ः
कमला देवी (कांग्रेस) पुष्पा देवी (भाजपा) प्रभजोत सिंह (निर्दलीय)
41.कुल चार ः
जयश्री (भाजपा) संदीप कुमार (कांग्रेस) अहिंसा देवी व संजय ( निर्दलीय).
42.कुल दोः
सुभाष चन्द्र (भाजपा) सुनील सैनी (निर्दलीय)
43.कुल छहः
घनश्याम दास (कांग्रेस) शिवकुमार (भाजपा)डोगरदास, परमजीत सिंह बेदी,मुमताज अली, सुमित कुमार (निर्दलीय).
44.कुल तीन ः
ममता सुखीजा (भाजपा)रोशनी बानो (कांग्रेस)परमिंदर कौर बेदी (निर्दलीय).
45.कुल चार ः
गोपीराम (भाजपा) रोहिताश कुमार (कांग्रेस) रामचंद, सोनू ,सोनूकुमार (निर्दलीय).
*****
अधिकृत सूची विभाग की ही मानी जाए.
****



शनिवार, 9 नवंबर 2019

गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाई-जेड+ सुरक्षा दी गई


नई दिल्ली: 9-11-2019.
भारत सरकार ने गांधी परिवार के सदस्यों सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा की सुरक्षा में लगे विशेष सुरक्षा दल (एसपीजी) को हटाने का निर्णय लिया है और अब उन्हें केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के कमांडों की निगरानी में जैड प्लस सुरक्षा दी जाएगी।
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने आज यहां बताया कि गांधी परिवार के सदस्यों की सुरक्षा व्यवस्था और उनकी जान को खतरे की समीक्षा के आधार पर यह निर्णय लिया गया है। सुरक्षा और खुफिया एजेन्सियों से भी इस बारे में जानकारी हासिल की गयी है। समीक्षा में इस बात पर भी गौर किया गया कि गांधी परिवार को अभी किसी तरह का सीधा खतरा नहीं है। उन्होंने बताया कि अब गांधी परिवार के सदस्यों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआरपीएफ के कमांडो दस्ते को सौंपी जाएगी और उन्हें जैड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी।    
उल्लेखनीय है कि इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की प्रधानमंत्री रहते हुए हत्या की गयी थी। एसपीजी का गठन प्रधानमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्रियों और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए विशेष बल के तौर पर किया गया था। एसपीजी में लगभग 3000 अधिकारी हैं। इस निर्णय के लागू होने के बाद एसपीजी के पास संभवत केवल प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी बच जाएगी। गृह मंत्रालय ने हाल ही में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा वापस लेकर उन्हें जैड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी थी।
जानिए क्या होती है Z+ और SPG सुरक्षा
SPG सुरक्षा
अक्तूबर 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद 1985 में एसपीजी की स्थापना की गई थी। यह सुरक्षा प्रधानमंत्री, पूर्व और उनके परिवार को दिया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गांधी परिवार को एसपीजी की सुरक्षा प्राप्त है। यह सुरक्षा का सबसे ऊंचा स्तर होता है। इसमें तैनात कमांडो के पास अत्याधुनिक हथियार और संचार उपकरण होते हैं।
Z+ कैटेगरी सिक्योरिटी
Z+ कैटगरी की सुरक्षा देश की सबसे बड़ी सुरक्षा मानी जाती है। इसके तहत 36 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं। इसमें एनएसजी, एसपीजी कमांडो, आईटीबीपी और सीआरपीएफ के जवान शामिल होते हैं। इस सुरक्षा में पहले घेरे की जिम्मेदारी एनएसजी और दूसरे घेरे का जिम्मा एसपीजी कमांडो के पास होता है। देश में 15 लोगों को जेड प्लस कैटगरी की सुरक्षा दी गई है।०००

संपूर्ण देश में सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ की गई-राम मंदिर फैसले बाबत


नई दिल्ली 9-11-2019.
सुप्रीम कोर्ट 9-11-2019 को राम जन्मभूमि/बाबरी मस्जिद  विवाद का निर्णय करेगा।
फैसले के मद्देनजर अयोध्या समेत पूरे देश में सुरक्षा व्यवस्था की गई चाक चौबंद।
जयपुर में हाई अलर्ट किया गया है। सुबह से धारा 144 लगेगी।
पंजाब और हरियाणा में किया हाई अलर्ट घोषित।
हरियाणा के मेवात और नुह में सुरक्षा बढ़ाई।
9 से 11 नवंबर तक यूपी में सभी स्कूल कॉलेज रहेंगे बंद।
सुप्रीम कोर्ट की सुरक्षा बढ़ाई गई।
मध्य प्रदेश में भी कल सभी स्कूल बंद रहेंगे।
चीफ जस्टिस समेत पांचों जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई।
प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर सौहार्द व शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की।
देश के प्रमुख स्थानों पर लगाया गया है अतिरिक्त पुलिस जाब्ता;
*सोशल मीडिया और खासतौर पर व्हाट्सएप ग्रुपों पर रहेगी सरकार की पैनी नजर, किसी भी तरह की अफवाह या भड़काऊ बात पोस्ट करने पर हो सकती है जेल।
( मीडिया रिपोर्ट्स)

अयोध्या राम मंदिर मामले पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय 9-11-2019 को.


नई दिल्ली, 8 November, 2019

अयोध्या विवाद मामले में आज यानी शनिवार को सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाएगा. बता दें कि अयोध्या मामले के फैसले के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को सतर्क रहने की हिदायत दी है।

अयोध्या विवाद मामले में शनिवार को सुबह 10:30 बजे सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाएगा. बता दें कि अयोध्या मामले के फैसले के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को सतर्क रहने की हिदायत दी है. गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को एक सामान्य सलाह दी गई है.

अयोध्या में धारा 144 लागू है. साथ ही सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. अयोध्या में अर्धसैनिक बलों के 4000 जवानों को तैनात किया गया है. अधिकारी ने बताया कि राज्यों को सभी संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त सुरक्षाकर्मी तैनात रखने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि देश में कहीं भी कोई अप्रिय घटना न हो.

ड्रोन से अयोध्या शहर की निगरानी की जा रही है. अयोध्या को लेकर स्थानीय प्रशासन ने कई पीस कमेटियां बनाई हैं. इन कमेटियों में शामिल लोग जिले के गांवों में जाकर लोगों से शांति और प्रेम बनाए रखने की अपील कर रहे हैं. बाहर के जिलों में दर्जनों की संख्या में अस्थायी जेल परिसरों का निर्माण किया गया है.


अधिकारी ने कहा कि मंत्रालय ने कानून व्यवस्था बनाए रखने में राज्य सरकार की सहायता के लिए उत्तर प्रदेश में अर्धसैनिक बलों की 40 कंपनियों (प्रत्येक में लगभग 100 कर्मी) को भी उतारा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अपने सभी मंत्रियों को अयोध्या फैसले के संबंध में अनावश्यक बयान देने से बचने के लिए भी कहा था.

गृह मंत्रालय ने बुधवार को योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार को अयोध्या में सभी सुरक्षा तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए आगाह किया था.

40 दिन तक चली सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने शुक्रवार को उप्र के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी और प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह से राज्य में सुरक्षा बंदोबस्तों और कानून व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की थी.

चीफ जस्टिस गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संविधान पीठ ने, अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित भूमि 3 पक्षकारों-सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला विराजमान के बीच बराबर-बराबर बांटने के इलाहाबाद हाई कोर्ट के सितंबर, 2010 के फैसले के खिलाफ दायर अपीलों पर 6 अगस्त से रोजाना 40 दिन तक सुनवाई की थी.

संविधान पीठ ने इस प्रकरण पर छह अगस्त से नियमित सुनवाई शुरू करने से पहले मध्यस्थता के माध्यम से इस विवाद का सर्वमान्य समाधान खोजने का प्रयास किया था. न्यायालय ने इसके लिए शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त् न्यायाधीश एफएमआई कलीफुल्ला की अध्यक्षता में 3 सदस्यीय मध्यस्थता समिति भी गठित की थी लेकिन उसे इसमें सफलता नहीं मिली. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 6 अगस्त से रोजाना सुनवाई करने का निर्णय किया.

1950 में दायर हुआ था पहला मुकदमा

अयोध्या मामले को लेकर शुरूआत में निचली अदालत में 5 वाद दायर किए गए थे. पहला मुकदमा ‘राम लला’ के भक्त गोपाल सिंह विशारद ने 1950 में दायर किया था. गोपाल सिंह विशारद ने विवादित स्थल पर हिन्दुओं के पूजा अर्चना का अधिकार लागू करने की मांग की थी.

उसी साल, परमहंस रामचन्द्र दास ने भी पूजा अर्चना जारी रखने और विवादित ढांचे के मध्य गुंबद के नीचे ही मूर्तियां रखी रहने के लिए मुकदमा दायर किया था. हालांकि, यह मुकदमा बाद में वापस ले लिया गया. इसके बाद निर्मोही अखाड़े ने 1959 में 2.77 एकड़ विवादित स्थल के प्रबंधन और शेबैती अधिकार के लिए निचली अदालत में वाद दायर किया.

इसके दो साल बाद 1961 में उप्र सुन्नी वक्फ बोर्ड भी अदालत में पहुंचा गया और उसने विवादित संपत्ति पर अपना मालिकाना हक होने का दावा किया. यही नहीं, 'राम लला विराजमान' की ओर से इलाहाबाद हाई कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश देवकी नंदन अग्रवाल और जन्म भूमि ने 1989 में मुकदमा दायर कर समूची संपत्ति पर अपना दावा किया और कहा कि इस भूमि का स्वरूप देवता का और एक ‘न्यायिक व्यक्ति’ जैसा है.


आईएएनएस के मुताबिक एक उच्च पदस्थ सूत्र ने बताया कि अयोध्या में एक सार्वजनिक संबोधन प्रणाली (पब्लिक एड्रेस सिस्टम) को भी संचालित करने को कहा गया है.

ऐसी आशंका है कि असामाजिक तत्व लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़का सकते हैं. इसलिए परिपत्र में उप्र सरकार को राज्य में अत्यधिक संवेदनशील क्षेत्रों पर नजर रखने और विशिष्ट स्थानों पर पुलिस बल तैनात करने के निर्देश भी दिए हैं.

 फैसले के मद्देनजर लखनऊ महोत्सव टला

अयोध्या विवाद मामले में फैसले के मद्देनजर हर साल 25 नवंबर से 5 दिसंबर तक आयोजित होने वाले वार्षिक लखनऊ महोत्सव को जनवरी तक के लिए टाल दिया गया है. सूत्रों ने कहा कि ऐसा अयोध्या विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय के आने वाले फैसले को ध्यान में रखते हुए किया गया है. महोत्सव में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमें शीर्ष क्षेत्रीय और बॉलीवुड कलाकार पर परफॉर्म करते हैं.

पढ़ें: अयोध्या पर फैसले से पहले रेलवे अलर्ट, RPF की छुट्टियां रद्द, अतिरिक्त फोर्स की तैनाती

मुस्लिमों ने मांगी अमन चैन की दुआ, कहा- अफवाहों पर ध्यान न दें

अयोध्या विवाद पर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर दोनों धर्मो के लोग अमन चैन बरकार रखने के लिए अपनी-अपनी तरफ से कोशिशें कर रहे हैं. इसी क्रम में शुक्रवार को प्रयागराज की बहादुरगंज की साबुनगढ़ मस्जिद में जुमे की नमाज में सैकड़ों नमाजियों ने अयोध्या विवाद का फैसला आने के बाद देश में शांति के लिए दुआ मांगी है.

इस दौरान साबुनगढ़ मस्जिद में मौजूद नमाजियों ने एक सुर में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले को तह-ए-दिल से स्वीकार करने की लोगों से अपील कर रहे हैं. साथ ही लोगों से यह भी कह रहे हैं कि किसी भी तरह की अफवाहों पर कतई ध्यान न दें।

मीडिया रिपोर्ट)

गुरुवार, 7 नवंबर 2019

सूरतगढ़ में चेयरमैन पद के भाजपा व कांग्रेस में संभावित नामों पर राजनीति

* करणी दान सिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 7 नवंबर 2019.

नगर पालिका सूरतगढ़ के  अनुसूचित जाति आरक्षित चेयरमैनपद  पर भारतीय जनता पार्टी और इंडियन नेशनल कांग्रेस में संभावित प्रत्याशियों की चर्चाएं गर्म हैं। 


शहर में यत्र तत्र चल रही चर्चा में भारतीय जनता पार्टी में अशोक आसेरी,पूर्व पार्षद जगदीश मेघवाल और पूर्व पार्षद बलविंद्र के नाम चर्चा में हैं। 

कांग्रेस पार्टी में ओमप्रकाश कालवा माया सांखला और परसराम भाटिया का नाम चर्चा में चल रहा है। कांग्रेस पार्टी में ओमप्रकाश कालवा राजनीति में पिछले काफी सालों से सक्रिय हैं। m.a. B.Ed शिक्षा प्राप्त कालवा वार्ड नंबर 26 से चुनाव मैदान में हैं।


परसराम भाटिया ब्लॉक अध्यक्ष हैं। पूर्व में अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ चुके हैं। माया सांखला पालिका के वर्तमान अधिशासी अधिकारी लालचंद सांखला की पत्नी हैं। (लालचंद सांखला को पत्नी के चुनाव में खड़े होने के कारण एसडीएम सादुलशहर के कार्यालय में लगाया गया है।)

****



राजस्थान में अयोध्या राम मंदिर फैसले से पूर्व हाई अलर्ट शुरू

जयपुर 7 नवंबर 2019.

राजस्थान पुलिस महानिदेशक ने सभी पुलिस अधीक्षकों व रेंज पुलिस महानिरीक्षकों को राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आने से पूर्व सुरक्षा व शांति कायम रखने के लिए विशेष निर्देश दिए हैं।

प्रत्येक थाना क्षेत्र में CLG मेंबर और प्रमुख लोगों के साथ  पुलिस अधिकारी मीटिंग करेंगे।

DGP ने मुख्यमंत्री से मीटिंग के बाद ये निर्देश दिए हैं। 

******



बड़ी खबर:श्रीगंगानगर-बान्द्रा टर्मिनस ट्रेन वाया जयपुर 9 नवंबर को शुरू होगी

** करणीदानसिंह राजपूत **

श्रीगंगानगर, 7 नवम्बर 2019.

श्रीगंगानगर से बान्द्रा टर्मिनस (वाया जयपुर)के लिये सीधी रेल सेवा 9 नवम्बर शनिवार से शुरू होगी। रेल मंत्रालय की ओर से इस गाड़ी को हरी झण्डी मिल चुकी है। जेडआरयूसीसी के पूर्व सदस्य  भीम शर्मा ने बताया कि रेलवे बोर्ड ने इसके लिये अधिसूचना जारी कर दी है। 

यह गाड़ी इलाका वासियों के लिये बहुउद्देश्यीय ट्रेन साबित होगी। श्रीगंगानगर से जयपुर जाने वालों  को तो राहत मिलेगी, साथ ही गुजरात के अहमदाबाद, बडौदा, सूरत के कपड़ा व्यापारियों को भी बड़ी राहत मिलेगी।

श्रीगंगानगर से जयपुर के लिये वाया  हनुमानगढ, नोहर, भादरा, सादुलपुर, चुरू, सीकर बहुप्रतीक्षित ट्रेन को शुरू किया जाना पिछले कई दिनों से प्रस्तावित था। इसके लिये रेल प्रशासन की ओर से तैयारियां की जा रही है। ट्रेन के लिये रैक श्रीगंगानगर पहुंच चुका है। इस ट्रेन से रेलयात्रियों को जयपुर जाने की सुविधा तो होगी ही साथ ही रेलवे द्वारा प्रस्तावित रूट के अनुसार श्रीगंगानगर से हनुमानगढ, नोहर, भादरा, सादुलपुर, चुरू, सीकर के यात्री आसलपुर जोबनेर, फुलेरा जंक्शन, नरेना, किशनगढ, अजमेर, ब्यावर, सोजत रोड़, सोमेसर, जवाई, रानी, फालना, जवाईबांध, मोरीबेरा, नैना, पिण्डवाड़ा, स्वरूपगंज, आबूरोड़, पालनपुर जंक्शन, छापी, सिद्धपुर, ऊंझा, मेहसाना जंक्शन, कलोल, साबरमती, अहमदाबाद जंक्शन, नदियाड़ जंक्शन, आणन्द जंक्शन, बडोदरा जंक्शन, भरूच जंक्शन, अंकलेश्वर जंक्शन, सूरतए नवसारी, वापी, डहाणु रोड़, बोरिवली व अंधेरी स्टेशन के लिये श्रीगंगानगर से सीधी यात्रा कर सकेगें। इस ट्रेन में श्रीगंगानगर से बान्द्रा टर्मिनल का सफर करीब-करीब 1610 किलोमीटर को होगा। श्रीगंगानगर से गाड़ी संख्या 19708 रात्रि प्रतिदिन 9.40 बजे रवाना होने के बाद अगले दिन प्रातः 8.30 बजे जयपुर पहुंचने के बाद वहां से 8.50 बजे रवाना होकर करीब 33 घंटे का सफर तय कर गाड़ी तीसरे दिन प्रातः 6.35 बजे बान्द्रा टर्मिनल पहुंचेगी। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 19707 बान्द्रा टर्मिनल से प्रतिदिन रात्रि 8.55 बजे रवाना होकर तीसरे दिन प्रातः 7.30 बजे श्रीगंगानगर पहुंचा करेगी। श्री गंगानगर जयपुर के मध्य यह ट्रेन सादुलपुर, हनुमानगढ़, टिब्बी, ऐलनाबाद, नोहर, भादरा, सादुलपुर, चूरू, फतेहपुर, लक्ष्मणगढ़, सीकर, रींगस, गोविंदगढ़, चैमू, डहर का बालाजी स्टेशन पर ठहराव करेगी।

...........







राम मंदिर पर फैसले से पहले सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी.अयोध्या में भारी सुरक्षा



लखनऊ, 7 नवंबर 2019.
अयोध्या राम मंदिर विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या प्रशासन पूरी तरह से चुस्त है। पंच कोसी परिक्रमा को लेकर अलग व्यवस्था की गई है। ड्रोन से अयोध्या शहर की निगरानी की जा रही है।
अयोध्या को लेकर स्थानीय प्रशासन ने कई शांति कमेटियां बनाई हैं। इन कमेटियों में शामिल लोग जिले के गांवों में जाकर लोगों से शांति और प्रेम बनाए रखने की अपील कर रहे हैं।
बाहर के जिलों में दर्जनों की संख्या में अस्थायी जेल परिसरों का निर्माण किया गया है.स्कूल और प्राइवेट बिल्डिंगों को अस्थायी जेल के लिए चिन्हित किया गया है।
अयोध्या के हर इलाके में फोर्स की तैनाती की गई है।
सभी राज्यों को सुरक्षा एडवाइजरी
गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के हवाले से खबर है कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या के फैसले को देखते हुए गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को एडवाइजरी भेजी है.. सभी राज्यों को फैसले को लेकर अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं।
सूत्रों के मुताबिक अतिरिक्त सुरक्षा के लिए गृह मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों की 40 कंपनियां भेजी है. इन 40 कंपनियों में 4000 पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान शामिल हैं.
कब आएगा फैसला
दूसरी ओर, अयोध्या में भूमि विवाद पर फैसले की तारीख नजदीक आ रही है. सुनवाई पूरी होने के बाद इस समय सभी पक्षों के वकीलों के दावों और सबूतों की जांच के साथ ही फैसला लिखा जा रहा है. इस बीच कोर्ट के गलियारों और आम लोगों के बीच यह चर्चा है कि फैसला किस तारीख को आ सकता है.
कुछ लोगों का कहना है कि अयोध्या पर फैसला शुक्रवार 8 नवंबर को ही आ जाएगा. फैसले का समय हो सकता है दोपहर साढ़े तीन बजे. जबकि कुछ अन्य लोगों का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की विशेष पीठ मंगलवार यानी 12 नवंबर के बाद इस मामले में फैसला सुनाएगी,यानि 13 से 16 नवंबर के बीच किसी भी दिन।
इन संभावित तारीखों में से 13 नवंबर या फिर 14 नवंबर को फैसला आने की संभावना जताई जा रही है. कोर्ट के कैलेंडर पर गौर करें तो कार्यदिवसों में सात और आठ नवंबर हैं. नौ, दस, ग्यारह और बारह नवंबर को छुट्टियां हैं. फिर कार्तिक पूर्णिमा के बाद कोर्ट 13, 14 और 15 नवंबर को ही खुलेगा. 16 नवंबर को शनिवार और 17 को रविवार है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई रविवार को रिटायर हो जाएंगे।
( मीडिया रिपोर्ट्स)



बुधवार, 6 नवंबर 2019

नामांकन निरस्त होना गंभीर मुद्दा:खामियां क्यों रह गई?

* करणी दान सिंह राजपूत *

राष्ट्रीय राजनीतिक दल इंडियन नेशनल कांग्रेस व भारतीय जनता पार्टी और इसके साथ ही बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशियों के नामांकन निरस्त होने का कोई भी कारण रहा हो मगर यह बहुत गंभीर स्थिति मानी जानी चाहिए। 

जब पार्षद प्रत्याशियों को नामांकन पत्र ही भरना नहीं आता हो या उनमें कमी रही है। तो मान करके चलें कि चूक हुई और लापरवाही भी रही।

 फार्म नामांकन भरा जाता है तो पार्टी के नेतागण और अधिवक्ता भी होता 

है। वे सभी भली-भांति जांच करते हैं और उसके बाद में वह फार्म नामांकन का निर्वाचन अधिकारी को प्रस्तुत किया जाता है। 

खारिज होने के कारणों का खबरों में अभी खुलासा तो नहीं हुआ है लेकिन हालात गंभीर है। 

यदि प्रोफॉर्मा बिल्कुल सही भरा हुआ है तो उसमें निश्चित रूप से कोई दस्तावेज कम रहे हैं या अन्य प्रस्तावक अनुमोदक आदि के अंदर कोई न कोई त्रुटि रही है।कोई तकनीकी से निरस्त हुए हैं। अभी केवल समाचार प्राप्त हुआ है।  कल तक समाचार पत्रों में इसका पूरा विवरण भी आ जाएगा लेकिन स्थिति को गंभीर माना जाना चाहिए। 

श्री गंगानगर जिले मुख्यालय पर नगर परिषद के चुनाव के लिए भरे गए नामांकन में इंडियन नेशनल कांग्रेस के तीन प्रत्याशियों के नामांकन और एक भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी का नामांकन और सूरतगढ़ में बहुजन समाज पार्टी के प्रमुख नेता का नामांकन निरस्त किए जाने की सूचना खबरों में है। ०००

*****





सूरतगढ़ जैतसर पीलीबंगा इलाके पर तूफानी कहर- ओले-बरखा,-गंगानगर हनुमानगढ जिलों में


सूरतगढ़ 6 नवंबर 2019.
आज अचानक अपरान्ह 4 बजे बादल बिजली और बरखा शुरू हुई जो कुछ इलाकों में कहर बन गई। जैतसर पीलीबंगा इलाके में ओले भी गिरे।हनुमान गढ में भी बरखा हुई है। रात सात बजे क ई स्थानों पर बरखा हो रही थी।
गुजरात के समुद्र तट पर पहुचने वाले तूफान'महा' का कहर शुरू हो गया।

^^^^



*****


सूरतगढ़ इलाके पर बादल गड़गड़ाहट बरखा 6-11-2019

सूरतगढ़ इलाके पर अपरान्ह चार बजे के करीब अचानक आए बादल और बरखा से हैरानी हुई। 



*******


मंगलवार, 5 नवंबर 2019

मौसमी बिमारियां-चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग सतर्क रहे-आयुर्वेद विभाग काढ़ा पिलाना करें - जिला कलक्टर

श्रीगंगानगर, 5 नवम्बर2019.

 जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि मौसमी बिमारियों को देखते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग एवं स्थानीय निकाय नियमित रूप से एंटी लार्वा का छिड़काव एवं फोगिंग का छिड़काव कराए।


 चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग एवं आयुर्वेद विभाग आमजन को सर्तक रहने व बचाव सावधानियां के बारे में बताएं। अगर किसी क्षेत्र विशेष में ज्यादा रोगी हो तो उस क्षेत्र पर अधिक ध्यान दिया जाये। फोगिंग छिड़काव में सैफ्टी टैंक के आसपास तथा पाईप के अंदर भी छिड़काव करने का सुझाव दिया गया। 

श्री नकाते मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाहाॅल में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होने आयुर्वेद विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि आम नागरिकों को बहुउपयोगी काढ़ा पिलाया जाये। रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड के अलावा ब्लाॅक स्तर पर भी एसडीएम की उपस्थिति में काढ़ा पिलाने की कार्यवाही प्रारम्भ की जाये। जिले के आयुर्वेद औषधालयों में सेवारत कार्मिक अपने-अपने क्षेत्र में काढा पिलाने का कार्य करेंगे।  

बैठक में एडीएम सर्तकता डाॅ. गुंजन सोनी, उपवन संरक्षक डाॅ. शरद बाबू, एसीईओ डाॅ. हरितिमा, पीएमओ डाॅ. के.एस.कामरा, सीएमएचओ डाॅ गिरधारी, अधीक्षण अभियंता पेयजल श्री बलराम शर्मा, अधीक्षण अभियंता सीएडी श्री गोपाल कृष्ण, विधुत विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री जे.एस.पन्नू, जिला परिवहन अधिकारी सुमन, उधोग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री हरीश मित्तल, जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी, अधीशाषी अभियंता श्री पवन कुमार, न्यास के अधीशाषी अभियंता श्री मंगत सेतिया सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

****************



सोमवार, 4 नवंबर 2019

सूरतगढ़ पालिका- भाजपा द्वारा 12 की दूसरी सूची जारी

* करणी दान सिंह राजपूत*

सूरतगढ़ 4 नवंबर 2019.

भारतीय जनता पार्टी की ओर से पहली सूची 32 प्रत्याशियों की जारी की गई और उसके ठीक थोड़ी देर बाद में ही दूसरी सूची 12 प्रत्याशियों की और जारी की गई है।

 कुल 45 वार्ड हैं।

*******


सूरतगढ़ पालिका:कांग्रेस द्वारा 39 की पहली सूची जारी:माया सांखला व परसराम भाटिया के नाम सहित


* करणीदानसिंह राजपूत *
सूरतगढ़ 4 नवंबर 2019.
नगर पालिका सूरतगढ़ के 45 वार्डों में से 39  वार्डों के प्रत्याशियों की पहली सूची कांग्रेस पार्टी की ओर से जारी की गई है इस सूची में अध्यक्ष पद के दावेदारों श्रीमती माया सांखला का नाम वार्ड 38 से और परसराम भाटिया का नाम वार्ड नं 37 से घोषित किया गया है। विदित रहे कि यहां अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। इस सूची पर भी विरोध है जो नामांकन के अंतिम दिन सामने आने की संभावना है ँ
1 salim
2 mohammad farukh
3 kalpana godara
4 Bhagirath Nayak
5 Dilip Swami
6 Manju Devi
7 Lichhma Devi Sansi
8 Sureah Bishnoi
9 Geeta Devi
10 Rameshwari Devi Ojha
11 Sabnam Banno
12 Beena Valmiki
13 Kamla Nayak
14 Barfi Devi
15 Parmeshwari Devi Godara
16 Badri Ram Marwal
17 Ved Verma
18 Lakhvinder Singh
19 Santosh Meghwal
20 Sankar Nayak
22 Ladhu Swami
23 Bharat Bhusan
24 Pushpander
25 Vinay Kwatra
27 Tulsi Sindhi
28 Rama Sharma
30 Sushil Dhanuka
31 Basant Bohara
32 Varindar Kaler
34 Raja Ram Binawara
35 Madan Beniwal
36 Monika Yadav
37 Paras Ram Bhatia
38 Maya Sankhla
39 Sri Bhagwaan
40 Kamla Beniwal
41 Sandeep Sani
43 Ghanshyam Ahuja
45 Rohitash Dhanka
*****





यह ब्लॉग खोजें