मंगलवार, 24 सितंबर 2019

1000 की आबादी वाले गांवों में ई-मित्र की सुविधा मिलेगी-2 अक्टूबर 2019 से शुरू


श्रीगंगानगर, 24 सितम्बर 2019.

आमजन को घर के पास विभिन्न सेवाएं उपलब्ध करवाने हेतु सरकार ने सहकारिता के माध्यम से ई-मित्र सेवा शुरू की है। बिजली, पानी, मोबाईल के बिल जमा करवाने से लेकर जन्म-मृत्यु, प्रमाण पत्र, मूल निवास, परिक्षाओं की फीस, विवाह प्रमाण पत्र बनवाना, रेवेन्यू कोर्ट मेनेजमैन्ट, रोजगार आवेदन जैसी लगभग 500 प्रकार की सेवाएं ई-मित्र केन्द्रों पर उपलब्ध है। इस संबंध में सहकारिता के सचिव श्री पवन के नीरज ने वीसी के माध्यम से आवश्यक निर्देश दिये तथा तत्काल ई-मित्र की सेवाएं प्रारम्भ करने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि एक हजार की आबादी वाले गांवों में ई-मित्र की सुविधाएं सहकारिता के माध्यम से दी जायेगी। 

राजस्थान सरकार के सहकारिता विभाग द्वारा राज्य की समस्त लगभग 6500 ग्राम सेवा सहकारी समितियों में ई-मित्र की सुविधा प्रारम्भ करने का निर्णय लिया है। इसके अंतर्गत राज्य के सभी गांवो-ढाणियों में यह सुविधा उपलब्ध हो जायेगी। श्रीगंगागर केन्द्रीय सहकारी बैंक की पदमपुर तहसील की 02 समितियों बींझबायला और फकीरवाली में पूर्व में ही यह सुविधा ग्रामीण क्षेत्र में उपलब्ध करवा रही है। बींझबायला ग्राम सेवा सहकारी समिति लगभग 5 वर्षों और फकीरवाली समिति 3 वर्षों से यह सुविधा समिति सदस्यों एवं अन्य कृषकों को दे रही है। पहले विभिन्न राजकीय कार्यों के लिये अलग-अलग कार्यालयों में जाना पड़ता था, जिससे समय खराब होता था और परेशानी भी होती थी। अब गांव-गांव तक सेवाएं घर के पास ही उपलब्ध है। 

सहकारिता के क्षेत्र में ई-मित्र सुविधा उपलब्ध होने से यह सुविधा गांव-गांव में घर के पास उपलब्ध हो गई है। राज्य सरकार द्वारा घोषित अल्पकालीन ऋण माफी योजना 2018 के और ऋण वितरण योजना 2019 के अंतर्गत भी ई-मित्र से सुविधा दी गई है। सहकारिता विभाग राजस्थान सरकार के निर्देशानुसार 2 अक्टूबर 2019 (गांधी जयंती) से जिले की समस्त ग्राम सेवा सहकारी समितियों में यह सुविधा प्रारम्भ हो जायेगी। वीवी में 2 अक्टूबर को विशेष सभाएं आयोजित करने तथा रक्तदान शिविर आयोजित करने के निर्देश दिये गये है। 

-----------

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें