शुक्रवार, 9 अगस्त 2019

श्रीगंगानगर से जयपुर के लिये नई रेल सेवा अगले माह संभवः- निहाल चंद सांसद

श्रीगंगानगर, 9 अगस्त 2019.

 सांसद श्री निहालचंद का प्रयास है कि इलाके की जनता को श्रीगंगानगर से वाया हनुमानगढ, सादुलपुर, चुरू, सीकर, जयपुर के लिये बहुप्रतिक्षित नई रेल सेवा अगले माह तक मिल जाये। वर्ष 2009 से अमान परिवर्तन के कार्य के चलते इस मार्ग पर लम्बे समय से जनता इस ट्रेन का इंतजार कर रही है। 

जेडआरयूसीसी के सदस्य श्री भीम शर्मा ने बताया कि इस संबंध में सांसद श्री निहालचंद लगातार दिल्ली व जयपुर में रेल अधिकारियों के साथ व्यक्तिगत मुलाकात व फोन पर संपर्क कर रहे है। रेलवे अधिकारियों ने आश्वस्त किया है कि अगले माह के प्रथम सप्ताह में जयपुर स्टेशन पर यार्ड रिमॉडलिंग का कार्य पूरा कर लिया जायेगा। उतर पश्चिम रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि जयपुर स्टेशन पर नई तकनीक युक्त सिंगनल प्रणाली तथा 2 अतिरिक्त प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाने एवं अन्य सुविधाओं के लिये यार्ड रि-मॉडलिंग का कार्य किया जा रहा है। इस माह 14 अगस्त 2019 तक प्री-नॉन इण्टरलॉिंकग व 15 अगस्त 2019 से 25 अगस्त 2019 तक नॉन इण्टरलॉकिंग कार्य किया जायेगा तथा इसके पश्चात् 3 सितम्बर 2019 तक पोस्ट इण्टरलॉकिंग कार्य किया जायेगा।

यार्ड रिमाडलिंग में उपलब्ध संसाधनों का उपयुक्त व अधिकतम उपयोग करने के उद्देश्य से यार्ड के वर्तमान ले-आउट में परिवर्तन कर परिचालन सुविधाओं का विस्तार करना है, जिससे ट्रेनों का सुगम परिचालन व समयपालनता सुनिश्चित कर यात्रियों को उत्कृष्ट रेल सुविधा प्राप्त हो सकें।

उन्होने बताया कि जयपुर स्टेशन पर अधिकाधिक सुविधायें प्रदान करने के लिए यार्ड रि-मॉडलिंग कार्य किया जा रहा है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण कार्य सीकर-रींगस से आ रही नई लाइन को अन्य सभी मौजूदा लाइनों से जोड़ने का कार्य किया जायेगा। इस कार्य को करने के लिये क्रॉस ओवर, सिंगनल सिस्टम, पाइन्टस इत्यादि के माध्यम से आपस में जोड़ा जायेगा। जयपुर स्टेशन पर यार्ड रि-मॉडलिंग से 2 अतिरिक्त प्लेटफॉर्म सभी लाइनों से जुड़ जायेगे तथा जयपुर स्टेशन पर वर्तमान के 5 से बढकर कुल 7 प्लेटफॉर्म उपलब्ध हो जायेगें। सांसद श्री निहालचंद का प्रयास है कि सितम्बर माह में ही श्रीगंगानगर से जयपुर के लिये नई रेल सेवा की शुरूआत हो जाये। 

-----------

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें