गुरुवार, 22 अगस्त 2019

पालीवाला की रात्रि चौपाल- प्रभारी सचिव व जिला कलक्टर ने सुनी समस्याएं

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 22 अगस्त 2019.

प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पालीवाला में रात्रि चौपाल में ग्रामीणों की समस्याओं को सुना तथा मौके पर ही अधिकारियों को समाधान व राहत के निर्देश दिये। 

जिला कलक्टर श्री नकाते ने कहा कि रात्रि चौपाल का उद्देश्य जिला स्तरीय व ब्लॉक स्तरीय अधिकारी गांव में पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याओं को जानना तथा उसका उचित समाधान करना है। सामुदायिक समस्याओं के अलावा व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं का लाभ भी पात्र नागरिकों को मौके पर ही दिया जाता है। जिन ग्रामीणों को प्रार्थना पत्र लिखना नही आता, उनके लिये स्टॉल लगाकर प्रार्थना पत्र लिखने की व्यवस्था भी रात्रि चौपाल में की जाती है। प्राप्त प्रार्थना पत्रों पर संबंधित विभाग की टिप्पणी ली जाती है। तत्पश्चात समस्या का उचित समाधान किया जाता है। 

रात्रि चौपाल में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत 11 नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ मौके पर दिया गया। जिला कलक्टर ने जनसुनवाई में ये पाया कि प्रार्थी बहुत गरीब तथा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ लेने के हकदार है। इस प्रकार मौके पर ही स्वीकृति जारी की गई तथा 4 नागरिकों के प्रार्थना पत्र रसद विभाग द्वारा आवश्यक कार्यवाही के बाद स्वीकृत किये जायेगें। रात्रि चौपाल में विधुत आपूर्ति में सुधार का प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक संसाधन लगाकर आगामी 30 दिवस में विद्युत तंत्र में सुधार के निर्देश दिये। एक किसान ने आरक्षित श्रेणी में कृषि विद्युत कनेक्शन की मांग की। किसान को बताया गया कि अब तक प्राथमिकता सूची में 82 नम्बर तक किसानों को विद्युत कनेक्शन दे दिये गये है तथा आपका सूची में 99 नम्बर है। इस प्रकार लगभग एक माह में विद्युत कनेक्शन दिया जायेगा। गांव पालीवाला में घरों के उपर से गुजर रही विद्युत लाईन हटाने का प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ। जिला कलक्टर ने कहा कि विद्युत विभाग नियमानुसार उपभोक्ताओं से 50 प्रतिशत राशि जमा करवाकर विद्युत लाईन स्थानांतरित करें। 

रात्रि चौपाल में 17 एसटीबी के किसानों ने बताया कि पक्का खाला की टेल पर 8 मुरब्बा कच्चा खाला है, जिसे पक्का किया जाये। कच्चे खाले से पूर्व 5 मुरब्बा खाला पक्का बना हुआ है। जिला कलक्टर ने सिंचित क्षेत्र विकास विभाग को आवश्यक कार्यवाही करने के साथ-साथ नरेगा योजना में भी खाले का पक्का करने का प्रस्ताव ले लें, जिससे जो खाले छोटे-छोटे टुकड़ों में कच्चे है, उन्हें पक्का किया जा सकता है। रात्रि चौपाल में सरस्वती देवी ने श्रमिक पंजीयन योजना में शुभ शक्ति योजना का लाभ नही मिलने का प्रार्थना पत्र दिया। जिला कलक्टर ने श्रम विभाग के अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। रात्रि चौपाल में पेंशन तथा राजस्व से संबंधित प्रकरण भी प्राप्त हुए, जिनका समाधान किया गया। 

रात्रि चौपाल में कृषि विभाग द्वारा प्रधानमंत्री किसान समृद्धि योजना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि खरीफ फसल में नरमा, कपास, ग्वार की फसलें अच्छी स्थिति में है। अगर फसलों में कही रोग नजर आये तो नजदीक के कृषि अधिकारी से संपर्क करें। सहकारी विभाग द्वारा बताया गया कि किसानों को ऋण लेने के लिये ऑनलाईन आवेदन करना होगा। पालीवाला के अब तक 217 किसानों ने आवेदन किया है। उधान विभाग द्वारा बागवानी पर दिये जाने वाले अनुदान, ग्रीन हाउस, खजूर की खेती तथा सोलर पैनल के अनुदान की जानकारी दी गई। रसद विभाग द्वारा बताया गया कि पालीवाला में बीपीएल व अन्तोदय के 237 परिवारों को तथा एपीएल के 412 परिवारों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ मिल रहा है। रात्रि चौपाल में नवोदय विद्यालय सूरतगढ में प्रवेश की जानकारी, शिक्षा विभाग की योजनाएं, समाज कल्याण विभाग की विभिन्न विभाग की योजनाओं की जानकारी दी गई। 

पेयजल परियोजनाओं का किया निरीक्षण

भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी एवं जिले के प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पालीवाला में रात्रि चौपाल से पूर्व गांव में संचालित पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया। उन्होंने पेयजल परियोजना की क्षमता तथा पेयजल कनेक्शन की जानकारी ली। पेयजल विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल आपूर्ति की जाये तथा डिग्गियों की समय-समय पर सफाई के साथ-साथ फिल्टर चालू हालत में होने चाहिए। 

रात्रि चौपाल में अतिरिक्त जिला कलक्टर सर्तकता श्री राजवीर सिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु श्री मोहम्मद जुनेद, उपवन संरक्षक श्री प्योंग शशि, एसडीएम सूरतगढ श्री रामावतार कुमावत, जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी, उपनिदेशक कृषि श्री जी.आर.मटोरिया, सहायक निदेशक उधान प्रीति गर्ग, उपरजिस्ट्रार श्री दीपक कुक्कड़, अधीक्षण अभियंता श्री सुशील बिश्नोई, अधीक्षण अभियंता विद्युत श्री के.के.कस्वा, अधीक्षण अभियंता पेयजल श्री बलराम शर्मा, प्रर्वतक अधिकारी श्री सुरेश कुमार, सरपंच भागीरथ सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 

---------


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें